मार्च तक बन जाएगा गंगा पर पुल

Pratapgarh Updated Mon, 20 Jan 2014 05:43 AM IST
कुंडा/परियावां। तहसील क्षेत्र के लोगों को वर्ष 2014 में एक और तोहफा मिलने जा रहा है। लगभग सात वर्षों पूर्व तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की रखी नींव को जल्द ही अमली जामा पहना दिया जाएगा। पांच वर्षों तक बसपा शासन में धन न मिलने से रुके काम को वर्तमान में युद्ध स्तर पर कराया जा रहा है। इसे 31 मार्च तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। पुल निर्माण पूरा होने से प्रतापगढ़, कौशाम्बी, फतेहपुर की दूरी कम हो जाएगी।
प्रतापगढ़, कौशाम्बी, फतेहपुर, बांदा, चित्रकूट आदि को मिलाने के लिए कुंडा तहसील क्षेत्र के संग्रामपुर ग्राम सभा के सामने गंगा पर पुल बनने का प्रस्ताव हुआ। गंगा पर पुल बनाने के लिए तीन जनवरी 2007 को सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने शिलान्यास भी कर दिया। पहली किस्त मिलते ही सेतु निगम ने निर्माण कार्य प्रारंभ करा दिया। मगर विधानसभा चुनाव में बसपा की सरकार बनी तो पुल पर ग्रहण लग गया। पुल निर्माण की गुणवत्ता की जांच के नाम पर रोके गए धन को पांच सालों तक रिलीज नहीं किया गया जबकि पुल का अधिकांश कार्य पूरा हो गया था। मात्र दो-तीन पावे बनने और ऊपर का काम होने के बाद आवागमन बहाल हो सकता था। विधानसभा चुनाव पर सपा की सरकार बनी तो लोगों की आस फिर जिंदा हो गई। कुछ माह पूर्व सरकार ने 49वें ब्रिज के रूप में इस पुल को वरीयता दी तथा जल्द ही इसे पूरा कराने का निर्देश जारी करते हुए धन मुहैया कराया तो प्रबंध निदेशक उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निर्माण निगम राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने पहुंच कर हकीकत देखी तथा 31 मार्च तक हर हाल में काम पूरा कराने के निर्देश दिए। 35 करोड़ रुपये कीमत से बन रहे पुल के सभी पावेे वर्तमान में तैयार हो गए हैं, सिर्फ ऊपर का काम पूरा करने के साथ राजमार्ग से जोड़ने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। इसके लिए अवर अभियंता बीके त्रिपाठी के निर्देशन में काम चल रहा है। सूत्रों की मानें तो नए वित्तीय वर्ष में उक्त पुल जनता को समर्पित करने के लिए सपा सरकार ने पूरी ताकत झोंक रखी है। इसके लिए पीडब्लूडी के अफसरों ने भी सर्वे के साथ ही कागजी कार्रवाई शुरू कर दी है।
विकास क्षेत्र कालाकांकर के संग्रामपुर में गंगा पर पक्का पुल बनने के बाद मानिकपुर, कुंडा, परियावां का व्यापार सीधे फतेहपुर, कौशाम्बी से जुड़ जाएगा। इसका पूरा फायदा भी कुंडा के लोगों को मिलेगा। क्योंकि पुल नहीं होने से तमाम लोग विभिन्न संसाधनों से इलाहाबाद आदि घूमकर कुंडा, मानिकपुर, परियावां व्यापार करने आते-जाते हैं। इसमें उनका काफी नुकसान होता है।
कालाकांकर के संग्रामपुर में गंगा पर पुल बनने एवं राजमार्ग से जुड़ने के बाद प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, फैजाबाद, अयोध्या, रायबरेली, फतेहपुर, कौशाम्बी, बांदा, चित्रकूट आदि जनपदों की दूरियां कम हो जाएगी। इससे जहां लोगों को आवागमन में सुविधा होगी, वहीं संसाधन भी बढ़ेंगे, जिसका सीधा लाभ स्थानीय जनता को मिलेगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू यादव को तीसरे केस में 5 साल की सजा, कोर्ट ने 10 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls