विज्ञापन

गणना समाप्ति से पहले बाहर निकलने पर होगी पाबंदी

Sant kabir nagar Updated Sat, 07 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
संतकबीरनगर। मतगणना की सुरक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन काफी सतर्क है। मतगणना ड्यूटी में लगे समस्त एसओ, 20 उपनिरीक्षक, 350 कांस्टेबल, 150 होमगार्ड और दो प्लाटून पीएससी लगाई गई है। प्रत्येक टेबल की सुरक्षा के लिए दो कांस्टेबल और एक एसओ रैंक के अधिकारी को लगाया गया है। एजेंट गैलरी में दो उपनिरीक्षक एसओ रैंक के तथा दो सिपाही की ड्यूटी रहेगी। मतगणना स्थल यानि इंटरनल घेरे में 10 से 20 कांस्टेबल, एक उपनिरीक्षक और 20 से 25 सिपाही लगाए गए हैं। मतगणना केंद्र के मुख्य द्वार पर अलग से फोर्स लगी है। बैरियरों पर भी कड़ी चौकसी रखी जाएगी। एसपी आरपी चतुर्वेदी के मुताबिक सीओ मेंहदावल और सीओ धनघटा अपने अपने निर्वाचन क्षेत्रों की मतगणना के सुरक्षा प्रभारी बनाए गए हैं। जबकि खलीलाबाद में सुरक्षा की जिम्मेदारी एएसपी को सौंपी गई है। उनका कहना है कि एक बार जो मतगणना परिसर में प्रवेश ले लेगा उसे फिर मतगणना समाप्ति के बाद ही बाहर निकलने दिया जाएगा। यदि कोई सुरक्षा घेरे को तोड़कर अंदर प्रवेश करने की कोशिश में पकड़ा जाएगा तो उससे पुलिस निपटेगी।
विज्ञापन
जीतने के बाद भी अटकी रहेंगी सांसें
संतकबीरनगर। चुनावी कसरत का रिजल्ट आने के बाद भी विजयी प्रत्याशियों एवं समर्थकों की बेकरारी बनी रहेगी। जीत का सेहरा सिर बंध जाएगा और इसका प्रमाण पत्र भी मिल जाएगा लेकिन सुप्रीम कोर्ट में दाखिल विशेष अनुज्ञा याचिका में पारित अंतिम निर्णय आने तक प्रत्याशियों की सांसें अटकी रहेंगी।
गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय में विशेष अनुज्ञा याचिका नंबर 18363/2012 राकेश गौतम बनाम स्टेट आफ यूपी व अन्य दाखिल है। इस याचिका पर 11 जून 2012 को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के बाद आदेश पारित किया है कि नगरपालिका परिषद एवं नगर पंचायत के सदस्य एवं अध्यक्षों की जो गणना होगी, उसका रिजल्ट रिट याचिका में पारित अंतिम निर्णय के अधीन होगा।
सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के कारण विजयी प्रत्याशियों की धड़कनें बढ़ी रहेंगी। जीत का प्रमाण पत्र मिल जाने तथा समर्थकों द्वारा जीत का माला पहनाए जाने के बाद भी उनके दिल को सुकून नहीं मिलेगा। वजह साफ है कि पता नहीं सुप्रीम कोर्ट का अंतिम निर्णय क्या होगा। एडीएम भोलानाथ मिश्र का कहना है कि विजयी प्रत्याशियोें को दिए जाने वाले प्रमाण पत्र में इस बात का जिक्र होगा कि उसका रिजल्ट रिट याचिका के अंतिम निर्णय के अधीन होगा।


धारा 144 मेें संसोधन कर प्रशासन ने लगाई पाबंदी
संतकबीरनगर। जीत के बाद विजय जुलूस निकालने की तमन्ना पालने वाले प्रत्याशी और उनके समर्थक सचेत हो जाएं। प्रशासन ने धारा 144 में संसोधन करते हुए विजय जुलूस निकालने पर पाबंदी लगा दी है। आयोग के नियमों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई भी तय है। एडीएम भोला नाथ मिश्र ने बताया कि निकाय चुनाव के मद्देनजर धारा 144 प्रभावी है। जिसमें पांच या उसके अधिक व्यक्ति एक साथ इक्ट्ठा नहीं हो सकते हैं। जुलूस, सभा आदि के लिए प्रशासन से अनुमति की जरूरत है। उनका कहना है कि सात जुलाई को मतगणना होगी। धारा 144 में संसोधन करते हुए आदेश पारित किया है कि मतगणना का परिणाम आने के बाद विजयी प्रत्याशी जीत का जुलूस नहीं निकालेंगे। यदि आदेश का उल्लंघन करके विजय जुलूस निकालने की कोशिश की गई तो संबंधित के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही आचार संहिता के उल्लंघन में भी कार्रवाई होगी। आदेश का कड़ाई से अनुपालन कराए जाने के लिए एसडीएम और संबंधित थाना प्रभारियों को कडे़ निर्देश जारी किए गए हैं। गठित टीमें अलग से वीडियो कैमरा के साथ घूमेगी।

