विज्ञापन
विज्ञापन

बीमार दरोगा से मिलकर एसपी ने घटना की जानी सच्चाई

Lucknow Bureauलखनऊ ब्यूरो Updated Thu, 19 Sep 2019 12:24 AM IST
ख़बर सुनें
रायबरेली। बछरावां के भाजपा विधायक रामनरेश रावत और दरोगा डीके राय के बातचीत के ऑडियो वायरल के मामले में बुधवार सुबह एसपी स्वप्निल ममगाई ने जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड का दरवाजा बंद कराकर बीमार दरोगा के बयान दर्ज किए और उससे घटना की सच्चाई जानी। एसपी ने दरोगा को धैर्य बंधाया और कहा कि परेशान मत हो। न्याय होगा। गौरतलब है कि विधायक की धमकी के बाद मंगलवार को दरोगा डिप्रेशन में आने से बीमार हो गया था। इस पर दरोगा को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
विज्ञापन
सेहत में सुधार होने पर दोपहर करीब 12 बजे दरोगा डीके राय को जिला अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। इसके बाद एएसपी ने अपने कार्यालय में दरोगा के बयान दर्ज किए। एएसपी शशिशेखर सिंह ने बताया कि बीमार दरोगा से उनकी सेहत के साथ ही घटना की बाबत भी जानकारी ली गई है। एएसपी का कहना है कि भाजपा विधायक रामनरेश बाहर हैं। उनके यहां आने पर विधायक के भी बयान दर्ज किए जाएंगे। जल्द पूरे मामले की जांच रिपोर्ट एसपी को सौंपी जाएगी।
विधायक जी की ज्यादती सहन-सहन करते थक गया था। इसलिए आवाज उठाना जरूरी था। किसी को भी बेइज्जत करना विधायक के लिए आम बात है। हर कार्य में दखल दिया जाता है। सहन भी करने की एक क्षमता होती है। यहां तो हद हो गई थी। अमर उजाला से बातचीत में जिला अस्पताल में भर्ती दरोगा ने कुछ इसी तरह अपनी बात कही। कहा मुझे मेरे पुलिस अफसरों पर पूरा भरोसा है कि मेरे साथ न्याय होगा।
लखनऊ के उतरेठिया की रहने वाली महिला बुधवार को एसपी से मिलकर न्याय की गुहार लगाई। एसपी को दिए पत्र में महिला ने कहा कि दरोगा डीके राय ने उसके पति को फर्जी मामले में जेल भेज दिया। बचाने के नाम पर 20 हजार भी रुपये लिए। विधायक के कहने पर दरोगा ने 18500 रुपये वापस कर दिए थे। इसके बाद भी दरोगा उसका उत्पीड़न कर रहा था। एसपी ने कार्रवाई का भरोसा दिया।
शिवगढ़ ब्लॉक परिसर में बुधवार को ग्राम प्रधानों और भाजपा कार्यकर्ताओं ने भाजपा शिवधायक रामनरेश रावत को समर्थन दिया। कहा कि पुलिस बिना पैसे लिए कोई कार्य करना नहीं चाहती। वाहन चेकिंग से लेकर फर्जी मुकदमों तक में बिना धन लिए कोई कार्य नहीं करती है। शासन की मंशा के विपरीत वर्तमान में पुलिस कार्य कर रही है।
भाजपा सरकार की छवि खराब करने के लिए इस तरीके के कूटरचित कार्य किए जा रहे हैं। आम आदमी परेशान है। ऐसी स्थिति में यदि जनप्रतिनिधि उससे कुछ कहता है तो मुकदमे का दबाव बनाया जाता है। जनप्रतिनिधि के लिए इस तरह का पुलिस का रवैया है तो आम आदमी को न्याय कैसे मिलेगा। इस मौके पर प्रधान संघ अध्यक्ष विनोद सिंह, सतेंद्र सिंह भदौरिया, पवन सिंह, हनुमान सिंह आदि मौजूद रहे।
विज्ञापन

Recommended

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?
Junglee Rummy

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Lucknow

प्रियंका का हमला- यूपी में दिनदहाड़े हो रही महिलाओं की हत्याएं, बहानेबाजी छोड़ काम करे सरकार

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने मंगलवार को योगी सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि यूपी में जंगलराज कायम है।

22 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

भाजपा शासित राज्यों ने की तैयारी, जल्द हो सकती है नई जनसंख्या नीति लागू

दो से ज्यादा बच्चों वाले लोगों को भाजपा शासित राज्यों में धीरे-धीरे सभी सरकारी योजनाओं के लाभ से वंचित होना पड़ सकता है।

23 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree