‘...वो नजर से उतर गया कैसे’

Saharanpur Updated Wed, 26 Dec 2012 05:30 AM IST
सहारनपुर। कला साहित्य संस्कृति मंच ‘परवाज’ की ओर से कैलाशपुर में ‘एक शाम कौमी एकता के नाम’ शीर्षक से मुशायरे का आयोजन हुआ। इसमें शायरों ने एक से बढ़कर एक कलाम पेश किए।
ग्राम प्रधान दिलशाद, वीरेंद्र कुमार और अब्दुल ने संयुक्त रूप से शमा रोशन कर मुशायरे का शुभारंभ किया। डाक्टर रहमान ने शायरों का परिचय करा स्वागत किया। डा. अंजुम बाराबंकी ने सुनाया-‘चरागों ने बड़ी हिम्मत से पूछा, हवा किस वक्त तूफानी रहेगी।’ इसके बाद एजाज अंसारी ने ‘लोग अब सच को सच मानते ही नहीं, किस तरह सच कहें मशविरा दीजिए’ सुनाकर आज के दौर में सच्चे लोगों की मजबूरी पर कटाक्ष किया। सिकंदर हयात कैलाशपुरी ने ‘उसने भीगे हुए आंचल से जो पोंछी आंचल, तब कहीं जाके मेरे होश ठिकाने आए’ सुनाकर तालियां बंटोरीं। अफजल मंगलौरी ने फरमाया-‘मैं तीरगी को उजाला न कह सका हरगिज, नए खुदाओं से मेरा इख्तेलाफ रहा।’ डा. रहमान मुसब्बिर ने महानगर में आने के बावजूद गांव की माटी की खुशबू को पेश किया। उन्होंने सुनाया-‘यूं कहने को तो शहरी तहजीब को मैने ओढ़ लिया, लेकिन अब भी मुझमें गांव का भोला लड़का रहता है।’ शैदा अमरोही ने ‘तुम भी रात में जागे हो क्या किसी भरोसे पर, अईना जरा देखो, है खुमार आंखों में’ सुनाकर खूब तालियां बंटोरीं। एजाज धामपुरी ने ‘गुजरा जो बूढ़ा बाप तो सब भाइयों के बीच, विरसे के साथ साथ दुखी मां भी बंट गई’ की पेशकश देकर प्रभावित किया।
सैयद राशिद हामिदी ने ‘फकीरे शहर रमूजे जिहाद क्या जाने, यहीं से होके तो राह करार गुजरी है’ सुनाया तो डा. निश्तर अमरोही ने ‘आईने के सामने घंटाें तैयारी के बाद, तुम हंसी लगती हो बेगम कितनी दुश्वारी के बाद’ सुनाकर खूब गुदगुदाया। थोड़ी गंभीरता देते हुए अयाज अहमद तालिब की इन पंक्तियों ने काफी प्रभावित किया। उन्होंने सुनाया-‘हद से आंसू गुजर गया कैसे, वो नजर से उतर गया कैसे।’ डा. तनवीर गौहर ने ‘कोई दुख में शरीक होता है, जिसका मरता है वो ही रोता है’ काफी पसंद किया गया। शायर सिकंदर हयात की अध्यक्षता और एजाज अंसारी के संचालन में हुए मुशायरे में अन्य शायरों ने भी श्रोताओं को कलाम सुनाकर उनकी दाद पाई।

Spotlight

Most Read

Jammu

पाकिस्तान ने बॉर्डर से सटी सारी चौकियों को बनाया निशाना, 2 नागरिक की मौत

बॉर्डर पर पाकिस्तान ने एक बार फिर से नापाक हरकत की है। जम्मू-कश्मीर में आरएस पुरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

ये है यूपी का चलता-फिरता सुपर कंम्प्यूटर

सहारनपुर के चिराग का दिमाग कंप्यूटर से भी तेज है। आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले चिराग को 20 करोड़ तक के पहाड़े मुंहजुबानी याद हैं। गणित में कंप्यूटर से भी तेज दिमाग रखने वाले चिराग बड़े होकर वैज्ञानिक बनना चाहते हैं।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper