सड़क हादसों में खत्म हुईं 60 जानें

Sant kabir nagar Updated Mon, 05 Nov 2012 12:00 PM IST
संतकबीरनगर। यातायात जागरूकता माह (नवंबर) का चार दिन गुजर चुका है। पर अभी तक लोगों को जागरूक करने की कोई पहल नहीं हुई है। पिछले 48 घंटे में अलग-अलग हुए सड़क हादसे में तीन लोगों की मौत ने लोगों को दहला दिया है। बढ़ते सड़क हादसों पर कब और कैसे विराम लगेगा इसकी कवायद शुरू नहीं की गई है। इस साल खूनी सड़कें पर 60 लोगों की जान चली गई है।
इस साल जिले में कुछ ऐसे हादसे हाईवे पर हुए जिसमें एक साथ दो- दो लोगों की जानें गई हैं। गत शुक्रवार को कांटे पुलिस चौकी के पास हाइवे पर ट्रक से कुचलकर मालवाहक के चालक और खलासी मौत हो गई। उसी दिन महुली क्षेत्र में नाथनगर के पास नशे में बाइक चला रहा एक युवक अनियंत्रित होकर सड़क पर गिर गया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। गत 21/22 अक्टूबर को हाईवे पर नित्य क्रिया कर्म के लिए गई बूधा कला की दो महिलाओं की ट्रक से कुचलकर मौत हो गई। एक मां-बेटी बुरी तरह से घायल हो गई। आंकडे़ बता रहे हैं कि वर्ष 2012 में अब तक 79 दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। इसमें 60 लोगों की मौत हो चुकी है। 36 से अधिक लोग अपंग हो चुके हैं। बढ़ते हादसों के पीछे यातायात नियमाें की अनदेखी प्रमुख वजह है। धनघटा-खलीलाबाद मार्ग, खलीलाबाद -मेंहदावल मार्ग की पटरियां धंस गई हैं। ओवर लोड वाहन भी धड़ल्ले से फर्राटे भर रहे हैं। एएसपी कृपाशंकर सिंह का कहना है कि काला शीशा लगे वाहन, अवैध रूप से नीली, लाल बत्ती लगे वाहनों और बगैर हेलमेट वाहन चलाने वालों की चेकिंग के निर्देश दिए गए हैं। यातायात जागरूकता के लिए विद्यालयों में प्रशिक्षण और खलीलाबाद शहर में बच्चों की जागरूकता रैली निकाली जाएगी। एआरटीओ का कहना है कि आवेरलोड वाहनों की चेकिंग समय -समय पर होती है। असावधानी पूर्वक यात्रा करना ही दुर्घटना की प्रमुख वजह है।
इनसेट
वर्ष दुर्घटना मृतक घायल
2007 60 37 28
2008 100 36 73
2009 91 42 59
2010 137 67 111
2011 77 57 35
2012 79 60 37
इनसेट
यातायात नियमों का करें पालन
रात में डीपर का प्रयोग अवश्य करें ।
शराब के नशे में वाहन कत्तई न चलाए।
मोड़ पर वाहनों को देखना न भूले।
निर्धारित गति से तेज न चले।
इनसेट
हाईवे पर प्रमुख डेंजर जोन
कांटे तिराहा, चुरेब ओवरब्रिज, मनियरा ढाबा, सरैया बाईपास, नेदुला चौराहा, मेंहदावल बाईपास ओवरब्रिज, बगहिया के पास, डीघा बाईपास, बगला ताल, रैना पेपर मिल, सेमरा बाई पास, दुर्गा मंदिर मगहर।


स्टाफ की कमी है
सीओ ट्रैफिक आरके शर्मा का कहना है कि स्टाफ की कमी की वजह से शहर के अलावा अन्य जगहों पर ड्यूटी नहीं लग पा रही है। जिले में एक टीएसआई, तीन हेड कांस्टेबल और छह कांस्टेबल की तैनाती है।
वीआईपी ड्यूटी और दूसरे जिलों में भी ड्यूटी लगती है। प्रमुख चौराहों पर जरूरत के हिसाब से ड्यूटी लगती है। ट्रैफिक मुख्यालय लखनऊ से ही ही टेंड सिपाहियों की नियुक्ति ट्रैफिक में होती है। उन्हें हटाने के लिए भी अनुमोदन लेना पड़ता है। प्रतिदिन नियम विरुद्ध ढंग से वाहनों के संचलन पर रोक लगाने के लिए चालान किया जाता है। शराब के नशे में वाहन चलाने वाले की चेकिंग के लिए शराब मापक यंत्र मिला है। अभी हाल ही में प्रदूषण मापक यंत्र भी जिले को मिला है, लेकिन पुलिस कर्मियों को उसका प्रशिक्षण नहीं दिलाया जा सका है। यातायात माह नवंबर में स्कूल के बच्चों को यातायात नियमों की जानकारी दी जाएगी। इसके अलावा शहर में रैली भी निकाली जाएगी।

Spotlight

Most Read

National

पुरुष के वेश में करती थी लूटपाट, गिरफ्तारी के बाद सुलझे नौ मामले

महिला लड़कों के ड्रेस में लूटपाट को अंजाम देती थी। अपने चेहरे को ढंकने के लिए वह मुंह पर कपड़ा बांधती थी और फिर गॉगल्स लगा लेती थी।

20 जनवरी 2018

Related Videos

नए साल पर सीएम आदित्यनाथ ने वनटांगिया समुदाय को दिया ये तोहफा

नए साल पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महराजगंज जनपद के पनियरा ब्लाक में वनटांगिया समुदाय को सौगात दी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वनटांगिया समुदाय के 3779 लोगों को आवासीय भूमि का पट्टा प्रदान किया।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper