कड़ी सुरक्षा के बीच हुआ पंचायत उपचुनाव

Pratapgarh Updated Sun, 14 Oct 2012 12:00 PM IST
प्रतापगढ़। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शनिवार को पंचायत के खाली पदों के लिए मतदान शांतिपूर्ण माहौल में हुआ। पांच विकासखंडों में दो प्रधान और तीन क्षेत्र पंचायत सदस्य पद पर वोट पड़ा। मतदान के लिए कुल 14 मतदेय स्थलों में पांच अति संवेदनशील, बाकी संवेदनशील घोषित थे। बूथों पर सुबह से ही पुलिस और अफसर तैनात रहे। सदर के जोगापुर बीडीसी पद के लिए दो प्रत्याशियों के बीच 68 प्रतिशत मतदान हुआ। जबकि लालगंज के मधुकरपुर-अ में 53 प्रतिशत और पतुलकी में प्रधान पद के आठ उम्मीदवारों के बीच 54.9 फीसदी मतदान पड़े।
सदर विकासखंड के जोगापुर में बीडीसी सदस्य पद पर दो उम्मीदवार विनय प्रताप सिंह और अशोक मौर्य मैदान में हैं। यहां अ और ब दो मतदेय स्थल बनाए गए थे। मतदान के लिए यहां सुबह सात बजे से ही वोटरों की खासी भीड़ रही। कुल 1943 मतों में शाम पांच बजे तक 1320 मत पड़े। यहां मतदान का प्रतिशत करीब 68 प्रतिशत रहा। दोनों प्रत्याशी एक-एक वोट के लिए संघर्ष करते नजर आए। मताधिकार के प्रति लोगों में काफी चैतन्यता नजर आई। लालगंज के मधुकरपुर-अ में बीडीसी सदस्य पद कुल 905 लोगों ने मतदान किया। यहां 1708 मतदाता थे और 53 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया। लक्ष्मणपुर ब्लाक के पतुलकी में प्रधान पद चुनाव हुआ। यहां आठ प्रत्याशी मैदान थे। बूथों पर सुबह से ही वोटरों की लंबी कतार नजर आई। 2330 मतदाताओं में यहां 1256 लोगों ने मतदान किया। इस तरह पतुलकी में शाम 5 बजे तक 54.9 प्रतिशत मतदान हुआ। सदर के जोगापुर में मतदान समाप्त होने तक सद एसडएम संजय कुमार व सीओ शिवाजी शुक्ला फोर्स के साथ डटे रहे। कोर्ट हस्तक्षेप के अलावा रिक्त पदों पर हुए उप चुनाव में शांति व्यवस्था कायम रही। कहीं से किसी अप्रिय घटना की खबर देर रात तक नहीं मिली।
सदर विकासखंड के जोगापुर में स्थानीय सहित बाहरी लोगों ने भी दिल खोल कर फर्जी मतदान दिया। तमाम वोटर मतदान को पहुंचे तो पता चला कि उनका मत पड़ चुका है। इस तरह के हरकत की शिकायत जोगापुर निवासी राजेश ने सदर एसडीएम व सीओ से की। उसकी पर्ची का क्रमांक 169 था। उसके विरोध करने पर अफसरों ने फोटो युक्त पहचान पत्र मंगाया। पर्ची क्रमांक नंबर 1567 पर शारदा का नाम लिखा था। उस पर्ची पर जोगापुर का पिंटू मतदान करने पहुंचा। शंका होने पर एसडीएम ने उसे पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। लोगों की मानें तो पुराना मालगोदाम के कबाड़ी मुहल्ले से लेकर चिलबिला तक के युवाओं ने जोगापुर में फर्जी मतदान किया।
उपचुनाव में मतदाताओं का पहचान पत्र अनिवार्य नहीं था। बस इसी नियम को फर्जी वोटरों ने मतदान के लिए ढाल बना लिया है। दूसरे के नाम की पर्ची पर बाहरी लोगों ने जमकर मतदान किया। ऐसी बातें जोगापुर सहित अन्य क्षेत्र के मतदेय स्थलों पर सुनने को मिलीं। वोटर लिस्ट में जिनके नाम थे पर्ची तो उन्हीं के नाम से कटी, बाहरी लोगों ने अफसरों को झांसा देकर वोट डाले।
जोगापुर बीडीसी सदस्य प्रत्याशी अशोक मौर्या ने प्रतिद्वंदी पर गंभीर आरोप लगाया। कहा कि शासन सत्ता के दबाव में प्रशासन ने उनकी जमकर मदद की। विरोधियों ने उनका एजेंट नहीं बनने दिया। पहचान पत्र के बगैर फर्जी मतदान कराया। विरोध पर जान से मारने की धमकी पुलिस व प्रशासनिक अफसरों के सामने दी गई। अशोक ने यह भी कहा कि मतदान कर्मी स्वयं बाक्स में वोट पर्ची डाल रहे थे। स्थिति तब दिखी जब एक दो बार वह स्वयं अंदर गए। उन्होंने प्रतिद्वंदी पर मतदाताओं को धमकाने का भी आरोप मढ़ा।
जोगापुर से बीडीसी सदस्य प्रत्याशी विनय प्रताप सिंह ने प्रतिद्वंदी के आरोपाें को निराधार बताया। कहा कि प्रशासन की मौजूदगी में शांतिपूर्ण मतदान हुआ। हत्या की धमकी तो दूर विरोधी से मुलाकात तक नहीं हुई। अगर लोग फर्जी वोट डाल रहे थे तो उन्हें विरोध करना चाहिए था। मतदेय स्थत पर उनके एजेंट थे उन्होंने विरोध क्यों नहीं किया। उन्हें अफसरों से शिकायत करनी थी।
कुंडा क्षेत्र में शनिवार को कड़ी सुरक्षा के बीच उप चुनाव मतदान हुआ। प्रधान पद के लिए 1334 एवं बीडीसी पद के लिए 962 लोगों ने मतदान किया।
ग्रामपंचायत समसपुर में प्रधान पद के लिए सात प्रत्याशी मैदान में थे। सुबह सात बजे से शुरू हुए मतदान के दौरान कुल 2553 मतदाताओं में से 1334 लोगों ने वोट डाले। वहीं विकासखंड बाबागंज की ग्राम पंचायत लरू में बीडीसी सदस्य पद के लिए हुए मतदान में 1610 मतदाताओं में से 962 लोगों ने मत डाला। सीओ कुंडा जियाउल हक, सीओ पट्टी प्रेमचंद्र, एसओ मानिकपुर पंकज सिंह, एसओ महेशगंज निशिकांत राय, एसओ एसके तिवारी समेत कई थानों के एसआई, पुलिस बल एवं पीएसी के जवानों को लगाया गया था। एसडीएम कुंडा अवधेश श्रीवास्तव भी बराबर निगरानी करते रहे। शांतिपूर्ण मतदान होने के बाद अफसरों ने राहत की सांस ली।

Spotlight

Most Read

Varanasi

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

22 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper