नुक्कड़ नाटक के माध्यम से दिया संदेश

Rampur Updated Mon, 20 Jan 2014 05:51 AM IST
रामपुर। अमर उजाला की अनूठी पहल ‘बेटी ही बचाएगी’ के तहत शाहजहांपुर के छात्रों ने नुक्कड़ नाटक कर लोगों को बेटी को बेटे के बराबर हक देने का आह्वान किया। छात्रों ने बरेली के नूतन की कहानी का मंचन किया कि कैसे भाई और पिता की मौत के बाद पूरे परिवार को संभालते हुए सभी जिम्मेदारियों को निभाया।
रविवार को शाहजहांपुर की एक संस्था प्रखर संस्कार कल्चरल एंड वेलफेयर सोसायटी से जुड़े छात्र-छात्राओं ने अंबेडकर पार्क में नुक्कड़ नाटक कर परिवार की जिम्मेदारी अपने कंधों पर संभालने वाली बरेली की नूतन की कहानी का मंचन किया। छात्रों ने मंचन किया कि भाई की मौत के बाद बेसहारा महसूस कर रहे अपने पिता को दिलासा दिया और बेटे की भूमिका निभाई। पिता की मौत होने पर उनकी अर्थी का कंधा दिया। परिवार का मुखिया बन मां और बहन की तमाम जिम्मेदारियों को पूरा किया। नुक्कड़ नाटक के निर्देशक संजीव कुमार ने कहा कि इस मंचन का उद्देश्य लोगों को यह समझाना है कि यदि बेटी को मौका देंगे तो वह किसी भी मायने में बेटे से कमतर साबित नहीं होगी। संजीव कुमार, पल्लवी कश्यप, गौरव सिंह, रमेश यादव, नितिन वर्मा, सत्यनारायण शर्मा ने नुक्कड़ नाटक में विभिन्न भूमिकाओं को अदा किया। नुक्कड़ नाटक देखने के लिए पार्क में लोगों का जमावड़ा लग गया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

रामपुर में मोटरसाईकिल के लिए पत्नी को दिया तीन तलाक

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सरकार ने तीन तलाक पर कानून बनाने का फैसला तो जरूर कर लिया लेकिन इसका असर दिखाई नहीं दे रहा है।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls