विज्ञापन
विज्ञापन

प्राइवेट बस ने मारी टक्कर, स्कूटी सवार दो लोगों की मौत

Bareily Bureauबरेली ब्यूरो Updated Wed, 22 May 2019 01:53 AM IST
ख़बर सुनें
पीलीभीत। सड़क हादसों की रोकथाम के तमाम प्रयास बेअसर साबित हो रहे हैं। जिले में हादसों में जान गंवाने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। आए दिन मामले सामने आ रहे हैं। खुद अफसर भी इसको लेकर चिंतित हैं, लेकिन समाधान का कोई रास्ता उनको भी नहीं मिल पा रहा है। इधर, नियम पालन को लेकर वाहन चालक भी बेपरवाह हैं। मंगलवार को भी जिले में दो स्थानों पर हुए सड़क हादसों में तीन लोगों की जान चली गई। बीसलपुर में प्राइवेट बस की टक्कर से स्कूटी सवार वृद्ध और महिला की मौत हुई, तो गजरौला में चलती ट्रैक्टर ट्रॉली से उतरते वक्त कुचलकर महिला कोटेदार ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
लिफ्ट लेकर स्कूटी पर बैठी महिला, हादसे ने दोनों की जिंदगी छीनी
बीसलपुर। हादसा पीलीभीत-बीसलपुर मार्ग पर बारह पत्थर चौराहे के पास मंगलवार सुबह नौ बजे हुआ। कोतवाली क्षेत्र के भसूड़ा गांव निवासी 65 वर्षीय किसान रमेश चंद्र गंगवार काम के सिलसिले में स्कूटी से बीसलपुर जा रहे थे। उन्होंने हेलमेट नहीं लगाया था। उधर, गांव की एक महिला 50 वर्षीय महिला गंगादेवी पत्नी रामभजन अपनी ससुराल बरेली के बरकलीगंज जाने के लिए निकली थी। बीसलपुर से उसको बस पकड़नी थी। गांव से बीसलपुर तक जाने के लिए उसने रमेश चंद्र से स्कूटी पर लिफ्ट ले ली। दोनों साथ बीसलपुर के लिए रवाना हो गए। बारह पत्थर चौराहे के पास पहुंचते ही पीलीभीत से शाहजहांपुर की ओर जा रही प्राइवेट बस ने स्कूटी को टक्कर मार दी। हादसे में दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। यह देख चालक बस छोड़कर भाग गया। इसकी सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने आनन-फानन में दोनों को सीएचसी बीसलपुर भिजवाया, वहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। खबर मिलने पर परिजन भी आ गए। कोतवाल जेपी सिंह ने बताया कि बस को कब्जे में ले लिया है। महिला के भाई विनोद की तहरीर पर अज्ञात बस चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

खबर मिलते ही परिजनों के उड़े होश, मची चीख पुकार
हादसे में किसान रमेश चंद्र और गंगादेवी की मौत की खबर मिलते ही दोनों के परिवार में चीख पुकार मच गई। सभी का रो-रोकर बुरा हाल रहा। पड़ोसी और रिश्तेदार परिजनों को ढांढस बंधाने में जुटे रहे।
मृतक रमेश चंद्र के दो बेटे भूपेंद्र, विनोद और एक बेटी प्रीति, सभी विवाहित हैं। मां रामकली और पत्नी कांतिदेवी को जैसे ही उनकी मौत का पता लगा, वह बदहवास हो गई। इधर, गंगादेवी के पांच बेटे हरीश, पुरूषोत्तम, नरसीह, अतुल, अनिल और दो बेटी ममता व माया है। पिता मनोहरलाल मां बालमती के तब होश उड़ गए, जब उनको कुछ देर पहले ही हंसीखुशी घर से ससुराल जाने के लिए निकली बेटी की हादसे में मौत की जानकारी मिली। गंगादेवी चार दिन पहले ही एक बीमार रिश्तेदार को देखने के लिए मायके आई थी।

ट्रैक्टर-ट्रॉली से कुचलकर महिला कोटेदार की जान गई
गजरौला। गजरौलाकलां मुश्तकिल गांव की निवासी 50 वर्षीय मुख्तरी बेगम पत्नी स्व.बुंदनबख्श कोटेदार थीं। मंगलवार सुबह वह गांव के एक व्यक्ति की ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर पीलीभीत कोटे के लिए सरकारी अनाज लेने गई थी। यहां से वापस ट्रैक्टर ट्रॉली पर सवार होकर घर आ रही थीं। असम हाईवे पर गांव के बाहर पहुंचते ही चालक ने ट्रैक्टर की स्पीड कम कर दी। ट्रैक्टर रूकने से पहले ही मुख्तरी बेगम ने उतरने का प्रयास किया और गिर गईं। जब तक चालक ब्रेक लगा पाता, ट्रॉली के पिछले पहिए से मुख्तरी बेगम कुचल गई। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद चालक मौके से भाग गया। खबर मिलने पर परिवार वाले आ गए। पुलिस भी पहुंच गई। जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। मृतका के दो विवाहित बेटी नत्थो बेगम, नूरी और दो अविवाहित बेटे नजरूद्दीन व अजबुद्दीन हैं। इंस्पेक्टर बिरजाराम ने बताया कि मृतका के देवर अलाउद्दीन ने इत्तेफाकिया तहरीर दी है। किसी पर कोई आरोप नहीं लगाया है।

पांच साल के हादसों के आंकड़े 
वर्ष - हादसे - घायल - मृतक
2014 - 370 - 249 - 136
2015 - 345 - 256 - 126
2016 - 376 - 287 - 155
2017 - 409 - 314 - 166
2018 - 355 - 235 - 161

सड़क हादसों की संख्या में बीते कुछ समय में बढ़ोतरी हुई है। इसकी रोकथाम करने के लिए पुलिस की ओर से हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। नियम उल्लंघन करने वालों पर सख्ती की गई है। कहा कि वाहन चालकों से भी हादसे से बचने के लिए नियम पालन करने की अपील है। - धर्म सिंह मार्छाल, सीओ ट्रैफिक

Recommended

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए
Lovely Professional University

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए

क्या आपकी नौकरी की तलाश ख़त्म नहीं हो रही? प्रसिद्ध करियर विशेषज्ञ से पाएं समाधान।
Astrology

क्या आपकी नौकरी की तलाश ख़त्म नहीं हो रही? प्रसिद्ध करियर विशेषज्ञ से पाएं समाधान।

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Bareilly

एक हजार निवेशकों के डेढ़ करोड़ लेकर भागी कंपनी, दिया था रकम दोगुनी करने का झांसा 

सेविंग कंपनी बनाकर रकम दोगुनी करने का झांसा देकर ठगी करने का एक और मामला सामने आया है।

20 जून 2019

विज्ञापन

जानिए आयुर्वेद और योग के वो फायदे जो आपको तन-मन से बनाएंगे स्वस्थ और खुशहाल

आयुर्वेद और योग हम सभी की जिंदगी में अहम रोल निभाता है। आज हमारे इस खास एपिसोड में आप खुद आयुर्वेद की डॉक्टर से जानिए योग के राज और सीखिए कुछ आसान योगासन।

20 जून 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
सबसे तेज अनुभव के लिए
अमर उजाला लाइट ऐप चुनें
Add to Home Screen
Election