रेल कर्मियों ने लालों को दिया तोहफा

Pilibhit Updated Sun, 30 Sep 2012 12:00 PM IST
पीलीभीत। शनिवार को जिले में 22 युवाओं ने रेल विभाग से जुड़कर अपने कॅरिअर की शुरुआत कर दी। एक साल पहले रेलवे द्वारा लागू की गई वीआरएस योजना के तहत इन युवाओं को उनके पिता की जगह नौकरी मिल गई। पूरे भारत में वीआरएस योजना में इज्जत नगर रेल मंडल सबसे पहले नौकरी देने में अव्वल रहा।
बाक्स
क्या है वीआरएस योजना
एक साल पहले रेल विभाग ने उदारीकृत सक्रिय सेवा निवृत्ति योजना शुरू की है, जिसमें रेलवे में विभाग में काम करने वाले चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी अपनी जॉब अपने बच्चे को हैंडओवर कर सेवानिवृत्ति ले सकता है। इस योजना का लाभ लेने के लिए रेल कर्मी की कम से कम 20 साल की सर्विस पूरी होनी चाहिए। साथ ही कर्मचारी की तीन साल की जॉब बची होनी चाहिए और उसकी उमर 50 से 57 साल के बीच होनी चाहिए।
खुशी से खिल उठे चेहरे
सरकारी नौकरी करना हर युवा का सपना होता है। ऐसे में बीआरएस योजना में जब रेल कर्मियों के लालों को उनके पिता की जगह जॉब मिली तो वे खुशी से झूम उठे। शनिवार को जैसे ही उन्हें नियुक्ति पत्र मिला वे उछल पड़े। सरकारी जॉब पाकर युवाओं को अपने भविष्य को लेकर लगी चिंता दूर हो गयी।
सेवानिवृत्ति पर भी खिली मुस्कान
वैसे तो रिटायरमेंट पर लोग उदास हो जाते हैं, मगर यहां बात अलग है। अपने लालों को अपनी नौकरी देकर रेल कर्मियों के चेहरे पर मुस्कान बिखर गई।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls