अपराधियों का हथियार बना बगैर आईडी सिम

Pratapgarh Updated Sun, 16 Dec 2012 05:30 AM IST
प्रतापगढ़। दुकानों पर बगैर आईडी के बिकने वाले सिम अपराधियों के लिए हथियार बन गए हैं। मोटी कमाई और उपहारी योजना का लाभ उठाने के लिए किराना और जनरल स्टोर की दुकानों पर खुलेआम एक्टीवेटेड सिम बिक रहे हैं। इसका दुरुपयोग अपराधी और बदमाश किस्म के लोग कर रहे हैं।
मोबाइल उपभोक्ताओं को आकर्षित करने के लिए निजी कंपनियों में फर्जी आईडी प्रूफ के ही सिम बांटने की होड़ लगी हुई है। कमाई के चक्कर में एक्टीवेेटेड सिम आम आदमियों की नींद ही नहीं हराम कर रहे बल्कि जान के दुश्मन भी बन गए हैं। लूट, अपहरण, हत्या, राहजनी, चोरी की घटनाओं में ऐसे ही सिम का प्रयोग किया जा रहा है। अंतू में छात्र का अपहरण, लालगंज में हत्या, आसपुर देवसरा के पेट्रोलपंप लूटकांड सहित सैकड़ों मामलों में फर्जी आईडी सिम को आधार बनाकर घटना को अंजाम दी गई।
फर्जी आईडी के जरिए बिकने वाले सिम में दुकानदार खेल कर रहे हैं। एक व्यक्ति की आईडी की छायाप्रति कराकर सिम बेचकर उपहारी योजना का लाभ कमाते हैं। फिलहाल बीएसएनएल ने सावधानी बरतनी शुरू कर दी है। बगैर आईडी प्रूफ के सिम एक्टीवेट नहीं होता। अधिकृत दुकानों से सिम तो मिल जाएगा मगर वह विभाग में आईडी प्रूफ पहुंचने पर ही क्रियाशील होता है। मगर निजी कंपनियों के अधिकृत डीलरों की बात मानें तो दुकानदारों को इस शर्त पर सिम दिए जाते हैं कि वे आईडी प्रूफ की छायाप्रति और मूल कापी से मिलान करने के बाद ही सिम दें। मगर दुकानदार कमाई के चक्कर में सिर्फ विश्वास पर सिम दे देते हैं। बीएसएनएल के जिला प्रबंधक आरएन यादव ने बताया कि उनके यहां ऐसे सिम की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।
केस एक - अंतू में छात्र निखिल के अपहरण कांड में शामिल बदमाशों के सिम फर्जी पते पर लेने की पुष्टि हुई है। टाउन एरिया अंतू स्थित एक दुकान से आरोपियों ने जो सिम खरीदा था उस पर फोटो और आईडी किसी और की लगी हुई थी। यह कारनामा दुकानदार ने स्वयं कर दिखाया था। पुलिस ने लखनऊ स्थित मुख्यालय से जांच कराई तो फर्जी आईडी पर सिम लेने का खुलासा हुआ। एसपी किरण एस ने दुकानदार और खरीददार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है।
केस दो - डाकखाना रोड निवासी राम निरंजन के घर अचानक एक दिन रात में कानपुर पुलिस पहुंची और जबरन गाड़ी पर बैठाने लगी। परिजनों ने जब कारण पूछा तो कानपुर के एक व्यक्ति को जान से मारने की धमकी देने का आरोप था। राम निरंजन के गिड़गिड़ाने पर पुलिस ने छोड़ दिया। पुलिस की जांच में साबित हुआ कि जिस आईडी प्रूफ से उसने सिम लिया था उसी की फोटोकापी कर दुकानदार ने दूसरा सिम बेच दिया। पुलिस ने दुकान पर छापा मारा तो दुकानदार भाग निकला।
केस तीन - पुलिस लाइन में ट्रेनिंग कर रहे एक सिपाही ने दूसरे के नाम पते पर सिम लेकर दक्षिण भारत में तैनात एक एसपी की पत्नी से अश्लील बातें और एसएमएस भेज रहा था। एसपी की पत्नी ने कई बारे उसे सचेत किया लेकिन वह बाज नहीं आया। मजबूर होकर उसने अपने पति को जानकारी दी। पति ने जब जांच कराई तो सिम की लोकेशन प्रतापगढ़ मिली। इस पर उन्होंने यहां के एसपी से बात की। जांच में पता चला कि युुवक और कोई नहीं बल्कि ट्रेनी सिपाही है। सिम उसने दुकानदार के जरिए दूसरे की आईडी पर प्राप्त किया था। इसके बाद उसे निलंबित कर दिया गया। दुकानदार ने यह कहकर अपना पिंड छुड़ा लिया कि उसे धमकाकर सिम लिया गया था।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ओपी सिंह कल संभालेंगे यूपी के डीजीपी का पदभार, केंद्र ने किया रिलीव

सीआईएसएफ के डीजी ओपी सिंह को रिलीव करने की आधिकारिक घोषणा रविवार को हो गई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper