95 करोड़ से अधिक पर हुई खनिज की नीलामी

Saharanpur Updated Tue, 03 Jul 2012 12:00 PM IST

सहारनपुर। जिले में सीज खनिज को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सोमवार को प्रशासन ने नीलाम कर दिया। बालू, बजरी, बोल्डर के अवशेष के फैले 37 लाख 40 हजार 761 घनमीटर खनिज पर राजस्थान की सैंड एंड स्टोन कंपनी ने 95 करोड़ 62 लाख 13 हजार रुपये की बोली लगाकर अपना कब्जा जमा लिया। खनिज के मूल्यांकन से मात्र 34 लाख रुपये अधिक ही बोली लग पाई।
सोमवार को कलक्ट्रेट सभागार में डीएम अजय कुमार सिंह की अध्यक्षता में सीज उपखनिज की सार्वजनिक नीलामी हुई। उपखनिज की कुल मात्रा 36 लाख 61 हजार 728 रुपये घनमीटर थी, जिसका मूल्य 101 करोड़, 46 लाख 82 हजार 878 रुपये आंका गया था। मगर, इसमें कोर्ट से राहत पाए स्टोन क्रेशर संचालकों से जब्त उपखनिज की मात्रा घटा दी गई। इसके बाद एडीएम (एफ) आरएस दुहन ने शेष बचे 37 लाख 40 हजार 761 घनमीटर खनिज के मूल्य 95 करोड़ 28 लाख 70 हजार 584 रुपये से नीलामी की शुरूआत की। सहारनपुर की अपर माईंस मैनेजमेंट सर्विसेज, राजस्थान की सैंड एंड स्टोन प्राइवेट लिमिटेड जयपुर, अशोक चांडक गंगानगर, शिवा एसोसिएट जवाहरनगर गंगानगर ने एक-एक लाख की बढ़ोत्तरी करते हुए बोली लगानी शुरू की। करीब 22 चरणों में चली नीलामी प्रक्रिया के अंत में राजस्थान की सैंड एंड स्टोन प्राइवेट लिमिटेड ने 95 करोड़ 62 लाख 13 हजार की अंतिम बोली लगाकर सहारनपुर के सीज उपखनिज पर अपना कब्जा जमा लिया। हैरत की बात यह रही कि करीब एक घंटे तक चली नीलामी प्रक्रिया में मात्र खनिज के वास्तविक मूल्य से करीब 34 लाख रुपये ही अधिक की बोली लगाई गई। इनमें भी सहारनपुर की फर्म ने नीलामी की शुरूआत से ही खुद को अलग कर लिया था। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने अनुबंध पत्र आदि तैयार कर उप खनिज का ठेका सैंड एंड स्टोन के नाम कर दिया।

-----------1
पंद्रह फर्मों के जब्त खनिज की नहीं हुई नीलामी
सहारनपुर। पंद्रह फर्मों ने प्रशासन की नीलामी प्रक्रिया के विरुद्ध कोर्ट में याचिका दायर की थी। इस पर कोर्ट ने आदेश दिया था कि पहले जिला खनन अधिकारी फर्मों के प्रत्यावेदन पर सुनवाई करें, उसके बाद ही कोई निर्णय लें। इसी वजह से इन 15 फर्मों के उपखनिज दो लाख 50 हजार 967 रुपये घनमीटर को नीलामी से मुक्त रखा गया था, जिसका मूल्य करीब छह करोड़ 18 लाख 12 हजार 294 रुपये था।

Spotlight

Most Read

Gorakhpur

मानबेला : अफसरों के जाते ही किसानों ने उखाड़ फेंका कब्जे का खूंटा

जीडीए ने पैमाइश के बाद खूंटा गाड़कर राप्ती नगर विस्तार आवासीय योजना के आवंटियों को दिया था कब्जा

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: सहारनपुर में पुलिस बनी ‘यमराज’!

आपको तस्वीर दिखाते हैं सहारनपुर पुलिस के अमानवीय चेहरे की। ये पुलिस का वो चेहरा है जो मरते हुए लोगों को देखता है लेकिन उसकी मानवीयता नहीं जागती।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper