गयासपुर मानव रहित क्रासिंग पर यह तीसरा हादसा

Pratapgarh Updated Mon, 12 Nov 2012 12:00 PM IST
कुंडा। कोतवाली क्षेत्र के गयासपुर मौली मानव रहित रेलवे फाटक पर यह तीसरा हादसा है। इसके पूर्व भी चार पहिया वाहनों से ही दो अन्य लोगों की जान जा चुकी है। तीनों दुर्घटनाओं में वाहन स्वामी की मौत हुई। इस पर सांसद शैलेन्द्र कुमार ने रेल महकमे को पत्र लिखकर फाटक बनाए जाने की मांग की है।
रविवार को हुई मालगाड़ी एवं मैजिक दुर्घटना होते ही लोगों के जेहन में पूर्व में हुई घटनाओं की याद ताजा हो गई। जिस स्थान पर रविवार को दुर्घटना हुई, वहीं पर रामचंद्र यादव की टाटा 407 से दुर्घटना में जान गई थी। उसी तरह एक अन्य वाहन से पप्पू निवासी कुंडा की जान गई थी। दोनों ने नए वाहन खरीदे थे तथा उनका रजिस्ट्रेशन तक नहीं हो पाया था। वहीं रविवार को दुर्घटना की मैजिक में भी वाहन स्वामी सत्यजीत की जान गई। हाल ही में वह गाड़ी खरीदकर सामान ढोने का काम शुरू किया था। अब तक न तो गाड़ी का रजिस्ट्रेशन हो पाया था और न ही बनवाई गई बाडी की पेंटिंग।
इसे मौत का चक्र ही कहा जाएगा कि गयासपुर रेलवे फाटक पर दुर्घटना हुई। शाहपुर गोपालगंज से मैजिक लोडर पर गोभी लादकर चले लोग हौदेश्वर नाथ मार्ग से कुंडा आ रहे थे। यहां मालगाड़ी आने के कारण फाटक बंद था। इसे देख सभी ने निर्णय लिया कि गयासपुर मौली के मानव रहित फाटक से बाबूगंज बाजार भी नजदीक पड़ेगा। गयासपुर क्रासिंग पर बीच ट्रैक में मैजिक बंद हो गई। जब तक तीनों कुछ समझ पाते तथा गाड़ी स्टार्ट होती मालगाड़ी की चपेट में आ गए। मौके पर काम कर रहे रेलकर्मियों की मानें तो मैजिक को बीच में खड़ी एवं सामने आ रही मालगाड़ी देख वे लाल झंडा लेकर आगे बढ़े लेकिन मालगाड़ी इतना नजदीक पहुंच गई कि वे चाहकर भी कुछ नहीं कर सके।
कोतवाली क्षेत्र के गयासपुर मानव रहित रेलवे क्रासिंग पर दुर्घटना के बाद हर ओर सिर्फ चीखें सुनाई पड़ रही थीं। सूचना पर जहां कुंडा एवं गोपालगंज शाहपुर प्रधान गुड्डू, पूर्व प्रधान भगौती यादव समेत बड़ी संख्या में परिजन, ग्रामीण घटना स्थल पहुंच गए वहीं मौके पर पहले से मौजूद लोगों एवं पुलिस ने सभी को सीएचसी कुंडा भेज दिया। परिजन रिश्तेदार जहां अस्पताल में फूटफूटकर रो रहे थे। वहीं घरों पर भी सिर्फ चीखें सुनाई दे रही थी। त्यौहार के दिन हुए हादसे से परिजनों और रिश्तेदारों ही नहीं मौके पर पहुंचने वाले हर व्यक्ति की आंखें नम हो गई थीं।
मालगाड़ी से मैजिक टकराने के बाद सभी को अस्पताल भेजा गया। वहां मौके पर न तो इमरजेंसी में चिकित्सक थे न ही चिकित्साधीक्षक। अधीक्षक को 12 बजे तक घटना की जानकारी भी नही हो सकी। बाबागंज विधायक के फोन करने पर वह उनसे ही घटना के बाबत पूछने लगे। जबकि इस दौरान जनपद ही नहीं पूरे प्रदेश के अफसरों को घटना की जानकारी हो चुकी थी। मौके पर पट्टी, दवा के लिए भी हड़कंप ही मचा रहा।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुंडा में वैसे तो सभी चिकित्सा सुविधाएं हैं लेकिन बीते कुछ माह से अधीक्षक एवं चिकित्सकों की मनमानी से सुविधाओं का टोटा बना हुआ है। रविवार को पौने दस बजे दुर्घटना हुई तो महज पांच-दस मिनट के भीतर ही गंभीर घायलों को सीएचसी ले आया गया, लेकिन यहां इमरजेंसी के चिकित्सक मौजूद नहीं थे। सूचना पर डा. नीरज सिन्हा पहुंचे तथा उपचार शुरू किया। इसके बाद पट्टी, दवाओं के लिए कर्मचारी मारामारी करने लगे। किसी प्रकार प्राथमिक उपचार कर चालक को रेफर किया गया जबकि दो को मृत घोषित कर दिया गया। मौके पर पहुंचे एसडीएम, सीओ, विधायक बाबागंज विनोद सरोज, राजा भैया प्रतिनिधि हरिओम शंकर श्रीवास्तव ने चिकित्साधीक्षक की खोज शुरू की तो पता चला वह रात कुंडा में रुकते ही नहीं। विधायक बाबागंज ने अधीक्षक को फोन लगाया तो वह दुर्घटना से अनभिज्ञता जताते हुए जानकारी मांगने लगे। इस पर जनप्रतिनिधियों ने सीएमओ से शिकायत की।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper