अधिकांश संचालकों का निर्विरोध निर्वाचन तय

Pilibhit Updated Fri, 19 Oct 2012 12:00 PM IST
पीलीभीत। जिले की सहकारी समितियों में संचालक पदों पर निर्वाचन प्रक्रिया गुरुवार को शुरू हो गई। समितियों पर नामांकन कराने वालों की काफी भीड़ रही। अधिकांश समितियों पर एक वार्ड से एक ही नामांकन दाखिल होने से उनका निर्विरोध निर्वाचन तय माना जा रहा है। पूरनपुर के घाटमपुर में दूसरे क्षेत्र के युवक द्वारा नामांकन दाखिल करने को लेकर लोगों ने हंगामा किया।
पीलीभीत साधन सहकारी समिति के नौ वार्डों में 13 पर्चे दाखिल किए गए। साधन सहकारी समिति बरातबोझ में तोताराम परमेश्वरी दयाल, इरशाद अहमद, बाबूराम, अनोखेलाल, बलवीर सिंह, मुरारी लाल के विरोध में कोई भी पर्चा दाखिल नहीं हुआ। बरहा विक्रम में अकील अहमद, सत्यप्रकाश गुप्ता, मोहम्मद आरिफ, राम भरोसे, हामिद शाह, करगैना में बाबूराम, कदीर अहमद, भगवानदास, शंकर लाल, अवधेश व गंगाराम के विरोध में भी कोई पर्चा दाखिल नहीं हुआ। इन सभी का निर्विरोध निर्वाचन तय माना जा रहा है। इन समितियों के शेष पदों पर संचालकों का चुनाव निर्धारित समय पर होगा। शिवनगर किसान सेवा सहकारी समिति में निरंजनलाल, कपूर सिंह, झंकार सिंह व राम भरोसे का निर्विरोध निर्वाचन तय है। शेष पांच वार्डो में चुनाव होगा।
अमरिया। किसान सेवा सहकारी समिति के नौ वार्डो में से हरीशंकर, शोभारानी, मदनलाल, एजाजउ्ददीन खां के विरोध में कोई भी नामांकन नहीं हुआ। शेष पांच वार्डों में चुनाव होगा। बिलहरा बालपुर सहकारी समिति में लालमन व मिलकीत कौर, टोंडरपुर में जितेन्द्र कौर, राकेश चन्द्र गंगवार, अनीसउद्दीन, उमराव सिंह, बलकार सिंह, खेमकरन, गेंदनलाल व बलविंदर का निर्विरोध निर्वाचन तय है। यहां एक वार्ड में चुनाव होगा।
बीसलपुर। क्षेत्र की सभी सहकारी समितियों के लिए गुरुवार को नामांकन पत्र दाखिल किए गए। अधिकांश पर एक मात्र नामांकन आने से संचालकों का निर्विरोध चुना जाना तय माना जा रहा है। जबकि कुछ सीटों पर चुनाव होगा।
चुर्रासकतपुर। सहकारी समिति की रिछोला के लिए कई सदस्यों ने नामांकन पत्र दािखल किए। कई सीटों पर संचालकों का निर्विरोध चुना जाना तय है।
पूरनपुर। सहकारी समितियों में संचालक पदों के के लिए नामाकंन कराने वालों की भीड़ रही। घाटमपुर में दूसरे क्षेत्र के युवक द्वारा नामांकन दाखिल करने को लेकर लोगों ने हंगामा किया।
शेरपुरकलां। शेरपुर किसान सेवा सहकारी समिति के नौ संचालक पदों के लिए संध्या सिंह, बिहारी लाल, रामआसरे व मोहम्मद उमर खां का निर्विरोध निर्वाचन तय माना जा रहा है। शेष पदों के लिए चुनाव होंगे।
घुंघचाई। दिलावरपुर समिति के लिए 21 घुंघचाई व घटमपुर में 17-17 नामाकंन दाखिल किए गए। अभयपुर माधौपुर में दूसरे स्थान के युवक द्वारा नामाकंन दाखिल करने पर लोगों ने हंगामा काटा। जांच के दौरान उसका नामाकंन खारिज कर दिया गया।
बिलसंडा। नगर स्थित किसान सेवा सहकारी समिति पर नौ सीटों में से छह पर चुनाव होगा। दलवीर कौर, मुनेन्द्रपाल सिंह और रणधीर सिंह का निर्विरोध निर्वाचित होना तय है। सिंधौरा खरगपुर में नौ सीटों में से पांच पर चुनाव होगा। कुंदन सिंह, नत्थूलाल, ऋषिपाल और निर्मल सिंह का निर्विरोध निर्वाचित होना तय है।
0000
कॉलेजों की समितियों के लिए नहीं हुए नामांकन
बीसलपुर। तहसील क्षेत्र के इंटर कॉलेजों ओैर माध्यमिक विद्यालयों की वेतन भोगी कर्मचारी सहकारी समितियों के चुनाव के लिए गुरुवार को नामांकन नहीं हुए। लोग दिनभर चुनाव अधिकारी की प्रतीक्षा करते रहे। अपर जिला सहकारी अधिकारी सुरेश सिंह ने बताया कि द्वितीय चरण में कॉलेजों की समितियों के चुनाव कराए जाएंगे।
हजारा। किसान सेवा सहकारी समिति कबीरगंज और हजारा में 20-20 लोगाें ने नामांकन कराए। मंजू यादव एनुल हुसैन रामकिशन, कालीपद, विनोद कुमार का निर्विरोध होना तय है। नहरोसा-कोठिया गुदिया से महेंद्र सिंह के नामाकंन में सोहन लाल की आपत्ति पर हंगामा हुआ बाद में वास्तविक प्रति न दिखा पाने पर सोहन लाल निषाद निर्विरोध हो गए।
सिंधौरा खरगपुर समिति पर लोगों ने किया हंगामा
बिलसंडा। गांव सिंधौरा खरगपुर साधन सहकारी समिति पर दूसरी समिति के क्षेत्र से जुड़े एक व्यक्ति द्वारा डायरेक्टर पद के लिए नामांकन करा दिया। इसकी भनक जब विपक्ष के लोगों को हुई तब उन लोगों ने न केवल आपत्ति दाखिल की बल्कि समिति पर हंगामा भी किया। गांव करेली निवासी बृजराज सिंह ने बताया कि उन्होंने अपने क्षेत्र से डायरेक्टर पद के लिए बृहस्पतिवार को नामांकन पत्र दाखिल किया। उनके मुकाबले ग्राम पंचायत सिमरोली के क्षेत्र में रहने वाले एक किसान ने भी अपना नामांकन भी दाखिल किया। आरोप है कि किसान ने साठगांठ कर गलत तरीके से इस समिति पर वोट बनवा लिया। उधर नामांकन पत्र दाखिल किए जाने की भनक लगते ही आपत्ति भी दाखिल की गई, लेकिन निर्वाचन अधिकारी ने यह कहकर आपत्ति खारिज कर दी कि वोट पहले का बना हुआ नियमानुसार अनंतिम सूची जारी होने से पहले आपत्ति करनी चाहिए थी। सचिव द्वारा सुनवाई न किए जाने से लोग भड़क उठे और समिति पर हंगामा किया।
जिस फार्मर के नामांकन पत्र पर आपत्ति की गई है उसका वोट पहले का बना हुआ है। ऐसी स्थिति में वह नामांकन पत्र खारिज नहीं कर सकता। अनंतिम सूची प्रदर्शन के समय आपत्ति करनी चाहिए थी। अब इसमें कुछ नहीं हो सकता।
महेश पाल, निर्वाचन अधिकारी

Spotlight

Most Read

Chandigarh

बॉर्डर पर तनाव का पंजाब में दिखा असर, लोगों में दहशत, BSF ने बढ़ाई गश्त

बॉर्डर पर भारत और पाकिस्तान में हो रही गोलीबारी का असर पंजाब में देखने को मिल रहा है, जहां लोगों में दहशत फैली हुई है। बीएसएफ ने भी गश्त बढ़ा दी है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper