उमर सारथी, गांव में चौपाल और ब्रेड का नाश्ता

Raebareli Updated Wed, 19 Dec 2012 05:30 AM IST
जायस (अमेठी)। कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी का मानना है कि महिलाएं घर की चौखट लांघ स्वयं सहायता समूहों के जरिये तरक्की का सफर तय कर सकती हैं। जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के साथ अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचे कांग्रेस सांसद ने मंगलवार को स्वयं सहायता समूहों की प्रगति देखने के बाद कहा कि आधी आबादी की खुशहाली में ही सबकी तरक्की है। महिलाएं खुद को उपेक्षित न समझें। उमर व राहुल ने एक महिला द्वारा संचालित बेकरी को देखा और डबलरोटी (ब्रेड) खरीदकर खाई। सांसद ने गिरधारी का पुरवा गांव में चौपाल लगाई तो ग्रामीणों ने पानी, बिजली, सड़क की समस्या से उन्हें अवगत कराया, जिस पर उन्होंने निराकरण का भरोसा दिया।
अमेठी सांसद राहुल गांधी फुरसतगंज एयरपोर्ट पर विशेष विमान से सुबह 10.15 बजे पहुंचे। उनके साथ जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और सैफुद्दीन सोज भी थे। सांसद का काफिला रवाना हुआ तो उमर अब्दुल्ला राहुल के सारथी की भूमिका में आ गए और गाड़ी की स्टीयरिंग संभाल ली, राहुल बगल वाली सीट पर बैठे थे। अचानक राहुल का काफिला गिरधारी का पुरवा गांव पहुंचकर रामसजीवन रैदास के घर रुका तो ग्रामीणों का वहां पर मजमा लग गया। किसी की खुशी का ठिकाना ही नहीं था कि राहुल आए हैं। राहुल चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनने लगे। सभी ने बताया कि गांव का इकलौता हैंडपंप चार साल से खराब पड़ा है, जिससे कुएं का पानी पीना पड़ रहा है। बिजली, सड़क की भी समस्या है। उन्होंने प्रधान पति बाबूलाल को बुलाकर गांव के विकास कार्यों की हकीकत जानी और समस्याएं जल्द दूर कराने का भरोसा दिया।
यहां के बाद राहुल का काफिला कासिमपुर गांव पहुंचा, जहां 14 समूह की महिलाओं से समूह की प्रगति को जाना। सांसद ने महिलाओं से स्वास्थ्य, शिक्षा के बारे में भी जानकारी की। उन्होंने महिलाओं से पूछा कि हिंदी के साथ अंग्रेजी का ज्ञान होना क्यों जरूरी है। इस पर समूह की महिलाओं ने कहा कि बाहरी लोग आते हैं तो उनकी बात समझ में नहीं आती, इसलिए हिंदी के साथ अंग्रेजी का ज्ञान जरूरी है। इस पर राहुल खुश हुए। कहा कि महिलाएं इसी तरह आगे बढ़ती रहें। उनकी खुशहाली से हम सबकी नहीं, बल्कि देश की तरक्की होगी। राहुल के साथ ही जम्मू-कश्मीर के सीएम ने समूह की महिलाओं की ओर से किए जा रहे कार्यों के बारे में पूछताछ की। बैठक के बाद सांसद ने स्वयं सहायता समूह की सदस्य किस्मतुन के घर पहुंचकर उनके बेकरी उद्योग को भी देखा। जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री ने 10 रुपये देकर डबलरोटी (ब्रेड) खरीदी। खुद खाने के साथ राहुल गांधी और सैफुद्दीन सोज को भी खिलाई। बाद में राहुल ने किस्मतुन को 500 रुपये दिए। यहां के बाद राहुल का काफिला बहादुरपुर ब्लॉक क्षेत्र के राजीव गांधी महिला प्रशिक्षण केंद्र पहुंचा, जहां पर समूह की महिलाओं से मिले। सांसद और जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री ने एक घंटे तक समूह की महिलाओं से मुलाकात की। समूह की महिलाएं चंदाशेख, शीला सिंह, लक्ष्मी, सावित्री, सुषमा से समूह की प्रगति जानी। समूह की महिलाओं से मुलाकात करने के बाद राहुल एयरपोर्ट चौराहा फुरसतगंज स्थित दुग्ध अवशीतन केंद्र में आयोजित कृषक गोष्ठी में शामिल हुए। यहां पर उन्होंने महिलाओं को पशुपालन, खेती-किसानी में भी रुचि दिखाने के लिए कहा।

Spotlight

Most Read

Dehradun

देहरादून: 24 जनवरी को कक्षा 1 से 12 तक बंद रहेंगे सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र

मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में बारिश की चेतावनी के चलते डीएम ने स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र बंद करने के निर्देश जारी किए हैं।

23 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper