विज्ञापन
विज्ञापन

पांच चिताएं एक साथ जलती देख नम हुईं आंखें

Sant kabir nagar Updated Wed, 12 Dec 2012 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
बघौली/संतकबीरनगर। सड़क हादसे में मरने वाले चालक समेत पांचों बारातियों का अंतिम संस्कार मंगलवार को बस्ती स्थित मनोरमा नदी के अमहट घाट पर संपन्न हुआ। एक साथ इतनी चिताएं जलती देख वहां मौजूद सभी लोगों की आंखों से आंसू छलक गए। उधर, रसहरा उर्फ दशहरा और गौरापार गांव में आज भी माहौल गमगीन रहा।
विज्ञापन
कोतवाली खलीलाबाद क्षेत्र के रसहरा उर्फ दशहरा गांव निवासी दुर्विजय राय, पंकज राय, परमात्मा पाठक, इसराम मौर्य रविवार रात एक सड़क हादसा होने से असमय काल के गाल में समा गए। गौरापार गांव निवासी चालक सदानंद यादव की भी मौत हो गई थी। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शवों को उनके परिजनों को सौंप दिया। बस्ती के अमहट घाट पर पांच चिताएं एक साथ जलता देख वहां से गुजरने वाले राहगीर भी सहम गए। दाह संस्कार में गए लोगों का कलेजा दहल गया और उनके आंखों से बरबस आंसू छलक उठे। उधर, रसहरा और गौरापार गांव में मातम छाया रहा। मृतक परिजनों के घर का चूल्हा नहीं जला। बडे़-बुजुर्गों को बिलखता देखकर मासूम बच्चों के चेहरे उदास थे। मासूमों को भी पता था कि उनके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। मृतक परिजनों के घर पर आने वाले उन्हें ढांढस बंधा रहे थे। मरने वालों की पत्नियों का रो-रो कर बुरा हाल था और अन्य परिजन भी गमगीन थे। दोनों गांव में आज भी सन्नाटा पसरा रहा। न कोई जोश था और न कोई उमंग। सभी उदास थे।


घटना की कहानी, घायलों की जुबानी
बघौली/संतकबीरनगर। हादसे में घायल हुए युवकों ने घटना की वजह बताई कि शराब और वाहन की तेज स्पीड के चलते दुर्घटना हुई। रसहरा उर्फ दशहरा गांव निवासी घायल सुनील गुप्ता का कहना है कि वह अपने साथी राम प्रकाश चौरसिया के साथ बाइक से बारात गया था। नंदौर के पास उसकी बाइक खराब हो गई। गाड़ी ठीक कराने के लिए वह दुर्गजोत रोड की तरफ गया। जहां उसे जीप में सवार कुछ बाराती मिल गए। जीप में सवार उसके गांव के संतोष गुप्ता ने उसे पहचान लिया और उसकी बाइक को एक दुकान पर वहीं रखवा दिया। उसे और राम प्रकाश को जीप में बैठा लिया। नंदौर में कुछ बारातियों ने और ड्राईवर ने शराब पी। ड्राईवर 100 से अधिक की स्पीड में गाड़ी चला रहा था। इसी बीच खराब सड़क होने के कारण जीप ने उछाल मारी और ड्राईवर जीप से संतुलन खो बैठा और वाहन लेकर पेड़ से टकरा गया। संयोग अच्छा था कि वह और उसका साथी राम प्रकाश पिछली सीट पर बैठे हुए थे। जिससे उन्हें सिर में चोट लगी। भगवान का शुक्र है कि जिंदगी बच गई। उसका दर्द था कि मई 2013 में उसकी शादी होनी है। घटना के बाद रिश्तेदार भी अब उसे पियक्कड़ समझने लगे हैं। जबकि वह शराब को हाथ भी नहीं लगाता है।
यही कहानी घायल प्रकाश चौरसिया ने भी बयां किया। नशे में धुत ड्राईवर सदानंद की स्थिति देखकर संतोष गुप्ता गाड़ी चलाने के लिए मांग रहा था, लेकिन ड्राईवर ने वाहन नहीं दिया। जिसके कारण संतोष गुप्ता गाड़ी से उतर गया और उसकी जिंदगी सुरक्षित हो गई। यदि वह गाड़ी चलाता तो शायद सबकी जान बच जाती। गौरापार निवासी घायल राजेंद्र चौधरी को सिटी स्कैन के लिए डॉक्टर ने खलीलाबाद से मेडिकल कालेज गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया। घायल की चाची इमिरता देवी का कहना है कि ईश्वर की कृपा है कि उसके भतीजे राजेंद्र की हालत ठीक है।
विज्ञापन

Recommended

बनाएं डिजिटल मीडिया में करियर, कोर्स के बाद प्लेसमेंट का भी मौका
TAMS

बनाएं डिजिटल मीडिया में करियर, कोर्स के बाद प्लेसमेंट का भी मौका

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019
Astrology Services

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Gorakhpur

यूपी: अधिवक्ता दंपती को बेहोश कर लूटा, चलती कार से फेंककर फरार

बस्ती जनपद के अधिवक्ता और उनकी पत्नी को रविवार को कार सवार बदमाशों ने नशीला पदार्थ सुंघाकर लूट लिया और कांटे पुलिस चौकी क्षेत्र के ड़डवा गांव के पास चलती कार से फेंक दिया।

19 अगस्त 2019

विज्ञापन

दिल्ली में 40 साल बाद सबसे बड़ी बाढ़ का खतरा, यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर

दिल्ली में 40 साल बाद अब तक की सबसे बड़ी बाढ़ का खतरा सिर पर है। दिल्ली के मुख्ममंत्री अरविंद केजरीवाल ने आपात बैठक बुलाकर अधिकारियों को यमुना की तलहटी में रहने वाले हजारों लोगों की मदद करने और अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है।

19 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree