मां महागौरी की पूजा-अर्चना कर सुहागिनों ने मांगा अखंड सौभाग्य का वर

Moradabad  Bureauमुरादाबाद ब्यूरो Updated Sun, 25 Oct 2020 01:12 AM IST
विज्ञापन
रामपुर में दुर्गा अष्टमी पर कन्या पूजन करती महिला। संवाद न्यूज एजेंसी
रामपुर में दुर्गा अष्टमी पर कन्या पूजन करती महिला। संवाद न्यूज एजेंसी - फोटो : RAMPUR

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
रामपुर/दढ़ियाल/सैफनी/मिलक/टांडा/ पटवाई/शाहबाद/मसवासी/भोट/मिलकखानम/स्वार। शनिवार को श्रद्धालुओं ने नवरात्र में अष्टम महागौरी मां की पूजा-अर्चना की। मां महागौरी की पूजा-अर्चना कर जहां एक ओर सुहागिनों ने अखंड सौभाग्य का वरदान मांगा तो वहीं अन्य श्रद्धालुओं ने धन-संपदा और सौभाग्य का वरदान मांगा।
विज्ञापन

शनिवार को श्रद्धालुओं ने नवरात्र व्रतोत्सव में आठवें दिन अष्टमी पूजन किया। श्रद्धालुओं ने सुबह को घर में माता को पुष्प, फल और मेवे अर्पित कर पूजा की। मां दुर्गा, मां काली की आरती के साथ दुर्गा चालीसा और नवरात्र व्रत कथा का पाठ किया। इसके बाद हवन सामग्री, लौंग, कपूर, मिश्री, मेवे आदि के साथ घरों में अज्ञारी पूजन किया। इसके बाद मंदिरों में जाकर माता को श्रंगार की सामग्री, नारियल अर्पित किया और घी-लौंग अर्पित कर कपूर से आरती की। जो श्रद्धालु अष्टमी पूजन करते हैं उन्होंने पूजन के साथ ही हवन करवाया।
नगर में महालक्ष्मी मंदिर, श्री त्रिपुरेश्वरी शक्तिपीठ, श्री दुर्गा मंदिर सिविल लाइंस, मनोकामना मंदिर, माई का थान, श्री हरि मंदिर, श्री नर्मदेश्वर महादेव मंदिर, पंडित दत्ताराम शिवालय आदि मंदिरों में श्रद्धालुओं ने पूजन किया। कोरोना संक्रमण से बचाव के संसाधनों का प्रयोग करते हुए श्रद्धालु मंदिर पहुंचे और मां की पूजा-अर्चना की। महिलाओं ने घरों में माता के छंद गाए।दढ़ियाल में शारदीय नवरात्र के आठवें दिन शनिवार को कस्बे सहित क्षेत्र के गांवों में श्रद्धालुओं द्वारा महाअष्टमी पूजन किया गया। कई श्रद्धालुओं ने शनिवार को ही नवमी पूजन भी किया। । भक्तों ने देवी स्वरूपा कन्याओं का पूजन कर उन्हें भोजन कराया और अपने व्रत खोले । मंदिरों और देवस्थानों में भी शारीरिक दूरी का पालन करते हुए पूजन किया गया।
पिछले आठ दिनों से नवरात्र का व्रत रख रहे श्रद्धालुओं ने शनिवार को पूजाघरों और मंदिरों में हवन पूजन किया । माता के आठवे स्वरूप महागौरी और नौवें स्वरूप सिद्धिदात्री देवी की पूजा अर्चना कर सुख, संपत्ति, समृद्धि और उत्तम स्वास्थ्य की कामना की । इसके बाद देवी स्वरूपा नौ कन्याओं को तलाश किया और उन्हें भोजन कराकर व्रत खोले । कई स्थानों पर कन्याओं के साथ छोटे लड़कों को भी जिमाया गया । श्रद्धालुओं ने देवी स्वरूप कन्याओं का तिलक कर उनका आशीर्वाद लिया और नकद पैसे और उपहार भेंट कर उन्हें विदा किया । इस मौके पर ग्रामीण क्षेत्रों में गावों के देवस्थानों पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रही । श्रद्धालुओं ने कोरोना काल को देखते हुए शारीरिक दूरी का पालन करते हुए पूजन किया ।
सैफनी में भी श्रद्धालुओं ने मां महागौरी की पूजा अर्चना कर सुख-समृद्धि और धन-संपदा का वर मांगा। भक्तों ने अष्टमी पर मां महागौरी का पूजन किया और कपूर, नारियल, फूल, फल, लौंग आदि चढ़ाकर पूजा अर्चना की। वहीं मंदिरों में भक्तों ने भजन कीर्तन कर माता का गुणगान किया। अष्टमी पूजन करने वाले श्रद्धालुओं ने कन्या-बरुआ भी जिमाए।
मिलक में शारदीय नवरात्र पर मां अष्टम महागौरी की पूजा-अर्चना की गई। भक्तों ने कन्याओं को जिमाकर अपने उपवास खोला। नगर एवं क्षेत्र में मां अष्टम महागौरी की पूजा-अर्चना की गई। देव स्थानों और मंदिरों पर भक्तों ने हाजिरी लगाकर पूजा-अर्चना की गई। बाद में घरों पर कन्याओं को जिमाकर उपवास खोला। कई स्थानों पर हवन हुए।
टांडा में शनिवार को नवरात्र अष्टमी, नवमी के मौके परर कन्या पूजन गया। कन्याओं को जिमा कर श्रद्धालुओं ने अपने व्रत पूरे किए और पुण्य अर्जित किया।इसके साथ ही नवरात्र का व्रत रखने वाले लोगों ने कन्याओं की पूजा की और उनको भोजन कराया। उन्हें दक्षिणा के साथ उपहार भी दिए। उपहार पाकर बच्चे भी खुश हुए। कन्या पूजन कर लोगों ने घर में सुख शांति समृद्धि की कामना कर मां का आशीर्वाद लिया। सुबह से ही मंदिरों और देवी स्थानों में भीड़ लगी रही। इस अवसर पर कोतवाली के पास स्थित थाने वाले शिव मंदिर में बीती रात जागरण का आयोजन हुआ। इसके उपरांत सुबह मंदिर में विधिवत पूजन कर समाजसेवी किन्नर मुन्नी तथा भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा प्रसाद वितरण का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पप्पन सक्सेना, भाजपा नगर अध्यक्ष योगेश कुमार सैनी, रोहित सैनी, आसाराम, प्रेम राज, नीटू, रवि पाल, राम मूर्ति देवी आदि उपस्थित रहे। शनिवार को नवरात्र व्रतोत्सव में अष्टमी पूजन ग्रामीण क्षेत्रों व तहसील मुख्यालयों पर भी श्रद्धापूर्वक मनाया गया। श्रद्धालुओं ने अष्टमी पूजन कर कन्या-बरूआ जिमाए और मंदिरों में जाकर पूजा-अर्चना की।सुबह के वक्त श्रद्धालुओं ने पहले घरों में पूजन किया और उसके बाद मंदिरों में जाकर पूजा की। ग्रामीण क्षेत्रों में देवीस्थान और मंदिरों दोनों जगह श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रही। कई स्थानों पर नवमी पूजन भी किया गया। हवन-पूजन के साथ ही श्रद्धालुओं ने कन्या-बरुआ को भोजन कराकर दक्षिणा और उपहार दिए।
000
कन्या-बरूआ जिमाकर किया व्रत पूर्ण
फोटो
रामपुर। जो श्रद्धालु अष्टमी पूजन करते हैं उन्होंने सुबह उठकर पहले घर और फिर मंदिर में पूजा की। कई श्रद्धालुओं ने अष्टमी पूजन के साथ हवन भी करवाया और इसके बाद श्रद्धा भाव से कन्या-बरूआ जिमाए। हलुआ-पूड़ी, चने-छोले आदि का भोग माता को लगाया और फिर कन्या-बरुआ को जिमाया। इसके बाद कन्या-बरुआ का टीकाकर उन्हें उपहार भेंट किए।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X