भयभीत हैं पूर्व विधायक की पत्नी-बेटी

Pilibhit Updated Thu, 25 Oct 2012 12:00 PM IST
पीलीभीत। 1960 की दशक में विधायक रहे दुर्गा प्रसाद की बेवा और बेटी पुलिस कार्रवाई न होने से भयभीत हैं। उनका कहना है, कभी भी उनकी हत्या हो सकती है। आरोप है कि दूसरे दिन भी पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।
मालूम हो कि थाना कोतवाली सदर क्षेत्र के मुहल्ला केसरी सिंह में रहने वाली भूतपूर्व विधायक स्वर्गीय दुर्गा प्रसाद की पत्नी तारा देवी को मकान के विवाद में कुछ लोग भयभीत कर भगाने में लगे हैं। इसी के तहत 22 अक्तूबर को विपक्षी उनके किराए के मकान पर आ धमके और बिजली लाइन काट दी तथा विरोध करने पर बेवा तारा देवी और उनकी पुत्री पर पेट्रोल छिड़ककर जान से मारने की कोशिश की थी। अमर उजाला ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया तो बुधवार को सीओ सिटी दिनेश शर्मा मौके पर पहुंचे।
उन्होंने पीड़ित मां-बेटी तथा पड़ोसियों के बयान लिए। साथ ही सीओ ने मौके पर तैनात सिपाहियों से अलर्ट रहने को कहते हुए किसी भी संदिग्ध के आने पर तत्काल सूचना देने के निर्देश दिए। इस बाबत सीओ सिटी ने बताया कि मामले की जांच हो रही है। वह खुद गंभीरता से ले रहे हैं। किसी को भी महिलाओं को परेशान नहीं करने दिया जाएगा।
रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों को भेजें जेल : तारा
भूतपूर्व विधायक की बेवा पत्नी तारा देवी का कहना है कि उन्होंने तहरीर पुलिस को दी, लेकिन अभी तक न तो रिपोर्ट दर्ज की गई और न ही अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया, जबकि वह लोग मोहल्ले में ही घूमकर उन्हें अब भी ऐलानियां धमकी दे रहे हैं। इससे उनकी कभी भी हत्या हो सकती है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017