कमाई का जरिया भी बनते हैं एनजीओ

Pilibhit Updated Tue, 30 Oct 2012 12:00 PM IST
पीलीभीत। जिले में एनजीओ का यूं तो जाल बिछा है, लेकिन कुछ ऐसी भी रहीं जिन्होंने जनता के साथ धोखा भी किया। ऐसी दो संस्थाओं के खिलाफ अतीत में मुकदमा भी हो चुका है। इसके चलते वास्तविक रूप से काम करने वाली संस्थाओं को भी बदनामी झेलनी पड़ती है।
सामाजिक उत्थान को केंद्र में रखकर बनने वाले एनजीओ का पंजीकरण बरेली स्थित सब रजिस्ट्रार कार्यालय से होता है। जिले भर में करीब 1950 एनजीओ पंजीकृत हैं। उद्देश्य सभी का समाज सेवा है, लेकिन इनमें से गिनी चुनी संस्थाएं ही अपने उद्देश्यों की पूर्ति कर रही हैं। अनेक संस्थाएं सरकारी योजनाओं का दुरुपयोग कर रही हैं। होता यह है कि विभागीय अधिकारियों की सांठगांठ से एनजीओ को काम मिल जाता है और वह कागजी कार्रवाई पूरी कर धन का बंदरबांट कर लेती हैं। चूंकि विभागीय अधिकारियों की संलिप्ता रहती है, इसलिए कब कहां किस एनजीओ ने काम कर लिया, इसकी भनक भी नहीं लग पाती।
बाराबंकी की संस्था शहीद अशफाक उल्ला खां समाज कल्याण सेवा समिति और बरेली की प्रभात किरन जन विकास संस्था के कारिंदों ने यहां महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए स्थानीय लोगों की मदद से जाल फैलाया था। महिलाओं को सिलाई कढ़ाई और ब्यूटीशियन का प्रशिक्षण देने के नाम पर दो से चार हजार रुपये आवेदकों से जमा करवाए गए। भरोसा दिलाया गया था कि उन्हें सिलाई मशीनें और ब्यूटीशियन किट उपलब्ध कराई जाएंगी। मुश्किल से एक माह में डेढ़ हजार महिलाएं संस्था से जुड़ गईं। लाखों रुपये इकठ्ठा होते ही एनजीओ संचालक रातोंरात फरार हो गए। ठगी का शिकार हुए लोगों ने एनजीओ के स्थानीय प्रतिनिधियों को घेरा तो एनजीओ संचालकों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत करा दिया गया। हालांकि पीड़ितों को आज तक धनराशि वापस नहीं मिल पाई।
0000
कुछ लोगों ने क्षेत्र में फैलाई गंदगी
समाज कल्याण विकास अध्ययन केंद्र के प्रबंधक परवेज हनीफ बताते हैं कि एनजीओ चलाना आज के दौर में बेहद मुश्किल साबित हो रहा है। लोगों को बेवकूफ बनाने वालों ने इस क्षेत्र को गंदा कर दिया है। विभागों में कमीशनखोरी का बोलबाला है जिससे इस क्षेत्र में काम करने की संभावनाएं लगातार घटती जा रही हैं।
0000
वर्तमान में हमारे विभाग का कोई भी काम किसी एनजीओ के माध्यम से संचालित नहीं हो रहा है। पूर्व की स्थिति मेरे संज्ञान में नहीं है।
उमापति
समाज कल्याण अधिकारी

Spotlight

Most Read

Shimla

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

20 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper