डीआरएम को स्टेशन पर मिलीं ढेरों खामियां

Pratapgarh Updated Wed, 05 Dec 2012 05:30 AM IST
प्रतापगढ़। लखनऊ मंडल के डीआरएम ने मंगलवार शाम स्थानीय रेलवे स्टेशन का जायजा लिया। उन्हें हर कदम पर स्टेशन पर अव्यवस्थाआें का अंबार मिला। भोजनालय में अंधेरा देख उनका पारा चढ़ गया और उन्हाेंने फोरमैन को हटाने का फरमान सुना दिया। डीआरएम के निरीक्षण के दौरान विभागीय अधिकारियों में हड़कंप मचा रहा।
डीआरएम जगदीप राय प्रयाग होते हुए शाम सवा पांच बजे विशेष ट्रेन से प्रतापगढ़ पहुंचे। वह पार्सल कार्यालय के सामने से सबसे पहले भोजनालय पहुंचे। वहां पर अंधेरा पसरा था। कुछ लोगाें ने बताया कि यहां अक्सर अंधेरा रहता है। इस पर डीआरएम ने फोरमैन अशोक पटेल को हटाने का फरमान सुना दिया। इसके बाद वह परिसर से बाहर आ गए। टिकट काउंटर पर भारी भीड़ थी। डीआरएम ने एसएम, एसएस के साथ ही अन्य कार्यालयाें का भी निरीक्षण किया और अधिकारियाें से समस्या पर चर्चा की। उन्हाेंने इलाहाबाद में कुंभ मेला को देखते हुए कर्मचारियों को तत्परता से कार्य करने का निर्देश दिया। इस दौरान स्टेशन अधीक्षक स्टेशन अधीक्षक केएन शर्मा, एसएम इबरार अहमद, एईएन जेपी सिंह, सीडीओ दिनेश कुमार यादव सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
अभा अन्य पिछड़ा वर्ग रेलवे कर्मचारी संगठन अध्यक्ष के डीपी पटेल और सचिव लाल मोहम्मद ने डीआरएम को ज्ञापन दिया कि पाइपलाइन जर्जर हो गई है। गाड़ियां एक प्लेटफार्म पर न लेने से समस्या हो रही है। आईओडब्लू की पोस्ट खाली होने से दिक्कत हो रही है। डाक्टर के अभाव में यात्रियाें को इलाज की सुविधा नहीं मिल पा रही है। गाड़ी आने से ठीक पहले ही टिकट दिया जाता है, इससे यात्रियों को दिक्कत होती है।
स्टेशन के आरक्षण काउंटर पर मंगलवार सुबह आरक्षण कार्य शुरू होने के कुछ ही देर बाद लाइट चली गई। इससे कंप्यूटर बंद हो गए। हालांकि लाइट आई तो काम शुरू हो गया। तत्काल टिकट का समय होते ही सुबह 10 बजे फिर से लाइट चली गई। इस पर यात्री हंगामा करने लगे। उनमें से कुछ निराश हो लौट गए।
यहां से मुंबई जाने वाली उद्योगनगरी एक्सप्रेस के अनारक्षित कोच में बैठने को लेकर सोमवार रात यात्रियों में मारपीट हो गई। उद्योगनगरी एक्सप्रेस सोमवार की रात आठ बजे स्टेशन पहुंची। यात्रियों के उतरने के बाद उसे वाशिंग लाइन में ले जाया गया। सफाई कर्मचारी आरक्षित कोच की सफाई करने लगे तभी स्टेशन के दक्षिणी छोर पर अनारक्षित सीट एलाट करने के लिए बोली लगने लगी। जीआरपी के दो सिपाही पैसे देने में आनाकानी करने वाले यात्रियों को कोच में घुसने ही नहीं दे रहे थे। सिपाहियों की यह करतूत रात एक बजे तक जारी रही। सिपाहियों के हटने के बाद कोच में अंधेरा होने के कारण यात्री आपस में ही मारपीट करने लगे। इससे अफरातफरी मच गई लेकिन वसूली करने वाले सिपाही उसे अनदेखी कर चले गए। रात करीब 1.50 बजे ट्रेन मुंबई के लिए रवाना हुई। एसओ जीआरपी पीके सिंह ने सिपाहियों की वसूली की बात से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि वह जांच कराकर ऐसे सिपाहियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।
रेलवे लाइन से गुजरने के बाद भी डीआरएम की ट्रेन चिलबिला क्रासिंग पर फंस गई। ऐसे में उन्हाेंने निर्माणाधीन ओवरब्रिज को भी करीब से देखा। डीआरएम की विशेष ट्रेन गुजरने के दौरान चिलबिला क्रासिंग का बैरियर नहीं बंद हो सका। ऐसे में उनकी ट्रेन आउटर पर ही रुक गई। वह दूर से ही क्रासिंग पर लगने वाले जाम का नजारा देखते रहे। काफी देर बाद बैरियर बंद हुआ तो ट्रेन पास हो सकी। हालांकि वह चिलबिला स्टेशन पर भी कुछ देर के लिए रुके।

Spotlight

Most Read

Pratapgarh

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

20 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper