बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

इंसेफेलाइटिस से एक की मौत

Sant kabir nagar Updated Sat, 13 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
हैंसर/संतकबीरनगर। शुक्रवार को इंसेफेलाइटिस से पीड़ित एक बच्चे की मौत का मामला सामने आया है। वह करीब एक पखवारे से बीमारी से ग्रसित था। जिसका इलाज गोरखपुर स्थित बीआरडी मेडिकल कालेज में चल रहा था। वहीं एक अन्य बच्ची का इलाज जारी है।
विज्ञापन

विकास खंड पौली के ग्राम बेलघाट निवासी दयाराम के पुत्र शिवम (08) को एक पखवारे से बुखार था। जिसका इलाज सीएचसी मलौली पर चल रहा था। पिछले शुक्रवार को उसकी हालत खराब होता देख डाक्टरों ने बीआरडी मेडिकल कालेज, गोरखपुर रेफर कर दिया गया था। जहां शुक्रवार की सुबह में उसकी मौत हो गई। वहीं पड़ोसी गांव परसहर में राम ललित की पुत्री उर्मिला (08) पिछले पांच दिनों से जेई से पीड़ित है। जिसका इलाज बीआरडी मेडिकल कालेज में चल रहा है। सीएमओ डा. बद्री विशाल का कहना है कि मामला संज्ञान में नहीं है। सूचना मिलने पर गांव में निरोधात्मक टीम भेजकर कार्रवाई की जाएगी।


जेई से बचाव के बताए उपाय
धनघटा। पंचायती राज विभाग से संचालित निर्मल भारत रथ शुक्रवार को नाथनगर ब्लाक के भीटी माफी गांव में पहुंचा। डाक्यूमेंट्री फिल्म का प्रदर्शन उदयभान सिंह ने किया। उन्होंने बताया की सरकार ने शौचालय बनवाने के लिए एपीएल एवं बीपीएल परिवारों को दस हजार रुपये की धनराशि दी जा रही है। जिसमें मात्र नौ सौ रुपये लाभार्थी का अंशदान होगा तथा 91,00 सौ रुपये अनुदान के रूप में होगा। अनुदान की धनराशि केद्र व राज्य सरकार वहन करती हैं। उन्हाेंने कहा कि जेई एवं एईएस वर्तमान परिवेश में स्वास्थ्य के लिए बड़ी चुनौती हैं। इन्हे दूर करने के लिए भोजन से पहले साबुन से हाथ धोना व भोजन के बाद भी हाथ की अच्छी तरह से धुलाई करनी चाहिए। जिन परिवारों के यहां शौचालय नहीं हैं। उन्हें आवेदन देना चहिए प्रोजेक्टर के माघ्यम से डीएम एवं डीपीआरों के संदेश प्रसारित किए गए।

स्वच्छ पेयजल और शौचालय का करें प्रयोग
बघौली। स्थानीय विकास खंड के जगदीशपुर गांव में शुक्रवार को नि:शुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। इसमें करीब बारह मरीजों का इलाज कर उनमें निशुल्क दवा का वितरण किया गया। इस दौरान निर्मल भारत अभियान के तहत नुक्कड़ नाटक कर ग्रामीणाें को जेई से बचाव व शुद्ध पेयजल प्रयोग की जानकारी दी गई। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि सीएमओ डॉक्टर बद्री विशाल ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। अपने संबोधन में सीएमओ ने कहा कि स्वच्छ पानी व साफ सफाई न होने के कारण 80 फीसदी लोगों में जेई व एईएस तथा उदर रोग से संबंधित बीमारी हो रही है। इस मौके पर डॉक्टर अनिल सिंह ने लोगों को छह प्रकार से सफाई करने के फायदे बताया। इस मौके पर डॉक्टर रिचा मिश्र, डॉक्टर रतन लाल, डॉक्टर शंभू सिंह, परमात्मा दूबे, बाबूलाल सहित अन्य उपस्थित रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X