टेंडरों की खरीद में लहराए असलहे

Pratapgarh Updated Sat, 22 Sep 2012 12:00 PM IST
प्रतापगढ़। सपा शासन का दबंग चेहरा दिखने लगा है। शुक्रवार को जिला पंचायत में कुछ ऐसा ही नजारा था। सपा के कुछ नेता जिला पंचायत कार्यालय में असलहे लहराते रहे। शक्ति प्रदर्शन कर टेंडर की खरीद की जाती रही। इस दौरान न तो किसी वरिष्ठ पदाधिकारी ने टोकाटाकी और न ही पुलिस ने दखल दिया।
जिला पंचायत कार्यालय में शुक्रवार को टेंडर डाला जा रहा था। इसके खुलने के पहले ही कुछ सपा असलहों का प्रदर्शन करते हुए पहुंच गए। सपाइयों की इस हरकत से अन्य ठेकेदारों में उबाल रहा। असलहों के बल पर कुछ टेंडरों को निरस्त कराने का प्रयास किया गया। इसमें सफलता न मिलने पर ठेकेदारों से उनकी निविदा के बारे में जानकारी हासिल की गई ताकि नया टेंडर डालकर उस पर कब्जा किया जा सके। सपाइयों के इस रवैये से लोगों में आक्रोश रहा। पुलिस के चुप्पी साधे रहने के कारण कोई विरोध की हिम्मत नहीं जुटा सका।
जिला पंचायत गेट के पास कई गाड़ियों में सपा नेताओं का बोर्ड दिखा। सयुस अध्यक्ष का भी बोर्ड लगा था। इसके साथ ही अन्य कई गाड़ियों पर सपा का झंडा एवं बोर्ड लगा रहा। कई गाड़ियों में अध्यक्ष का नाम लिखा होने से लोग भ्रमित भी हुए कि क्या एक ही संगठन के कई अध्यक्ष हो गए हैं।
सपा जिलाध्यक्ष भैयाराम पटेल ने कहा कि कर्मचारियों पर दबाव बनाने वाले व प्रतिबंधित स्थानों पर असलहों का प्रदर्शन करने वाले कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों पर पार्टी कठोर कार्रवाई करेगी। उन्हें पार्टी से निकाले जाने के साथ ही रिपोर्ट भी दर्ज कराई जा सकती है। ऐसे ही लोग पार्टी को बदनाम कर रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017