हरिप्रताप को चौथी बार अध्यक्ष का ताज

Pratapgarh Updated Mon, 09 Jul 2012 12:00 PM IST
प्रतापगढ़। नगरपालिका अध्यक्ष पद पर हरिप्रताप सिंह ने लगातार चौथी बार भारी अंतर से चुनाव जीत लिया। इस बार की जीत उन्हें निर्दल प्रत्याशी के रूप में मिली है। टिकट न मिलने पर उन्होंने भाजपा से बगावत कर दी थी। भोर में परिणाम आया तो मतगणना स्थल पर डटे समर्थक जश्न में डूब गए। प्रमाणपत्र लेकर हरि बाहर निकले तो समर्थकाें ने उन्हें फूल मालाआें से लाद दिया। अध्यक्ष के आवास के बाहर जमकर आतिशबाजी की गई। नगर पालिका परिषद बेल्हा का तीन बार भाजपा के टिकट पर अध्यक्ष बनने वाले हरिप्रताप इस बार निर्दल प्रत्याशी के रूप में मैदान में थे। शनिवार को शुरू हुई मतगणना रविवार को भोर तक जारी रही। हरिप्रताप सिंह ने पहले ही चक्र में बढ़त बनाई तो फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। पहले सिर्फ पांच टेबल पर गिनती हो रही थी लेकिन शाम 4 बजे से दो और कक्षों में कर्मचारियों को लगा दिया गया। कई चक्र तक हरिप्रताप पहले, संतोष मिश्र दूसरे, रवि प्रताप तीसरे स्थान पर थे। अचानक शाम को पीस पार्टी के दिनेश सिंह दिन्नू ने उछाल मारी और वह तीसरे स्थान पर पहुंच गए। अंतिम चक्र तक हरिप्रताप को 8167 मत, संतोष मिश्र को 4560, दिनेश सिंह दिन्नू को 4001, रवि प्रताप सिंह को 3030 मत और मो. अनाम को 2466 मत मिले। हरिप्रताप सिंह प्रमाणपत्र लेने के बाद समर्थकाें सहित बाहर निकले तो सैकड़ाें लोग रात भर जागते हुए उनके स्वागत में खड़े मिले। मतगणना स्थल चिलबिला पालीटेक्निक से लोग जुलूस की शक्ल में शहर पहुंचे। कुछ समर्थक पहले से ही पटाखे रखकर आतिशबाजी की प्रतीक्षा कर रहे थे। उनके पहुंचते ही लोगाें ने जमकर आतिशबाजी की। सुबह से लेकर दोपहर तक उनके घर बधाई देने वालों का तांता लगा रहा। नगर पालिका चुनाव में कुल 1207 मत अवैध घोषित किए गए। कुज 32,953 मत डाले गए थे। मतगणना के दौरान 31746 मतों की गिनती की गई। मतदाताओं ने कई मतपत्रों के दो प्रतीकों पर मुहर लगा दी थी। ऐसे में उन्हें अवैध करार दिया गया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में फिर शुरू हुई डीजीपी की रेस, ओपी सिंह को केंद्र ने नहीं किया रिलीव

उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी के लिए अभी और इंतजार करना पड़ सकता है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper