दबोचे गए अपहर्ता, छूटी पकड़

Pratapgarh Updated Thu, 13 Dec 2012 05:30 AM IST
प्रतापगढ़। अंतू थाना क्षेत्र के कपासी गांव से अगवा किया गया सैनिक का बेटा बरामद कर लिया गया है। उसे गांव के ही दो लोगों ने फिरौती के लिए उसे अगवा किया था। पुलिस ने क्षेत्र के लोहयानगर बाजार से छात्र को बरामद करने के साथ दो अपहर्ताओं को दबोच लिया।
कपासी गांव निवासी थल सेना में हलवदार उमाशंकर का पुत्र निखिल (8) को मंगलवार पूर्वाह्न स्कूल से लौटते समय अगवा कर लिया गया। वह घर नहीं पहुंचा तो करीब तीन बजे उसकी बहन स्कूल गई। वहां भी वह नहीं मिला तो लोग परेशान हो उठे। शाम 4 बजे निखिल के चाचा दयाशंकर के मोबाइल पर पांच लाख रुपये फिरौती की मांग आई तो हर कोई हैरान हो उठा। एसओ अंतू को फोन किया गया लेकिन वह सक्रिय नहीं हुए। रात करीब आठ बजे अधिकारियों को अवगत कराने के बाद पुलिस हरकत में आई। एसपी ने एसओजी को भी लगाया। प्रभारी अरविंद सिंह अपने हमराहियों और एसओ अंतू के साथ अपहर्ताओं की तलाश करने लगे। छात्र को स्कूल ड्रेस में ही अपहर्ता सफेद मार्शल गाड़ी से लेकर जा रहे थे। पुलिस ने अमेठी मार्ग पर लोहियानगर तिराहे के पास मार्शल को रोक लिया। गाड़ी में निखिल मौजूद था। पुलिस ने उसे अगवा करने वाले कपासी गांव निवासी लवकुश शुक्ला उर्फ आचार्य और अनिल शुक्ला को दबोच लिया। इनमें से एक के पास से 315 बोर का तमंचा भी बरामद हुआ। अपहरण का खुलासा करने वाली टीम को डीआईजी इलाहाबाद एन रवींद्र ने पुरस्कृत किया है।
छात्र निखिल के अपहरण मामले में अंतू पुलिस ने सात लोगों को हिरासत में लिया और चालान सिर्फ दो का किया। अपहरण के खुलासे के लिए अंतू पुलिस और एसओजी की टीम भले ही वाहवाही लूट रही हो मगर इसके पीछे सीआरपीएफ में तैनात अपहृत के चाचा की भूमिका अहम रही है।
अपहरण की सूचना मिलने के बाद से पुलिस हाथ पर हाथ रखकर बैठी थी। रात साढे़ ग्यारह बजे के बाद आरोपियों का मोबाइल बंद होने की दशा में पुलिस पूरी तरह निराश हो गई थी। सूत्राें के अनुसार लखनऊ पुलिस में सिपाही पद पर तैनात अगवा छात्र के चाचा सुनील कुमार मिश्र ने सर्विलांस से फिरौती मांगने वाले नंबर से पूर्व में बातचीत वाले नंबरों को ट्रेस करने पर पड़ोस का एक युवक गिरफ्त में आ गया। पुलिस ने उसे हिरासत में लिया तो साजिश का खुलासा होता चला गया। अमेठी जनपद के धम्मौर के निकट गन्ने के एक खेत से अगवा निखिल को बरामद करने के साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी में पुलिस को सफलता मिल गई। पुलिस ने इस मामले में अमेठी के दो लोगों समेत सात को गिरफ्त में लिया। मगर खुलासे में पुलिस ने नई कहानी रच दी। पुलिस ने खुलासे में थाने से महज दो किलोमीटर की दूरी पर आरोपियों को दबोचने की बात कही है। गंभीर सवाल है कि अगर दो किलोमीटर की दूरी पर आरोपी थे तो आरोपियों को खोजने में चौदह घंटे से अधिक वक्त कैसे लग गया। बुधवार को पुलिस ने पूरे प्रकरण में सिर्फ दो आरोपियों का ही चालान किया। स्थानीय लोगों की मानें तो अमेठी के दो आरोपी, मार्शल जीप के मालिक , एक शिक्षक सहित पांच लोग शाम तक पुलिस गिरफ्त में थे।
दबोचे गए अपहर्ताओं को छुड़ाने के लिए खद्दरधारियों का फोन घनघनाता रहा। सात लोगों की गिरफ्तारी और दो का चालान होने से यह स्पष्ट हो गया कि कुछ लोगों को नेताजी की सिफारिश तो कुछ पुलिसिया मानक पर खरे उतरने वालों को छोड़ दिया गया।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

आप विधायकों को हाईकोर्ट ने भी नहीं दी राहत, अब सोमवार को होगी सुनवाई

लाभ के पद के मामले में चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित करने के मामले में अब सोमवार को होगी सुनवाई।

19 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper