रेल अफसर ने फांसी लगाकर दी जान

Pratapgarh Updated Fri, 26 Oct 2012 12:00 PM IST
प्रतापगढ़। स्थानीय रेलवे स्टेशन पर तैनात आईओडब्लू ने बुधवार शाम शाम फांसी लगाकर जान दे दी। घटना की जानकारी होते ही अस्पताल में रेल कर्मियों का जमावड़ा लग गया। मौत को लेकर तरह-तरह की आशंकाएं व्यक्त की जा रही हैं।
बिहार प्रांत के पटना जिले के रहने वाले रजनीश कुमार (30) रेल विभाग में आईओडब्लू के पद चार वर्ष से कार्यरत थे। वह पूर्वी सहोदरपुर की रेलवे कालोनी में आवंटित बंगले में सपरिवार रहते थे। बुधवार शाम अन्य कर्मचारियाें के साथ जंघई में रेल पथ का निरीक्षण कर इंटरसिटी एक्सप्रेस से घर लौटे। शाम को तीन वर्षीय पुत्री ने दशहरा मेला दिखाने की जिद की तो वह मेला देखने चले गए। शाम करीब सात बजे रजनीश चौक घंटाघर के समीप पुत्री संग दिखाई पड़े थे। वहां से रात में वापस आवास लौटे। रात करीब पौने नौ बजे उनकी पत्नी की चीख सुनकर कालोनी के लोग दौड़ पड़े। बंगले की छत के कुंडे से उनका शव लटक रहा था। आनन फानन में उन्हें नीचे उतारा गया और लोग उन्हें लेकर जिला अस्पताल भागे। डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। अस्पताल में एईएन जेपी सिंह, हरीराज यादव, मोहम्मद शफीक, राजेंद्र श्रीवास्तव, लाल मोहम्मद, मलय सिंह, अंजनी दुबे, रवि भूषण सिन्हा, संजय पाल, नागेंद्र सिंह समेत अन्य लोग मौजूद थे। घटना की जानकारी मिलने पर बिहार से मां-बाप और छोटा भाई यहां पहुंचे। वे पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर घर चले गए।
जिला मुख्यालय के रेलवे स्टेशन पर चार साल से तैनात आईओडब्ल्यू रजनीश कुमार की मौत को लेकर विभागीय कर्मियों में हजारों आशंकाएं तैर रही हैं। उनकी मौत आत्महत्या है या हत्या इसे लेकर सवाल खडे़ किए जा रहे हैं। फिलहाल परिजनों के कोई आरोप प्रत्यारोप न लगाने के कारण नगर कोतवाली पुलिस भी खामोश है।
आईओडब्ल्यू रजनीश का कार्यकाल जिले में खासा उतार चढ़ाव भरा रहा है। लूट खसोट के आरोप तो कई बार लगे लेकिन वह पिछले साल शिकंजे में आ गए। जिला मुख्यालय स्थित रेलवे स्टेशन से लोहे का गर्डर दिनदहाड़े काटा जा रहा था। रेलवे अधिकारियों ने पहले तो इसे नियमानुसार बताया लेकिन जीआरपी के एडीजी के निर्देश पर एसओ ने कार्रवाई की तो रजनीश और एक खलासी भी आरोपी बन गए। जीआरपी ने कुछ लोगों को पकड़कर जेल भी भेजा लेकिन रजनीश ने जमानत करा ली थी। विवेचक वर्तमान एसओ पीके सिंह ने लोहा चोरी के मामले में रजनीश के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने के लिए अधिकारियों से अनुमति मांगी है।
शाम तक ड्यूटी करने और घर पहुंचने के बाद बेटी को मेले में ले जाने तक तो सब कुछ ठीक ठाक था। अचानक देर रात घर में ऐसा क्या हुआ कि उन्होंने फांसी लगाकर जान दे दी। घर में उनकी पत्नी मौजूद थी लेकिन वह जिस कमरे में थी वहां टीवी चल रही थी। उस कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था। पत्नी ने समझा कि शायद टीवी की आवाज से बचने के लिए उन्होंने दरवाजा बंद किया है। काफी देर बाद उसके कहने पर भी दरवाजा नहीं खुला तो वह शोर मचाने लगी। इस पर आसपास के लोग पहुंचे और रजनीश को फांसी से उतारकर जिला अस्पताल लाया गया। रजनीश को जानने और समझने वाले लोग भी आत्महत्या की बात पचा नहीं पा रहे हैं। एक ठेकेदार से नजदीकी पर भी तमाम सवाल खडे़ किए जा रहे हैं। कर्मचारियों का कहना है कि लोहा चोरी प्रकरण में फंसने के बाद नौकरी पर आंच आने के बावजूद वह कभी विचलित नहीं हुए। अचानक कौन सी नई बात हो गई जिससे उनको आत्मघाती कदम उठाना पड़ा। कोतवाल पहुप सिंह ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। अगर घर के लोग कोई शिकायत करते हैं तो जांच की जाएगी।
आईओडब्लू की मौत की खबर जंगल में आग की तरह फैल गई। रेल विभाग से संबंधित आरपीएफ और जीआरपी ने मौके पर जाना भी गवारा नहीं समझा। इतना हीं नहीं स्वास्थ्य विभाग के पत्र पर सिविल पुलिस भी मौके पर निरीक्षण करने के लिए नहीं पहुंची।

Spotlight

Most Read

Unnao

ट्रक में भिड़ी कार, एक की मौत

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर शाहपुर तोंदा गांव के सामने ट्रक के अचानक ब्रेक लेने से पीछे आ रही तेज रफ्तार कार पीछे घुस गई। हादसे में चालक की मौत हो गई। साथी गंभीर रूप से घायल हो गया।

21 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper