जनपद में 640 प्रतिमाएं होंगी स्थापित

Sant kabir nagar Updated Mon, 15 Oct 2012 12:00 PM IST
संतकबीरनगर। जनपद में नवरात्रि पर्व की तैयारियां शुरू हो गईं हैं। रविवार को प्रमुख देवी मंदिरों के साथ देवी प्रतिमा स्थापित होने वाले स्थलों पर साफ-सफाई कार्य चल रहा था। जिले में 640 जगह मूर्तियां स्थापित होंगी।
मंगलवार से नवरात्र पर्व शुरू हो रहा है। जिसको लेकर तैयारियां शुरू हो गईं हैं। खलीलाबाद शहर स्थित समय माता मंदिर, पाटेश्वरी देवी मंदिर, बरदहिया स्थित दुर्गा मंदिर, उसका कला स्थित देवी मंदिर में साफ-सफाई हो रही थी। ग्रामीण क्षेत्रों में मेंहदावल के बाराखाल दुर्गा मंदिर, नगर वाली माता मंदिर, बेलहर कला में स्थापित सिद्धेश्वरी माता मंदिर, जंगल बेलहर में स्थापित दुर्गा मंदिर की भी साफ-सफाई हो रही थी और सजावट का काम चल रहा था। महुली और धनघटा क्षेत्र के देवी मंदिरों, बखिरा में भंगेश्वर नाथ मंदिर में स्थापित दुर्गा मंदिर में साफ-सफाई, समय जी मंदिर आदि जगहों पर भी नवरात्र की तैयारियां चल रही थीं।
विश्वनाथपुर में दुर्गा प्रतिमा आयोजक मंडल के सदस्य एवं बीडीसी अतुल पांडेय ने बताया कि काली मंदिर परिसर में दुर्गा मूर्ति स्थापित होगी। यहां पर सफाई कार्य कराया जा रहा है। बिजली का कोई भरोसा नहीं है। जिसके कारण जनरेटर की व्यवस्था की गई है। रात्रि में मनोरंजन के लिए टेलीविजन पर रामायण का सीरियल चलेगा। सुरक्षा के मद़्देनजर पुलिसकर्मी की मांग की गई है। महुली निवासी पंडित वाचस्पति द्विवेदी बताते हैं कि नवरात्र पर्व की अपनी महत्ता है। नौ दिन लोग पूजा पाठ करते हैं। देवी मंदिरों में लोग जाते हैं। देवी की महिमा का बखान करते हुए बताया कि नवरात्र पर पूजा करने से कष्ट, रोग आदि का निवारण होता है। एसपी रामपाल ने कहा कि 640 जगहों पर मूर्तियां स्थापित होंगी। सुरक्षा के मद्देनजर प्रत्येक मूर्ति पर दो-दो सिपाही अथवा होमगार्ड की ड्यूटी लगाई गई है। भूमि विजर्सन में भी पर्याप्त फोर्स रहेगा। उनका कहना है कि आयोजक मंडल भी स्वयं सुरक्षा की निगरानी करें और जरूरत पड़ने पर पुलिस की मदद लें। अराजक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
रामलीला से मिलती है सीख
धर्मसिंहवां। सांथा ब्लाक के सौरहां गांव में नवरात्र पर रामलीला की तैयारियों जोर-शोर पर हो रही हैं। पिछले 29 वर्षों से यहां पर रामलीला हो रहा है। नवरात्र के प्रथम दिन से ही यहां पर रामलीला का कार्यक्रम शुरू हो जाएगा।
सौरहां में सोमवार से होने जा रहे रामलीला कार्यक्रम के आयोजकों का कहना है कि समाज को आदर्शवादी बनाने के लिए ही रामलीला का आयोजन होता आ रहा है। प्रमुख आयोजक हरिकिशुन वर्मा का कहना कि रामलीला को अगर राम के लीला के रूप में लोग देखेंगे तो उससे उन्हें अच्छी सीख मिलेगी जो कि सामाजिक उत्थान में काफी कारगर सिद्ध होगी। हरिवंश शर्मा का कहना है कि रामलीला से सीख लेने की आवश्यकता है। अच्छेलाल जी कहते हैं कि धार्मिक आस्था बनाए रखने व सामाजिक विकास के लिए रामलीला का मंचन होना बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य है। क्षेत्र के धर्मसिंहवा, राजेडीहा, बजही, बंजरिया, रजउर, खजुरकोल, कुसम्हा, चंवरही इमिलिया, पउनी, फेउसा, डबरा, परसा शुक्ल, खजुरी, सिरसिया आदि गांवाें से श्रद्धालुओं की काफी भीड़ यहां आती है। आयोजकों ने बताया कि शुरूआती दौर में रामलीला के कलाकार गांव के ही हुआ करते थे। अब नई पीढ़ी के पास उतना समय नहीं रह गया है। इसलिए बाहर से रामलीला का मंचन करने के लिए कलाकारों को बुलाना पड़ता है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

नए साल पर सीएम आदित्यनाथ ने वनटांगिया समुदाय को दिया ये तोहफा

नए साल पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महराजगंज जनपद के पनियरा ब्लाक में वनटांगिया समुदाय को सौगात दी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वनटांगिया समुदाय के 3779 लोगों को आवासीय भूमि का पट्टा प्रदान किया।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper