बदमाशों ने युवक को गोली मारी

Sant kabir nagar Updated Fri, 07 Sep 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। बाइक सवार दो बदमाशों ने मोटरसाइकिल से जा रहे युवक को गोली मार दी। पीठ में बुलेट धंसने से जख्मी राकेश को लखनऊ रेफर किया गया है। घटना मानीराम में चिउंटहा पुल के पास सुबह साढ़े सात बजे हुई। बताते हैं कि घायल राकेश का गांव पर कोटे को लेकर विवाद चल रहा है। चिलुआताल पुलिस पड़ताल में जुटी है।
मेंहदावल, घूरा पाली गांव के राकेश शुक्ला (42) राजेंद्र नगर पश्चिमी में रहते हैं। गांव पर उनके पिता सूर्य नारायण सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान चलाते हैं। जंगल कौड़िया प्रतिनिधि के अनुसार बृहस्पतिवार की सुबह राकेश तेल बंटवाने बाइक से गांव जा रहे थे। मानीराम में चिउंटहा पुल के पास पीछे से आए बदमाशों ने उन्हें पीठ में गोली मार दी। घायल राकेश ने ग्रामीणों को बताया कि बदमाश बहुत देर से उनके पीछे लगे थे। कई बार उन्होंने बाइक को ओवरटेक किया था। गोली मारने के बाद वह गोरखपुर की तरफ भाग गए। राकेश को लोगों ने अचेता अवस्था में जिला अस्पताल पहुंचाया। यहां से डाक्टरों ने उन्हें लखनऊ रेफर कर दिया। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने पूछताछ में पुलिस को कोई खास जानकारी नहीं दी। बताया कि संतकबीरगनर स्थित गांव पर कुछ लोगों से कोटे को लेकर विवाद चल रहा है। प्रापर्टी डीलिंग और सूद का काम करने वाले राकेश दो भाइयों में बड़े हैं। गोरखपुर में वह पत्नी और दो बच्चों के साथ रहते हैं। एसपी सिटी परेश पांडेय ने बताया कि कोटे के विवाद, प्रापर्टी डीलिंग और सूद के कारोबार को प्रमुख बिंदु बनाकर जांच की जा रही है। अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। राकेश के होश में आने के बाद कुछ और जानकारी मिलेगी।

गांव में भी थे कई विवाद
मेंहदावल/ संतकबीरनगर। राकेश शुक्ला को गोरखपुर के चिउटहा पुल के पास गुरुवार को गोली मारने की खबर पर घूरापाली गांव के लोग हतप्रभ रह गए। घटना की वजह को लेकर गांव में कयास लगाया जाता रहा।
घूरापाली निवासी राकेश शुक्ला कोटेदार हैं। गोरखपुर में मकान बनवा कर परिवार सहित रहते हैं। ग्रामीणों के मुताबिक प्रापर्टी डीलिंग का काम भी वह करते हैं और सूद पर पैसा भी बांटते हैं। गांव में विवाद के चलते करीब 8 वर्ष पूर्व राकेश शुक्ला के चाचा गजेंद्र शुक्ला की हत्या हो गई थी। हत्या का आरोप विनोद पांडेय पर लगा था। गांव में यह भी चर्चा उठ रही थी कि काली मंदिर के पास बंजर जमीन है। जिस पर शुक्ला परिवार कब्जा करना चाहता था और ग्राम प्रधान कब्जे को रोक रहे थे। इस मामले में प्रधान की तरफ से एक जनप्रतिनिधि पैरवी कर रहे थे और दूसरी तरफ भी एक जनप्रतिनिधि के जरिए पैरवी की जा रही थी।
राकेश शुक्ला को बाइक सवार बदमाशों द्वारा गोरखपुर में गोली मारने की घटना की वजह को लेकर गांव में तमाम तरह की बातें हो रही थी। कुछ लोग प्रापर्टी डीलिंग के चक्कर में गोली मारने की बात कर रहे थे तो कुछ सूदखोरी के चक्कर में गोली मारने का कयास लगा रहे थे। जबकि राकेश शुक्ला के चचेरे भाई अरुण शुक्ला का कहना था कि गोली लगने से राकेश अचेतावस्था में है। उसकी स्थिति में सुधार आने के बाद ही बताया जा सकेगा कि किसने गोली मारी है और उसकी क्या वजह है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

नए साल पर सीएम आदित्यनाथ ने वनटांगिया समुदाय को दिया ये तोहफा

नए साल पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महराजगंज जनपद के पनियरा ब्लाक में वनटांगिया समुदाय को सौगात दी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वनटांगिया समुदाय के 3779 लोगों को आवासीय भूमि का पट्टा प्रदान किया।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls