नवरात्र में बिजली कटौती से हाहाकार

Pilibhit Updated Wed, 17 Oct 2012 12:00 PM IST
पीलीभीत। शहर में नवरात्र के पहले दिन ही बिजली कटौती से हाहाकार मच हुआ है। बमुश्किल दस घंटे से ज्यादा सप्लाई शहर को नहीं मिल पा रही है। सुबह-शाम की कटौती से शहर में पेयजल संकट गहरा गया है। कटौती से लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
रविवार की शाम शहर की बिजली साढ़े छह बजे कट कर दी गई जो रात करीब दस बजे आई। सोमवार की सुबह आठ बजे से नौ बजे तक शहर के फीडर संख्या दो की बिजली गायब रही। सुबह ग्यारह बजे से तीन बजे तक शहर की बिजली काट दी गई। वहीं रात को रोस्टर के मुताबिक नौ से बारह बजे बिजली काटने का प्रावधान है। शहर में इस समय आठ से दस घंटे से ज्यादा बिजली नहीं मिल रही है।
देर शाम भी शहर के मुहल्ला कुंवरगढ़, बल्लभ नगर, काला मंदिर, लेखराज चौराहा, नयी बस्ती आदि में लो-वोल्टेज और ट्रिपिंग की समस्या बनी रही। अभी तक किसी भी जनप्रतिनिधि और विभागीय कर्मचारियों ने इस गंभीर समस्या की ओर ध्यान नहीं दिया है।
एक मोबाइल ट्रांसफार्मर पर शहर
शहर में जर्जर ट्रांसफार्मरों के फुंकने का सिलसिला काफी पुराना है। वर्तमान में शहर में अलग-अलग क्षमताओं के 204 ट्रांसफार्मर हैं। अगर शहर में कहीं पर भी कोई ट्रांसफार्मर खराब हो जाता है तो वहां मोबाइल ट्रांसफार्मर से सप्लाई चालू कर दी जाती है। ऐसे में पूरा शहर मात्र एक मोबाइल ट्रांसफार्मर पर निर्भर है।
नए शेड्यूल का नहीं पहुुंचा फरमान
बिजली विभाग के अनुसार सुबह ग्यारह से दोपहर तीन और रात को नौ से बारह बजे तक बिजली काटने का प्रावधान है। कुल मिलाकर सोलह घंटे बिजली दी जानी चाहिए। जबकि शहर को दस घंटे से ज्यादा बिजली नहीं मिल पा रही है।
यह है बिजली की स्थिति
शहरी क्षेत्र को प्रतिदिन 24 मिलियन यूनिट बिजली की जरूरत है। इसके सापेक्ष 16 मिलियन यूनिट की ही प्राप्ति होती है। इसमें भी करीब 20 प्रतिशत 4.8 मिलियन यूनिट लाइन लॉस हो जाता है। इस तरह बिजली विभाग के आंकड़ाें के मुताबिक 24 के सापेक्ष 11.2 मिलियन यूनिट बिजली की प्राप्ति होती है। क्या कहते शहरी उपभोक्ता
पीबीटीपी 12,13,14,15
अशोक कालोनी ने रहने वाले चंदन ने बताया कि रात्रिकालीन कटौती ने नाक में दम करके रख दिया है। व्यापार पूरा चौपट हो गया है। आवास विकास निवासी राजेश ने बताया कि सुबह की कटौती से आज घर में पानी नहीं आया। नवरात्र पर तो बिजली व्यवस्था सुधरनी चाहिए। ठेका चौकी निवासी विनय ने बतायाकि लो-वोल्टेज और ट्रिपिंग लगातार बनी हुयी है। दिन और रात में कटौती ने दम निकाल कर रख दिया है। पीलखाना में रहने वाले मनोज ने बताया कि शाम होते ही शहर में अंधकार छा जाता है। आखिर कटौती से जिले को कब निजात मिलेगी।
लोकल स्तर पर यहां से कटौती नहीं की जा रही है। फीडर से जो भी सप्लाई मिलती है। उसके मुताबिक सप्लाई दी जाती है। इमरजेंसी कटौती कंट्रोल के आदेश पर होती है। अगर कोई लोकल फाल्ट होता है। उसे तुरंत की ठीक करा दिया जाता है। - अनुराग कटियार, एसडीओ सिटी

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls