क्रय केंद्रों पर ताला, किसान हलकान

Sant kabir nagar Updated Fri, 02 Nov 2012 12:00 PM IST
संतकबीरनगर। इधर धान बेचिए और उधर चेक लीजिए। हफ्ते भर में भुगतान भी प्राप्त कर कीजिए। यह सरकारी फरमान है। जिले में धान खरीद की क्या सच्चाई है इसे अफसर भी जान रहे। खरीद कब शुरू होगी और केंद्र कब क्रियाशील हाेंगे यह पहेली है। पहली अक्टूबर से 28 फरवरी 2013 तक धान खरीद करने का निर्देश है। किसान क्रय केंद्रों पर ताला होने से ऊहापोह की स्थिति में हैं।
जिले में धान क्रय करने के लिए 36 क्रय केंद्र बने हैं। खाद्य विभाग, पीसीएफ, नेफेड ,कर्मचारी कल्याण निगम और यूपीएसएस को एजेंसी नियुक्त किया गया है। इन केंद्रों के जरिए 50,200 मीट्रिक टन धान खरीद का लक्ष्य है। केंद्र पर किसानों की सुविधा के लिए पीने का पानी, नमी मापक यंत्र, पंखा, छाया की सुविधा आदि की व्यवस्था करनी है। किसान बही, खतौनी की नकल, आधार पत्र 23 और आधार पत्र 45 की नकल के जरिए धान खरीद की जाएगी। एक दिन में एक काट वाट पर 300 कुंटल धान की खरीद करनी है। एक से अधिक काट वाट लगाने के लिए डीएम से अनुमति लेनी होगी। एसडीएम के जरिए गांवों को केंद्रों से जोड़ा गया है। नवीन मंडी परिषद में स्थापित केंद्र पर कहीं के किसान धान बेच सकेंगे। कामन धान 1250 रुपये प्रति कुंटल की दर से खरीद की जाएगी। व्यवस्था यह भी है कि एक किसान एक ही बार धान बेच पाएगा।
किसान घनश्याम पांडेय, मिंटू, लालपत, विजय शुक्ला, हरिश्चंद्र चौधरी आदि का कहना है कि केंद्र पर ताला लटक रहा है। धान बेच कर ही गेहूं की बुआई करते हैं। बेटी-बेटे की शादी विवाह के साथ नाते रिश्तेदारों के यहां न्यौता आदि भी करते हैं। अभी तक धान खरीद शुरू नहीं होने से संकट खड़ा हो गया है। क्रय केंद्र क्रियाशील किए जाने की सख्त जरूरत है।
इनसेट
बेलहर कला और थुरंडा में खुलेगा केंद्र : धान खरीद के लिए बेलहर कला और सेमरियावां ब्लाक के थुरंडा में क्रय केंद्र खोला जाएगा। विभाग के जरिए अभी तक प्रस्ताव प्रस्तुत न करने पर डीएम ने एआर और पीसीएफ के अधिकारियों पर नाराजगी जताई। विभागीय सूत्र बताते हैं कि पूर्व के वर्ष में खरीद में गड़बड़ी के चलते यूपी एग्रो को इस बार क्रय एजेंसी नहीं बनाया गया है। एडीएम ने कहा कि जल्द ही बेलहर कला और थुरंडा में क्रय केंद्र खुलेगा।
इनसेट
क्रय एजेंसी केंद्र की संख्या खरीद का लक्ष्य
खाद्य विपणन विभाग आठ 25000 एमटी
पीसीएफ 20 18000 एमटी
नेफेड दो 4200 एमटी
कर्मचारी कल्याण निगम तीन 1500 एमटी
यूपीएसएस तीन 1500 एमटी
इनसेट
रिजेक्ट धान का रखना होगा रिकार्ड : यदि केंद्र प्रभारी किसी किसान का धान रिजेक्ट करते हैं तो उसका रिकार्ड रखना होगा। इसके लिए रिजेक्शन रजिस्टर बनाया जाएगा। संबंधित किसान का नाम, पूरा पता, मोबाइल नंबर, धान की मात्रा आदि पूरा विवरण दर्ज करना होगा। यह रजिस्टर सांसद, विधायक, प्रमुख, उप प्रमुख, ग्राम प्रधान, उप ग्राम प्रधान और अधिकारियों को दिखाना होगा।
शिकायत के लिए खुला कंट्रोल रूम : धान खरीद में बिचौलियों पर रोक लगाने और किसानों की समस्या पर त्वरित कार्रवाई के लिए दो कंट्रोल रूप स्थापित किया गया है। डिप्टी आरएमओ प्रभाकांत द्विवेदी के मोबाइल नंबर 9415376315 और लिपिक ब्रदी प्रसाद के मोबाइल नंबर 9451795571 पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। दर्ज शिकायतों पर त्वरित समस्या का करने की व्यवस्था है।
इनसेट
किसानों को धान बेचने की सुविधा के लिए जिले में 36 क्रय केंद्र क्रियाशील कर दिए गए हैं। बेलहर कला और सेमरियावा के थुरंडा में जल्द ही केंद्र खोले जाएंगे। केंद्र प्रभारियाें को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि केंद्र खोले और किसानों का धान नियम संगत तरीके से क्रय करें। एसडीएम और तहसीलदार के अलावा डिप्टी आरएमओं को क्रय केंद्रों की जांच किए जाने की जिम्मेदारी दी गई है। स्वयं और डीएम के जरिए भी कभी भी किसी भी केंद्र का औचक निरीक्षण किया जाएगा। जांच में यदि केंद्र बंद मिले और खरीद में अनियमितता मिली तो संबंधित केंद्र प्रभारी के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।
भोलानाथ मिश्र एडीएम

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

नए साल पर सीएम आदित्यनाथ ने वनटांगिया समुदाय को दिया ये तोहफा

नए साल पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महराजगंज जनपद के पनियरा ब्लाक में वनटांगिया समुदाय को सौगात दी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वनटांगिया समुदाय के 3779 लोगों को आवासीय भूमि का पट्टा प्रदान किया।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls