हद हो गई लापरवाही की, दो दिन बाद भी नहीं हटा जलजमाव

Sant kabir nagar Updated Fri, 21 Sep 2012 12:00 PM IST
संतकबीरनगर। दो दिन पूर्व तक हुई अनवरत वर्षा से जहां एक तरफ ग्रामीण क्षेत्र में जलजमाव ने भारी तबाही मचा रखी है, वहीं शहरी क्षेत्र की समस्याएं भी कम नहीं हुईं। नगर प्रशासन के जगह-जगह पानी की निकासी के लिए जेसीबी से कटान करने और पंपिंग सेट लगाकर पानी निकलवाने का प्रयास किया, लेकिन इसके बावजूद खलीलाबाद शहर में मुख्य मार्ग के दोनों तरफ पटरियाें पर अभी भी दर्जनाें स्थान पर दूषित जलजमाव बरकरार है।
खलीलाबाद-मेंहदावल मार्ग, ज्ूानियर हाईस्कूल परिसर, शास्त्रीनगर, बंजरिया, अंसार टोला, पठान टोला, घोरखल, मौलाना आजाद इंटर कालेज के पास, तहसील परिसर, कैंप कार्यालय के समक्ष दोनों तरफ, इलाहाबाद बैंक कालोनी के पास जलजमाव ज्यों का त्याेें बरकरार है। कई वार्डों में दर्जनों घरों में पानी चला गया था। जिससे वहां के लोग अभी भी बदबू गंदगी से परेशान हैं। इन वार्डों में रहने वाले लोगों ने बताया कि मोहल्लाें में न तो फागिंग हुई है और न ब्लीचिंग पाउडर चूना ही डाला गया। जिससे संक्रामक बीमारियों का खतरा उत्पन्न हो गया है।
पिछले शुक्रवार से जारी बरसात, पांचवें दिन मंगलवार को कहर बनकर टूटी। जिस दिन 400 मिमी की रिकार्ड बरसात ने न सिर्फ जिला मुख्यालय के सड़कों पर पानी लहराने लगा, बल्कि कई दर्जन से अधिक दुकानाें और घरों में पानी घुस आया। नगरपालिका ने जेसीबी से जगह-जगह रास्ता बनाते हुए जलजमाव को खारिज करने की व्यवस्था बनाई और कुछ मोहल्लों मे पंपिग सेट लगाकर पानी की निकासी की व्यवस्था भी की। परंतु जूनियर हाईस्कूल परिसर, बीएसए आफिस, डायट, कस्तूरबा विद्यालय, इलाहाबाद बैंक कालोनी में अभी भी घुटने तक पानी लगा हुआ है। आने-जाने वालों को गंदगी से ही गुजरना पड़ रहा है। शास्त्रीनगर निवासी भागीप्रसाद, पवन पाठक आदि नागरिकाें का कहना है कि एक तरफ दूषित जलजमाव से होने वाली संक्रामक बीमारियों से बचाव के लिए निर्मल भरत अभियान चल रहा है। दूसरी तरफ शहर में ही जलजमाव से उत्पन्न बीमारियाें से बचाव के लिए कोई भी उपाय नहीं किए जा रहे हैं। तीन दिनाें से होने वाले तेज धूप ने गंदगी से उत्पन्न बीमारियाें को और बढ़ा दिया है।


करा रहे हैं सफाई, डाला जा रहा है ब्लीचिंग पाउडर : ईओ
अधिशासी अधिकारी संजय कुमार ने बताया कि नगर पालिका खलीलाबाद के अधिकांश वार्डों में पानी की निकासी करा दी गई है। फिर भी आधा दर्जन वार्डाें में जलजमाव रह गया है। इन जगहों पर ब्लीचिंग पाउडर छिड़काव कराया गया है। सायंकाल से फागिंग भी कराए जाने की व्यवस्था कराई जा रही है।

वायरल फीवर, डायरिया संक्रमण की बीमारियां बढ़ी
जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ चिकित्सक डा. ओपी चतुर्वेदी ने कहा कि घर के आसपास जलजमाव से संक्रामक बीमारियां बढे़ंगी। अत: जहां भी जलजमाव हो, ब्लीचिंग पाउडर डालें। पेयजल में पानी में क्लोरीन टैेबलेट डालकर उसका सेवन करें। साफ सफाई का ध्यान रखना जरूरी है। उन्होंने बताया कि मौसम के परिवर्तन से वायरल फीवर के रोजाना सैकड़ों केसेज अस्पताल में आ रहे हैं। साथ ही डायरिया, डिसेंट्री के दर्जनाें केसेज बढ़ गए हैं। सर्दी, खांसी के पीड़ितों से थोड़ी दूरी बनाए रखेें। ताजा भोजन करें तथा शुद्ध पेयजल का सेवन करें। उन्होंने बताया कि अस्पताल में एपीडमिक केंद्र पर क्लोरीन की गोलियां उपलब्ध हैं। साथ ही जहां सूचना मिल रही है विभाग से क्लोरीन की गोलियां वितरित कराई जा रही हैं।

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

नए साल पर सीएम आदित्यनाथ ने वनटांगिया समुदाय को दिया ये तोहफा

नए साल पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महराजगंज जनपद के पनियरा ब्लाक में वनटांगिया समुदाय को सौगात दी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वनटांगिया समुदाय के 3779 लोगों को आवासीय भूमि का पट्टा प्रदान किया।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper