आखिर कहां छुपा बैठा है विकास

Pratapgarh Updated Wed, 22 Jan 2014 05:44 AM IST
15 हजार रुपये के इनामी और मोस्ट वांटेड अपराधी विकास की चक्रव्यूह रचना भेदने में खाकी की सारी तकनीक बेकार साबित हो रही है। विकास जिले की पुलिस को चुनौती देते हुए वारदातों को अंजाम दे रहा है। सर्विलांस के जरिए उस तक पहुंचने का प्रयास भी कामयाब नहीं हो रहा है। विकास वर्तमान में 40 से अधिक मोबाइल और 100 से अधिक सिम का प्रयोग कर चुका है। एक सिमकार्ड से सिर्फ एक बार बात करने के बाद वह उसे फेंक दे रहा है।
28 अगस्त 2013 को पूर्व मंत्री मोती सिंह के भतीजे मुन्ना सिंह से लूट करने के बाद नगर कोतवाली के गोंडे़ गांव निवासी विकास सिंह की तलाश शुरू हुई। पुलिस ने इसका खुलासा भी किया लेकिन विकास हाथ नहीं आया। इसके बाद उसने जूनियर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजदत्त मिश्र की हत्या सहित कई घटनाआें को अंजाम दिया। 13 जनवरी को राजदत्त हत्याकांड का रायबरेली जिले में खुलासा करने के बाद विकास को मुख्य अभियुक्त बनाया गया। पुलिस ने उसके घर रिश्तेदाराें के साथ ही दोस्ताें पर शिकंजा कसा और ताबड़तोड़ दबिश देकर कई लोगाें को हिरासत में लिया। इसके बाद भी पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली। वर्तमान समय में पुलिस का अमोघ अस्त्र सर्विलांस भी विकास की तलाश में मदद नहीं कर सका। पुलिस सूत्राें की मानें तो विकास हर बार न सिर्फ नया सिमकार्ड प्रयोग कर रहा है बल्कि मोबाइल सेट भी बदल रहा है। सर्विलांस पर लगी टीमाें ने करीब 40 मोबाइल का आईएमआई नंबर लेकर सर्विलांस पर लगाया लेकिन उन्हें कोई सफलता नहीं मिल सकी। मुश्किल से कुछ नंबर हासिल कर सर्विलांस पर लगाया गया लेकिन वे नंबर चले ही नहीं। मोबाइल के जो आईएमआई नंबर पुलिस को मिले उनमें हर बार सिमकार्ड बदलकर बात की गई। ऐसे में विकास और उसके साथियाें की तलाश में लगी पुलिस टीमें सिर्फ सुल्तानपुर, जौनपुर, आजमगढ़ और इलाहाबाद के लिए भागदौड़ ही कर रही हैं। विकास को पकड़ने की संभावना उनसे दूर होती जा रही है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls