‘नंबर गेम’ में अब शुरू हुआ नया खेल

Pratapgarh Updated Sat, 22 Dec 2012 05:30 AM IST
प्रतापगढ़। अमर उजाला के ‘स्टिंग आपरेशन’ से शहर में ‘नंबर गेम’ का खुलासा होने के कई दिन बाद भी खामी शर्मसार रही। लाटरी के जरिए लोगों को लूट रहे संचालकों के गिरेबान तक पुलिस के हाथ नहीं पहुंच सके। अड्डों की तलाश के लिए अफसरों से मिले निर्देश भी बेकार साबित हो रहे हैं। लुंजपुंज व्यवस्था देख लाटरी संचालक अब नंबरों के रेट बढ़ाने की फिराक में हैं।
शहर में लाटरी चला कर मध्यम व गरीब तबके के लोगों को खुलेआम लूटा जा रहा है। सूत्र बताते हैं कि शहर में लाटरी के कई काउंटर अब भी संचालित हैं। एमडीपीजी के सामने गुमटी में चल रही लाटरी अब पास की एक गली में चलने लगी है। पुरानामाल गोदाम रोड के सामने भी गुमटी का ठिकाना बदल गया है। इसकी जगह अब पास के एक होटल में लाटरी खेलाई जा रही है। रामलीला मैदान के पास चल रही लाटरी का भी स्थान बदल दिया गया है। अब यह काम एक कमरे से होने लगा है। खुलासा होने के बाद लाटरी संचालकों ने अड्डा तो बदल दिया मगर हर माह रकम वसूल रही पुलिस की खामोशी नहीं टूट सकी। एसपी से लेकर एएसपी तक का कहना था कि अड्डों की जांच के लिए सीओ सिटी और चौकी इंचार्जों को लगाया गया है। कई दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ लाटरी संचालक तो दूर उनके अड्डे का पता भी नहीं लगा सकी। खाकी के इस रवैये को देखते हुए लाटरी संचालक अब नंबरों का दाम बढ़ाने की जुगत में हैं।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017