बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

इंसेफेलाइटिस से पीड़ित बालिका की मौत

Sant kabir nagar Updated Sun, 14 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
संतकबीरनगर। इंसेफेलाइटिस से पीड़ित एक और बालिका की शनिवार को मौत हो गई है। वह करीब पिछले एक सप्ताह से तेज सिरदर्द और बुखार से पीड़ित थी। जिसका इलाज बीआरडी मेडिकल कालेज, गोरखपुर में चल रहा था। वहीं मगहर के रसूलपुर की एक अन्य बालिका जेई से पीड़ित है। जिसे इलाज के लिए बीआरडी में भर्ती कराया गया है। 24 घंटे के अंदर लगातार इस बीमारी से यह दूसरी मौत है। इससे गांव व कस्बों में दहशत फैल गई है। बावजूद इसके स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन मौन है।
विज्ञापन

हैंसर प्रतिनिधि के अनुसार विकास खंड पौली के ग्राम परसहर निवासी राम ललित की पुत्री उर्मिला (08) विगत एक सप्ताह से तेज सिरदर्द और बुखार से पीड़ित थी। जिसका इलाज मेडिकल कालेज गोरखपुर में चल रहा था। शनिवार सुबह में उसकी मौत हो गई।

मगहर प्रतिनिधि के अनुसार नगर पंचायत मगहर के मुहल्ला रसूलपुर निवासी अनिरुद्ध सिंह की भांजी पूनम सिंह को विगत पांच दिनों से तेज बुखार व सिरदर्द हो रहा था। जिसका एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। शनिवार को उसकी हालत खराब देख डाक्टरों ने उसे मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। बताया जा रहा है कि वह भी जेई से पीड़ित है। जिसे बीआरडी मेडिकल कालेज में आज भर्ती कराया गया है। मालूम हो कि पौली ब्लाक में पिछले 24 घंटों के दरम्यान लगातार यह दूसरी मौत है। इससे गांव व कस्बे में दहशत फैल गया है। सीएमओ डॉ. बद्री विशाल का कहना है कि मामला संज्ञान में नहीं है। हालांकि शुक्रवार को हुई मौत की बाबत गांव में निरोधात्मक कार्रवाई के लिए टीम भेजी जाएगी।

प्रदूषित पानी पीने को विवश हैं ग्रामीण
कांटे/संतकबीरनगर। सेमरियावां विकास खंड के कुसमैनी गांव के ग्रामीण प्रदूषित पानी पीने को विवश है। गांव में लगाए गए 15 इंडिया मार्क टू हैंडपंपों में से 5 खराब हो गए हैं। ग्रामीणों ने डीएम से गांव में मिनी वाटर सप्लाई लगवाए जाने की मांग की है।
गांव निवासी एवं पूर्व प्रधानाध्यापक जेपी चौधरी, रामनाथ, बीडीसी योगेंद्र चौधरी, कालीदीन चौधरी, मनिराम, रामउजागिर चौधरी समेत अन्य ग्रामीणों का कहना है कि कुसमैनी गांव जनपद के पश्चिम छोर पर स्थित है। गांव के पश्चिम, दक्षिण, पूरब से कष्टहरणी नदी तथा उत्तर से गरयानाला से घिरा हुआ है। ग्राम सभा स्थित प्राथमिक विद्यालय बालक, कन्या, पूर्व माध्यमिक विद्यालय तथा मान्यता प्राप्त जेसी बालिका विद्यालय संचालित हो रहा है। इन संस्थाओं में करीब 500 बच्चे पढ़ते हैं। गांव में करीब 1,200 की आबादी निवास करती है। गांव में 15 इंडिया मार्क टू हैंडपंप तो लगा है लेकिन उसमें से पांच हैंडपंप खराब है। शेष 10 हैंडपंप दूषित पानी उगल रहे हैं। प्रदूषित जल के सेवन से शिशु रोग से ग्रसित हो रहे हैं और जन स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ रहा है। गांव निवासी संजय का मासूम बेटा शिवम इंसेफेलाइटिस से पीड़ित था, जिसका गोरखपुर में काफी दिन तक इलाज चला। इंसेफेलाइटिस की बीमारी के फैलने की संभावना से ग्रामीण सहमे हुए हैं। शासन ने जिले के लिए 472 मिनी वाटर सप्लाई प्रोजेक्टर स्थापित किए जाने की स्वीकृति दिया है। गांव के लोगों को स्वच्छ पेयजल मुहैया कराए जाने के उद्देश्य से मिनी वाटर सप्लाई स्थापित कराया जाना उचित होगा।

सफाई के प्रति किया गया जागरूक
बखिरा/मेंहदावल। निर्मल भारत अभियान के तहत ग्राम पंचायत रमवापुर बिहारे में स्वच्छता व स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें कलाकारों ने ग्रामवासियों को नुक्कड़ नाटक के जरिए लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला पंचायत राज अधिकारी आनंद प्रकाश त्रिपाठी ने किया। सीएमओ डा. बद्री विशाल ने कहा कि स्वास्थ्य नागरिकों से ही स्वस्थ भारत का निर्माण होता है। शासन ने नागरिकों को स्वस्थ रहने के लिए गांव-गांव शिविर लगाकर जागरूक करने का प्रयास किया है। लेकिन इस मिशन को सफलता तभी मिल सकती है, जब नागरिक खुद ही सफाई के प्रति सचेत रहेंगे। शिविर में आए चिकित्सकों की टीम में 850 लोगों की जांच करने के बाद उन्हें दवाइयां भी वितरित की। शिविर में कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक दिखाकर लोगों को जागरूक किया। इस अवसर पर एडीओ पंचायत सभाजीत यादव, अनिल सिंह, रीता मिश्र, शिवओम, रतनलाल, जयप्रकाश व ग्राम प्रधान प्रेमशंकर मिश्र सहित अन्य लोग रहे।

जेई से बचाव के तरीके बताए
कंाटे। पंचायती राज विभाग के जरिए चलाए गए निर्मल भारत रथ यात्रा खलीलाबाद ब्लाक क्षेत्र के बड़ेला, बूधा कला, डारीडीहा गांव में पहुंचा। वहां पर डाक्यूमेंट्री फिल्म का प्रदर्शन किया गया। ग्रामीणों के बीच जागरूकता कार्यक्रम के लिए विशेष निर्देश छपे पंपलेट वितरित किया गया। विशेषज्ञ बीएस अगड़िया एवं सुहेल ने लोगों को जागरूक किया। जलजनित एवं इंसेफेलाइटिस से बचने के लिए उपाय सुझाए। इस अवसर पर ग्राम प्रधान कमलवती देवी, संत कुमार, मानसिंह, राज कुमार, देवनाथ सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X