6.45 करोड़ फंसे, कैसे पूरा हो लक्ष्य

Raebareli Updated Mon, 24 Dec 2012 05:30 AM IST
रायबरेली। डॉ. राम मनोहर लोहिया समग्र गांवों में शौचालयों के निर्माण के लिए आया धन ग्राम पंचायतों तक नहीं पहुंच पा रहा है। जिला पंचायतराज अधिकारी के संबंधित खाते में ही 6.45 करोड़ रुपये डंप हैं। डीएम के छुट्टी पर होने के कारण अनुमोदन नहीं मिल पा रहा है। ऐसी स्थिति में समग्र गांवों में शौचालयों के निर्माण का कार्य आरंभ नहीं हो पा रहा है। निर्मल भारत अभियान के तहत समग्र गांवों में सभी परिवारों को शौचालय उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। गांवों का सर्वे कराने के बाद अब गांवों को शौचालय निर्माण के लिए धन भेजने की व्यवस्था की जा रही है। 9200 रुपये में एक शौचालय बनाया जाएगा। इसमें मजदूरी मनरेगा योजना से ग्राम पंचायतें खर्च करेंगी। शेष धनराशि जिला पंचायतराज विभाग उपलब्ध कराएगा। जिला पंचायतराज विभाग 6.45 करोड़ रुपये ग्राम पंचायतों को देगा। शौचालयाें के निर्माण के लिए 4.80 करोड़ रुपये की पहली किस्त ग्राम पंचायतों के खातों में भेजने की प्रक्रिया चल रही है। विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है, लेकिन डीएम से अनुमोदन न मिल पाने के कारण धन ग्राम पंचायतों तक नहीं पहुंच पा रहा है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, पांच साल की सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls