बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

14 बीएलओ अनुपस्थित मिले

Sant kabir nagar Updated Mon, 15 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
संतकबीरनगर। डीएम के निर्देशन में रविवार को जनपद में विशेष मतदाता सूची के पुनरीक्षण के लिए अभियान चलाया गया। बूथों पर बीएलओ और पदाभिहित अधिकारियों ने उपस्थित रहकर मतदाता सूची में अंकित गलत नामों में संशोधन, बढ़ाने और हटाने के लिए फार्म भरवाए। एडीएम के साथ नियुक्त दस सेक्टर अफसरों ने बूथों की जांच की। जांच में 14 बीएलओ गायब मिले। जिनके वेतन रोकने के साथ उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराए जाने की बात एडीएम ने कही है।
विज्ञापन

जनपद के 1,340 बूथों पर मतदाता सूची पुनरीक्षण का कार्य किया गया। इस कार्य के लिए 1,340 बीएलओ और करीब 300 पदाभिहित अधिकारी लगाए गए थे। एडीएम भोलानाथ मिश्र ने जंगलकला, बालूशासन, बघौली, जूनियर हाईस्कूल खलीलाबाद, बड़गों, नौहट समेत 10 बूथों की जांच की गई। बड़गों और नौहट में पांच बीएलओ गायब मिले। तहसीलदार खलीलाबाद सत्येंद्र सिंह ने 28 बूथों की जांच की। जिसमें धौरहरा बूथ संख्या 337 में बीएलओ सुनीता गौतम आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, बूथ संख्या 339 पर मंजू यादव आंगनबाडी कार्यकर्ता, बूथ संख्या तिलजा पर बैजनाथ रोजगार सेवक, बूथ संख्या 102 बिगरा अव्वल पर मोहम्मद अरमान प्रेरक अनुपस्थित मिले। एसडीएम खलीलाबाद विनय सिंह ने लेडुआ महुआ समेत छह बूथों की जांच की। एसडीएम मेंहदावल विनय श्रीवास्तव ने समोगर, राजेडीहा, बौरब्यास समेत 20 बूथों की जांच की। एसडीएम ने बताया कि पांच सुपरवाइजरों ने शाम को रिपोर्ट नहीं दी। जिनसे स्पष्ट्रीकरण मांगा जाएगा। कुछ बीएलओ आयु और निवास का प्रमाण पत्र नहीं ले रहे और कुछ आवेदन पर हस्ताक्षर नहीं करा रहे हैं। इनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। एसडीएम धनघटा ने 21 बूथों की जांच की। पौली और हरिहरपुर में पांच बीएलओ गायब मिले। एसडीएम ने गायब बीएलओ के खिलाफ कार्रवाई कराए जाने की बात कही है। एडीएम भोलानाथ मिश्र ने बताया कि 2.5 प्रतिशत फोटो का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। बीएलओ को निर्देश दिए गए हैं कि वे जिन मतदाताओं के फोटो नहीं हैं, उनके फोटो भी प्राप्त करें। नाम संशोधन, नए वोटरों का नाम सूची में शामिल करने और गलत नामों को हटाने के लिए फार्म भरवाएं। उनका कहना है कि अब तक सेक्टर अफसरों की जो रिपोर्ट आई है, उसके मुताबिक 14 बीएलओ बूथों से गायब मिले हैं। जिनका एक दिन का वेतन तो रोका ही जाएगा, साथ में उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी। एडीएम ने कहा कि 21 अक्टूबर को भी विशेष अभियान चलाया जाएगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X