बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

डीएम-एसपी पहुंचे जेल, हड़कंप

प्रतापगढ़ ब्यूरो Updated Sun, 29 Jul 2018 12:00 AM IST
विज्ञापन
news
news - फोटो : pratpgarh
ख़बर सुनें
एनआईसी में वीडियोकांफ्रेंसिग के बाद जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक दलबल के साथ जिला कारागार का औचक निरीक्षण करने जा पहुंचे। इससे जेल में हडक़ंप मच गया। करीब डेढ़ घंटे तक बंदियों की बैरकों की सघन तलाशी लेने के बाद अफसर बाहर निकले। हालांकि कोई भी आपत्तिजनक सामग्री हाथ नही लगी।
विज्ञापन

कचहरी स्थित एनआईसी में शनिवार को जिलाधिकारी शंभु प्रसाद, पुलिस अधीक्षक देवरंजन वर्मा और सीडीओ राजकमल वीडियोकांफ्रेंसिग में शामिल होने पहुंचे। यहां के बाद सभी अफसर फोर्स के साथ अचानक जिला कारागार पहुंचे। अधिकारियों के पहुंचते ही हडक़ंप मच गया। जेल के भीतर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक अलग-अलग बैरकों की सघन चेकिंग करने लगे। करीब डेढ़ घंटे तक बंदियों की बैरकों में सघन तलाशी ली गई। सूत्रों की मानें तो आठ व दस नंबर बैरक में मोबाइल व सिम मिलने की चर्चा रही। हालांकि निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी ने कोई भी आपत्तिजनक सामग्री मिलने से इंकार करते हुए कहा कि औचक निरीक्षण कर जेल की हकीकत देखा गया। फिलहाल जो कमियां है। उसे दुरुस्त करने के लिए  जेल अधीक्षक को निर्देश दिया गया है। अफसरों के जाने के बाद जेल प्रशासन ने राहत की सांस ली।


जेल से निकली पोटली में क्या था छिपाया
जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के निरीक्षण के दौरान जेल से भले ही आपत्तिजनक सामग्री न मिलने की बात अधिकारी कह रहे हों लेकिन चर्चाओं पर यकीन करें तो जेल के भीतर तलाश के समय अधिकारियों के हाथ प्रतिबंधित सामग्री हाथ लगी है। अफसरों के साथ बाहर निकला एक पुलिसकर्मी पोटली लेकर बाहर निकला। जिसे डीएम की सुरक्षा वाले वाहन में रखवाया गया। सूत्रों की मानें तो पोटली में मोबाइल, सिम के साथ ही कुछ प्रतिबंधित खाद्य सामग्री थी। जेल अधीक्षक को जिलाधिकारी ने फटकार भी लगाई थी।

महिलाओं की तलाशी में होती है दिक्कत
जेल निरीक्षण कर बाहर निकल रहे जिलाधिकारी शंभु कुमार जेल अधीक्षक के ऊपर खासे नाराज थे। बोले कि प्रतिबंधित सामग्री जेल के भीतर कैसे पहुंच रही है। जेल अधीक्षक ने बताया कि बंदियों से मिलने के लिए जो महिलाएं जाती हैं। वह अपने साथ प्रतिबंधित सामग्री छिपा कर ले जाती हैं। तलाशी के लिए जो व्यवस्था है। आए दिन वह प्रभावित होती हैं। यह सुनते ही डीएम ने निर्देश दिया कि वह बाहर ही कपड़े का पर्दा बनवाएं। जहां महिलाओं की महिला पुलिस सघन तलाशी लें। इसके बाद वह जेल में मुलाकात के लिए जाएं। गत दिनों हुई बैरक नंबर आठ में हुई मारपीट व बरामद मोबाइल के बारे में जेल प्रशासन मौन साधे रहे।

नैनी से बेल्हा की जेल भेजे गए सपा नेता
पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच शनिवार को हत्या के मामले में नैनी जेल में निरुद्ध सपा नेता एहतेशाम जैदी को प्रतापगढ़ कारागार लाया गया। सपा नेता एहतेशाम जैदी रामपुर खास विधानसभा से वर्ष 2012 में सपा से चुनाव लड़ चुके हैं। वह फूलपुर में हुई हत्या के मामले में अभी तक नैनी जेल में बंद थे। सुरक्षा कारणों से एहतेशाम को प्रतापगढ़ की जेल भेजा गया।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X