शाहजी के रंग में रंग गया शहर

Pilibhit Updated Tue, 23 Oct 2012 12:00 PM IST
पीलीभीत। कुत्बे पीलीभीत हजरत शाहजी मोहम्मद शेर मियां रहमतुल्ला अलैह के 109 वें उर्स शरीफ में सोमवार को कुल शरीफ की रस्म अदा की गई। करीब एक लाख जायरीन ने कुल शरीफ में शिरकत की। सज्जादानशीन हजरत मुन्ने मिया ने मोहब्बत, अदब और भाईचारे का पैगाम दिया।
कुल शरीफ की शुरूआत दरबार के मीलादख्वां गुलजार अहमद, इस्तेखार अहमद, इमदाद अहमद, अनवार अहमद व यूसुफ शेरी ने शाहजी बाबा की शान में कलाम पेश करते हुए की। नईम अख्तर, अली अहमद, नसीम अहमद, फखरुद्दीन, मोहम्मद तारिक ने नात-ओ-मनकबत पेश कीं। मौलाना जलीस अहमद, मोहम्मद हसन कदीरी, मौलाना अतीक कदीरी ने शाहजी बाबा की रूहानी जिंदगी और करामतों का जिक्र किया। फातेहाख्वानी के बाद शजरा शरीफ पढ़ा गया। आखिर में सज्जादानशीन हजरत मुन्ने मियां शेरी ने सभी के हक में दुआ फरमाते हुए कहा कि मोहब्बत, अदब और भाईचारा इंसानियत की पहचान है। लोग इसे अपनाएं। खुदा, उसका रसूल और वली अल्लाह ऐसे लोगों को पसंद करते हैं। शाहजी बाबा के दरबार में सच्चे दिल से जो भी दुआ मांगोगे कुबूल होगी। यह वली का दरबार है यहां सब की सुनी जाती है।
उन्होंने अमन और तरक्की की भी दुआएं कीं। निजामत हाफिज अनवार अहमद ने की। कुल शरीफ में करीब एक लाख लोगों ने शिरकत की। इससे पहले अकीदतमंदों ने मजार शरीफ पर हाजिरी देकर गुलपोशी की। कुल शरीफ की रस्म पूरी होने के बाद सड़कों पर जन सैलाब नजर आया। भीड़ को नियंत्रित करने को पुलिस ने काफी मशक्कत की।
पहली बार किया गया इंतजाम
उर्स-ए-शाहजी के मौके पर पहली बार जायरीन के लिए लंगर और कयाम का इंतजाम खुद्दामें शाहजी अहले पीलीभीत की जानिब से किया गया था। सैय्यद अली नवेद, हसीन मियां, हब्बू खां, शरीफ अंसारी, बब्लू, वसीम अहमद, रियाज अहमद, मोहम्मद हसन, पप्पू और आरिफ ने जायरीन की खिदमत की।
गली- गली अदा हुई कुल की रस्म
नगर पालिका परिषद, एफसीआई समेत शहर की गली गली में शाहजी बाबा के कुल शरीफ की रस्म अदा की गई। हजारों की संख्या में अकीदतमंदों ने कुल में हिस्सा लिया।
मामू मियां के मजार पर भी हुआ कुल
शाहजी बाबा के मामू हजरत नेमतुल्ला शाह मियां रहमततुल्ला अलैह के खकरा स्थित मजार शरीफ पर दोपहर में कुल शरीफ हुआ। यहां भी हजारोें लोगों ने शिरकत की। शाम को दरगाह पर हजरत नन्हें मियां, बन्ने मियां और नौशे मियां का कुल शरीफ हुआ।
असलम साबरी की कव्वालियों पर झूमे अकीदतमंद
गुलमाने शाहजी की ओर से मंडी समिति में रविवार की रात कव्वाली और सुबह चादरपोशी के बाद कुल शरीफ और लंगर किया गया। मोहम्मद इरफान मोहम्मद तुफैल जोधपुर और असलम साबरी मुंबई ने अकीदतमंदों को कलाम से नवाजा। सुबह पांच तक चली कव्वाली में असलम साबरी की मशहूर कव्वाली क्यों आ के रो रहा है मोहम्मद के शहर में सुनकर लोग झूम उठे। इससे पहले उन्होंने मेरा चिश्तिया घराना मैं हूं साबिर का दिवाना और यह तो ख्वाजा का करम है कव्वालियां पेश कीं। यहां मोहम्मद रिजवान, मोहम्मद नाजिम, मोहम्मद शाहिद, मोहम्मद उसमान, शब्बू खां, जमीर, यामीन, निसार, अब्बू खां, उमर, सलीम आदि ने व्यवस्थाएं की।
ट्रेनों और बसों में रही व्यापक भीड़
उर्स शरीफ में शिरकत करने आए जायरीन के सैलाब से रोडवेज और ट्रेनों में व्यापक भीड़ रही। सभी मार्गो पर चलने वालों ट्रेनों और बसों में जगह पाने के लिए लोगों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। स्टेशन पर टिकट लेने वालों को भी धक्कामुक्की का शिकार होना पड़ा।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

बॉर्डर पर तनाव का पंजाब में दिखा असर, लोगों में दहशत, BSF ने बढ़ाई गश्त

बॉर्डर पर भारत और पाकिस्तान में हो रही गोलीबारी का असर पंजाब में देखने को मिल रहा है, जहां लोगों में दहशत फैली हुई है। बीएसएफ ने भी गश्त बढ़ा दी है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper