अपहरण कर फार्मर की हत्या

Pilibhit Updated Tue, 27 Nov 2012 12:00 PM IST
पीलीभीत/ गजरौला। तीन दिन पूर्व शहर से गांव लौट रहे एक व्यक्ति का शव गांव से एक किलोमीटर दूर गूलर के पेड़ से लटका मिला। परिजनों ने रुपयों की खातिर अपहरण कर हत्या करने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। मृतक की जेब से मैलानी के दो टिकट और 450 रुपये मिले हैं। गजरौला पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
ग्राम लौकहा निवासी 45 वर्षीय फार्मर छेदा लाल 23 नवंबर को पत्नी नत्थो देवी के साथ बाइक से पीलीभीत आए थे। वह आसाम चौराहे के पास से रहस्यमय ढंग से लापता हो गए थे। सुनगढ़ी पुलिस ने दूसरे दिन उसकी गुमशुदगी दर्ज की थी। सोमवार की सुबह ग्रामीणों ने उनका शव गांव से एक किलोमीटर दूर मार्ग के किनारे गूलर के पेड़ से लटकते हुए देखा। शव देखे जाने से सनसनी फैल गई। तमाम ग्रामीणों की भीड़ मौके पर जमा हो गई। शव उसी के नीले रंग के मफलर से लटका हुआ था। उसकी जेब में लखीमपुर खीरी के मैलानी जंक्शन के दो टिकट और 450 रुपये मिले हैं। उसके पैर में चप्पलें भी थीं। मृतक के पुत्र कमलेश ने बताया कि 23 नवंबर को बहन अनीता की वरीक्षा थी। पैसे कम होने के कारण पिता छेदा लाल मां नत्थो देवी के साथ बाइक से पैसे का इंतजाम करने घर से करीब 10 तोला सोना लेकर शहर गए थे। रुपये एकत्रित कर वापस घर लौट रहे थे। गांव जंगरौली पुल के निकट कोई सामान छूट जाने की बात कह मां को गांव में छोड़ दिया और सामान लेकर आने की बात कह वापस पीलीभीत लौट गए। काफी देर तक वापस न लौटने पर मां घर लौट आई और पूरी बात बताई। थोड़ी देर इंतजार करने के बाद आशंकित परिजन तलाश करने लगे, लेकिन कोई पता नहीं चला। मृतक के बेटे ने पिता की पैसे की खातिर अपहरण कर हत्या किए जाने की आशंका जताते हुए पुलिस को तहरीर दी है। एसओ राजपाल ने बताया कि धारा 364, 302 के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है।

छेदा लाल हत्याकांड की गुत्थी उलझी
बाइक और टिकट की कड़ी को नहीं जोड़ पा रही पुलिस
पीलीभीत। जिले के थाना गजरौला के गांव लौकहा निवासी छेदा लाल के पेड़ से लटकते मिले शव मामले की गुत्थी उलझ गई है। पुलिस उसकी जेब से बरामद रेलवे टिकट और आसाम चौराहे की एक साइकिल की दुकान पर खड़ी मिली बाइक की कड़ी को जोड़ नहीं पा रही है। उधर, शव मिलने के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। गांव में मातम सा माहौल है।
मृतक के पुत्र कमलेश ने बताया कि गुरुवार को उसके पिता छेदा लाल की बाइक आसाम चौराहे पर स्थित एक साइकिल की दुकान पर खड़ी मिली थी। बकौल कमलेश। दुकान स्वामी ने पूछे जाने पर बताया था कि छेदालाल खुद बाइक खड़ी कर दूसरे दिन आने की बात कहकर गए थे। मृतक की जेब से मिले ट्रेन के दो टिकट और दुकान पर खड़ी मिली बाइक से कई सवाल खड़े हो रहे हैं। पुलिस भी इस कड़ी को जोड़ नहीं पा रही है। पुलिस का तर्क है कि यदि अपहरण हुआ होता तो वह बाइक खुद खड़ी करके क्यों गया? फिर मैलानी के टिकट मिलने का क्या औचित्य है? फिलहाल विवेचना के बाद ही गुत्थी सुलझेगी।

परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल
उधर छेदालाल के शव मिलने के बाद गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। तीन बहनों में इकलौता पुत्र कमलेश और तीन पुत्रियां 20 वर्षीय अनीता, 16 वर्षीय पूनम, और 14 वर्षीय पूजा है। पिता के पेड़ से झूलते शव की जानकारी जब परिजनों को मिली तो घर में कोहराम मच गया। परिजन दहाड़े मारकर चीखने लगे। पत्नी नत्थो देवी, पुत्र कमलेश और पुत्रियों की चीत्कार से मौजूद हर ग्रामीण की आंखें नम थी। गांव की महिलाएं विलख रही पुत्रियों को ढांढस बंधा रही थी। अनीता तो बार-बार हाय पापा कहकर गश खाकर गिर जाती थी।

5.50 लाख की नगदी पास होने की आशंका
मृतक के चचेरे भाई नन्हे लाल ने बताया कि छेदालाल की किसी से कोई रंजिश नहीं है। छेदा लाल जेवर गिरवीं रखकर और मिलने वाले आढ़ती से भी पैसे का बंदोबस्त किया था। बैंक खाते से भी पैसे निकाले थे। उनका अनुमान है कि भाई के पास करीब साढ़े पांच लाख रुपये थे। हालांकि वह अभी खाता आदि की जांच नहीं कर सके हैं। उन्होंने भाई का पैसे की खातिर अपहरण कर हत्या करने की आशंका जताई है।

बरेली में रविवार को दिखे थे छेदालाल
छेदालाल को गांव के ही एक युवक ने रविवार की सुबह बरेली में देखा था। प्रत्यक्षदर्शी युवक के मुताबिक वह हरियाणा में मजदूरी करता है। रविवार को घर वापस लौट रहा था। बरेली जंक्शन पर जाते वक्त सुबह करीब चार बजे छेदालाल एक बोलेरो गाड़ी की बीच वाली सीट पर बैठे थे। उनके अगल-बगल में दो लोग भी बैठे थे। बड़े फार्मर होने के कारण उसने कुछ पूछना उचित नहीं समझा और रेलवे स्टेशन की और बढ़ा कि तभी बोलेरो वहां से चली गई।

रविवार की रात घटनास्थल पर देखी गई बोलेरो
ग्राम लौकहा के ग्रामीणों के मुताबिक एक सफेद रंग की बोलेरो घटनास्थल के पास आने-जाने वाले लोगों ने देखी थी। सूचना पर ग्रामीण सजग हुए और उसके आने का इंतजार करने लगे। लोगों ने बोलेरो को जब ग्रामीणों ने रोकने का प्रयास किया तो चालक तेज रफ्तार से गाड़ी भगा ले गया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper