कुलपति बने डा. अरविंद के घर छायी खुशी

Pilibhit Updated Mon, 05 May 2014 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
पीलीभीत। शहर के मोहल्ला फीलखाना में डा. अरविंद के छोटे भाई अधिवक्ता अजय सक्सेना को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। हो भी क्यों न मोहल्ले के लाल ने झांसी स्थित केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय के प्रथम कुलपति बनकर परिवार ही नहीं पूरे जिले का नाम जो रोशन किया है।
विज्ञापन

झांसी स्थित रानी लक्ष्मीबाई केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय के प्रथम कुलपति बनकर जिले का मान बढ़ाने वाले डॉ अरविंद सक्सेना बचपन से ही मेधावी थे। उनके पिता रामस्वरूप सक्सेना एवं मां राजरानी देवी हरिद्वार जनपद के गुरुकुल नारसन कस्बे के निकट स्थित क्वाहेडी गांव में शिक्षक थे। क्वाहेडी गांव में वर्ष 1952 में जन्मे अरविंद तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर हैं। उनकी प्रारंभिक शिक्षा इसी गांव में हुई। इसके बाद गुरुकुल नारसन स्थित आरएमपीपीवी कृषि डिग्री कालेज से मात्र 18 साल की उम्र में एमएससी (कृषि) की परीक्षा उत्तीर्ण की, जिसमें गोल्ड मेडल हासिल किया था। 1972 में रुड़की विश्वविद्यालय में एग्रोनोमिस्ट के पद पर चयन के साथ उन्होंने अपने कॅरिअर की शुरूआत की और दो साल बाद ही त्यागपत्र देकर पंतनगर विश्वविद्यालय पहुंच गए। इस बीच उन्हें दिल्ली आईसीएआर से स्कालरशिप मिली और उन्होंने पहले एमफिल और इसके बाद पीएचडी की उपाधि हासिल की। पीएचडी करने के दौरान ही उनका विवाह पीलीभीत बरखेड़ा निवासी सर्वेश सक्सेना के साथ हो गया। 20 साल तक पंतनगर में रहने के दौरान कई रिसर्च किए और विदेश यात्राएं कीं। करीब 10 साल तक वह आईसीएआर से जुड़े रहे। उनकी प्रतिभा ने उन्हें एक नए मुकाम पर पहुंचा दिया। झांसी के केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति बनकर उन्होंने घर परिवार के साथ ही जिले का नाम रोशन किया है। बधाइयां देने वालों का तांता लगा हुआ है। फीलखाना स्थित उनके पैतृक मकान में छोटे भाई अधिवक्ता अजय कुमार सक्सेना ने बताया बड़े भाई आदित्य सक्सेना एडीजे थे। सिद्धार्थनगर में तैनाती के दौरान 2004 में उनकी मौत हो गई थी। दूसरे नंबर पर डॉ. अरविंद हैं और उसके बाद वह स्वयं हैं। तीन भाइयों के बीच एक बहन डॉ अनुराधा उर्वशी सक्सेना रामलुभाई साहनी महाविद्यालय में प्राचार्य थीं जो अब लखनऊ में रह रही हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us