चुनाव समाप्त होते ही बिजली 36 घंटों से बाधित
नंदौर/मेंहदावल। कुसहरा स्थित विद्युत उपकेंद्र से जुडें करीब 100 गांवों के उपभोक्तागण बिजली बाधित रहने की समस्या का सामना निकाय चुनाव के बीतने के बाद से ही करने को मजबूर हैं। जिससे इनको अंधेरे में रहने को मजबूर होना पड़ रहा है।
निकाय चुनाव के दौरान करीब 72 घंटे तक निर्बाध रूप से बिजली आपूर्ति का उपभोक्ताओं ने आनंद उठाया पर चुनाव के समाप्त होने के बाद से उपभोक्ताओं को बिजली मायूस करने का काम कर रही है। बिजली आपूर्ति की सुविधा से अपना काम करने वाले उत्तम चंद्र मिश्र, उमेश चंद्र मिश्र, बाबूराम यादव, शिवमूरत चौधरी, विनय कुमार, धनंजय, बाबूलाल, बूढे़ गड़रिया समेत कई लोगों का कहना है कि बिजली के न आने से मोबाइल पूरी तरह डिस्चार्ज हो गया है। पिछले 3 दिनाें से हमारा पूरा काम बाधित हो रहा है।

48 प्रत्याशियों के भाग्य का आज फैसला
हरिहरपुर/धनघटा। नगर पंचायत हरिहरपुर के चुनाव की मतगणना आज होगी। ऐसे में नगर के हर प्रत्याशी अपनी सांस थामे उस घड़ी के इंतजार में हैं। नगर पंचायत में यूं तो अध्यक्ष पद के लिए पांच प्रत्याशी चुनावी समर में अपनी किस्मत आजमाने उतरे हैं लेकिन मतदान के दिन नगर के मतों का विभाजन दो प्रत्याशियों के बीच ही सिमट कर रह गया। नगर के राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि मतगणना में केवल दो ही प्रत्याशियों के बीच कांटे की टक्कर होगी। वैसे तो हर प्रत्याशी अपनी जीत का दावा करता दिखाई पड़ रहा है लेकिन वास्तविक लड़ाई सपा समर्थित प्रत्याशी आशा देवी माझी और वैश्य एकता परिषद की प्रत्याशी मीरा देवी के बीच ही होगी। ऐसी चर्चा नगर के राजनीतिक गलियारों में है। वहीं नगर के दस वार्डों के लिए 43 सभासद प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला भी शनिवार को ही होना है। चुनाव में सबसे ज्यादा प्रत्याशी वार्ड नं. 1 में रहे। वार्ड संख्या 9 और 10 में दो दो प्रत्याशी मात्र होने के नाते आमने सामने की लड़ाई होगी। सबसे दिलचस्प मुकाबला वार्ड संख्या 9 में है। जिसमें पूर्व चेयर मैन रविन्द्र प्रताप शाही उर्फ पप्पू शाही अपना भाग्य आजमा रहे हैं। इनकी सीधी टक्कर सभासद प्रत्याशी धीरेन्द्र मल्ल से हैं। वार्ड संख्या 10 में भी दो प्रत्याशी निशंक नारायण पाल व अजय चतुर्वेदी के बीच आमने सामने की टक्कर है। अधिकांश वोटरों की चुप्पी से इस बात का संकेत दिखाई दे रहा है। कि अध्यक्ष पद के लिए कांटे की टक्कर दो प्रत्याशियों के बीच ही है।

मतगणना स्थल पर एजेंट पास के लिए लगी रही भीड़
हरिहरपुर/धनघटा। नगर पंचायत हरिहरपुर की मतगणना तहसील कार्यालय धनघटा पर होगी। एजेंट पास के लिए तहसील मुख्यालय पर प्रत्याशियों के साथ पहुंचे एजेंटों की भीड़ शुक्रवार को लगी रही। मतगणना स्थल पर किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी न होने पाए, इसके लिए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us