अंबेडकर चौराहे पर भी अवैध पार्किंग

Pratapgarh Updated Sat, 15 Dec 2012 05:30 AM IST
प्रतापगढ़। शहर में पार्किंग के अभाव में रोड के किनारे ही गाड़ियां पार्क कर दी जाती हैं। लोग सड़क किनारे ही गाड़ियां ख़ी कर खरीदारी करने चले जाते हैं। इसकी आड़ में डग्गामार चालक जगह-जगह वाहन खड़े कर सवारियां बैठाने लगते हैं। मंगलवार को एसपी के आदेश पर ट्रैफिक पुलिस ने ऐसी गाड़ियों को क्रेन से लादकर पुलिस लाइन भेजना शुरू किया तो हड़कंप मच गया। एक दिन खानापूरी करने के बाद पुलिस शांत हो गई और डग्गामार वाहनों का अड्डा बरकरार है। अंबेडकर चौराहे पर तो बेखौफ वाहन चालक बीच सड़क पर लाइन से दर्जनों डग्गामार खड़े कर देते हैं। इसके चलते जाम लग जाता है। वाहन न भी उधर से निकले तो इनकी ही धमाचौकड़ी से पूरा रोड बंद रहता है। यही नहीं रोडवेज की बसें जाम में फंसी रहती हैं। एसपी आफिस से महज 100 मीटर दक्षिण कटरा रोड पर भी वाहनों का जमावड़ा रहता है। 100 मीटर उत्तर ट्रेजरी चौराहे के पास टेंपो लाइन से खड़े रहते हैं। समीप स्थित राजापाल चौराहे इन दिनों सीवर खोदाई के चलते जाम लगा रहता है। एक दिन चले अभियान से ऐसा लगा कि शहर की आधी समस्या खत्म हो गई लेकिन दूसरे दिन से फिर वही हालात उत्पन्न हो गए।
बस अड्डा के पास ही अंबेडकर चौराहे पर डग्गामार वाहनों का जमावड़ा रहता है। यात्री बस अड्डे पर पहुंच ही नहीं पाता है और रास्ते में ही डग्गामारी करने वाले लोग इन्हें रोक लेते हैं। इन छोटे वाहनों में सवारियां कम आने के कारण यह जल्द स्टापेज छोड़ देते देते हैं। इसके साथ ही रोडवेज से इसका किराया थोड़ा सा कम होने से भी लोग इन वाहनों को तरजीह देते हैं। उधर भंगवा चुंगी चौराहे पर भी यही हाल है। पुलिस चौकी के ठीक सामने डग्गामार बसें सड़कों पर खड़ी रहती हैं। रोडवेज बस आती है तो उसे खड़े होने की जगह नहीं मिल पाती। यह नजारा देखने के बाद भी पुलिस कोई कदम नहीं उठाती। बाबागंज में थाने और तहसील के गेट के 10 मीटर बगल ही रानीगंज जाने वाले टेंपो अड्डा लगाए होते हैं। इन्हें कभी सड़क से हटाया नहीं जाता न ही इन पर कोई कार्रवाई होती है।
रोड पर जाम लगाने के लिए डग्गामार चालक 50 फीसदी जिम्मेदार हैं। इनके लिए कोई अड्डा निर्धारित नहीं है। जब भी कभी पुलिस की जीप इधर से गुजरती है तो थोड़ी हलचल जरूर होती है। दरोगा और कोतवाल को देखकर चालक हाथ जोड़कर खड़े हो जाते हैं। चौराहे पर लगे ट्रैफिक के सिपाही भी इन्हें रोक नहीं पाते। सिर्फ वाआईपी या किसी मंत्री स्तर के नेता के निकलने पर वर्दी वाले जरूर इन्हें खदेड़ देते हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017