बीएड विद्यार्थियों का हो रहा है शोषण

Pratapgarh Updated Wed, 04 Jul 2012 12:00 PM IST
प्रतापगढ़। बीएड में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों का प्राइवेट कालेज शोषण करने पर तुले हैं। विवि से निर्धारित शुल्क की डीडी देने के बाद भी कालेज संचालक सुविधा शुल्क की वसूली कर रहे हैं। अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को सुविधा शुल्क के लिए परेशान किया जा रहा है। बीएड संयुक्त प्रवेश का आयोजन इस वर्ष डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय फैजाबाद ने किया था। प्रवेश परीक्षा का परिणाम आते ही काउंसिलिंग के उपरांत जिले के कालेजों में विद्यार्थियों का आवंटन कर दिया गया। विश्वविद्यालय से अधिकृत पत्र लेकर कालेज पहुंचने वाले विद्यार्थियों से पांच से दस हजार रुपये वसूले जा रहे हैं जबकि विद्यार्थियों ने 51,250 रुपये की डीडी काउंसिलिंग के समय ही विवि में जमा कर दी थी। विवि के मना करने के बाद भी कालेज संचालक विद्यार्थियों का दोहन करने पर तुले हुए हैं। पीड़ित विद्यार्थियों के मुताबिक बीएड में अच्छा अंक मिल जाय लोग इस आशा के चलते शिकायत करना नहीं चाह रहे हैं। जिससे कालेज संचालकों के हौसले बुलंद हैं। काउंसिलिंग कराने वाले अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को कालेज संचालक कुछ अधिक ही परेशान कर रहे हैं। बीते वर्ष शुल्क प्रतिपूर्ति अभी तक नहीं आने के कारण कालेज संचालक जीरो बैलेंस पर दाखिला लेने से कतरा रहे हैं। अधिकांश कालेजों ने यह शर्त रख दिया है कि पहले शुल्क जमा कर दीजिए और समाज कल्याण विभाग से शुल्क प्रतिपूर्ति मिलने से वापस कर दिया जाएगा। फिलहाल मेरिट बनाने और प्रैक्टिकल परीक्षा में अच्छा अंक प्राप्त करने के लिए शिकायत करने से बच रहे हैं। बीएड कालेजों में प्रबंधकीय कोटा समाप्त होने के बाद कमाई का जरिया सिर्फ अवैध वसूली ही रह गई है। लेकिन यह दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि विद्यार्थियों की शिकायत के बाद भी कालेज संचालकों पर कोई कार्रवाई नहीं होती है। समाज कल्याण अधिकारी जितेंद्र सिंह ने बताया कि मेरे पास ऐसी कोई शिकायत अभी तक नहीं आई है। बीते वर्ष कितने विद्यार्थियों की शुल्क प्रतिपूर्ति नहीं मिली है इस बाबत उन्होंने संख्या याद नहीं होने की बात कही। डीआईओएस डॉ. ओम प्रकाश मिश्र ने बताया कि बीते वर्ष सात विद्यार्थियों ने शिकायत की थी लेकिन इस वर्ष अभी तक अवैध वसूली की शिकायत नहीं मिली है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

एसपी के इस पूर्व विधायक के घर कुर्की, एक-एक सामान उखाड़ ले गई पुलिस

इलाहाबाद में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक के घर की कुर्की की गई। धूमनगंज थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद कुर्की की है। अलक्मा और सुरजीत हत्या मामले में आरोपी अशरफ फरार चल रहा है।

25 दिसंबर 2017