थानेदारी पर भारी राजनीतिक दबाव

Sant kabir nagar Updated Thu, 06 Dec 2012 05:30 AM IST
संतकबीरनगर। जनपद में थानेदारों की ट्रांसफर पोस्ंिटग में राजनीतिक दबाव डाले जाने की विभाग में चर्चा उठने लगी है। खास कर मेंहदावल सर्किल और खलीलाबाद सर्किल में तैनात थानाध्यक्षों की कुर्सी खतरे में बताई जा रही है। जब एसपी से थानाध्यक्षों को हटाने के लिए राजनीतिक दबाव डाले जाने की बात पूछी गई तो वह हंस कर टाल गए।
गोकसी, कच्ची शराब और अनाज की कालाबाजारी जैसे अपराधों को रोकने के लिए जब भी किसी थानाध्यक्ष ने अभियान छेड़ा है, तब उसे हटाने के लिए राजनीतिक दबाव पड़ा है। पूर्व में बखिरा थाने के एसओ रहे हेमंत श्रीज्ञान दुबे, एसओ दुधारा रहे अजीत मिश्र और वीके पांडेय को अपराधों पर लगाम कसने की वजह से न केवल थानेदारी गवानी पड़ी, वरन रेंज से बाहर तबादला भी हो गया। वैसी ही हवा एक बार फिर जनपद में बह चली है। पुलिस इन दिनों अपराधों की रोकथाम और घटित अपराधों के खुलासे की दिशा में सक्रिय है। विभाग में जो चर्चा है उसके अनुसार एसओ मेंहदावल राकेश यादव, एसओ बखिरा केपी यादव और एसओ दुधारा अनूप कुमार शुक्ल को हटाए जाने की राजनीतिक मुहिम छिड़ गई है।
एसओ बखिरा केपी यादव ने अभी कुछ दिन पूर्व क्षेत्र से दो ट्रक धान बरामद किया था। जिसे छोड़ने के लिए एक जनप्रतिनिधि ने एसओ पर काफी दबाव बनाया लेकिन एसओ ने इसकी सूचना डीएम को दे दी। डीएम ने अधिकारियों को भेजकर प्रकरण की जांच कराई और जरूरी कदम उठाया। पूर्व में एसओ दुधारा के पद पर तैनाती के दौरान भी केपी यादव ने बिना परमिट के ले जाया जा रहा दो ट्रक चावल बरामद किया था। तब भी राजनीतिक दबाव डाल कर उसे छोड़ने की घुड़की दी गई थी लेकिन एसओ ने दबाव नहीं माना और कानूनी प्रक्रिया अपनाई। अभी हाल में ही केपी यादव ने गोवंशीय चमडे़ की भी बरामदगी किया था। इसी तरह एसओ दुधारा अनूप शुक्ल ने भी गोकसी के खिलाफ अभियान छेेड़ा हुआ है। एसओ मेंहदावल राकेश यादव भी कच्ची शराब, जुआ और अवैध करोबार पर रोक लगाने के लिए कसरत कर रहे हैं। ऐसे अवैध कारोबार को अंजाम दे पाने में असफल हो रहे कारोबारी राजनीतिक आकाओं की शरण में हैं। इनके माध्यम से ये धंधे में आड़े आ रहे पुलिसवालों को हटवाने की जुगत कर रहे हैं।
चर्चा है कि बुधवार को बखिरा क्षेत्र में अफवाह फैला दी गई कि एसओ केपी यादव को हटा कर दूसरे जिले से आए एक थानेदार को वहां नियुक्त कर दिया गया है, जिस पर मिठाई बांटी गई। वैसे एसपी रामपाल से जब थानाध्यक्षों को हटाए जाने के लिए राजनीतिक दबाव बनाए जाने के बाबत पूछा गया तो वह हंस कर टाल गए। उनका कहना है कि किसी थानाध्यक्ष को अभी नहीं हटाया गया है। वैसे कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए हेरफेर किया जाता है लेकिन उसमें राजनीतिक दखलंदाजी नहीं होती है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

नए साल पर सीएम आदित्यनाथ ने वनटांगिया समुदाय को दिया ये तोहफा

नए साल पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महराजगंज जनपद के पनियरा ब्लाक में वनटांगिया समुदाय को सौगात दी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वनटांगिया समुदाय के 3779 लोगों को आवासीय भूमि का पट्टा प्रदान किया।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls