कहीं शक में तो कहीं सच में दिखा बाघ

Pilibhit Updated Tue, 11 Sep 2012 12:00 PM IST
पूरनपुर। वन कर्मियों की सतत निगरानी, ट्रैंकुलाइजिंग एक्सपर्ट की मौजूदगी के बीच इलाके में बाघ की दहशत कायम है। रविवार रात बाघ फार्म हाउस में घुसकर कुत्ते को उठा ले गया। जराकोठी गांव में एक पड्डे को मार डाला। रुरिया सलेमपुर क्षेत्र में शावकों के साथ बाघिन और धरमंगदपुर गुरुद्वारा के समीप बाघ देखा गया।
रविवार की रात बाघ जटपुरा-गजरौला मार्ग पर स्थित बूटा सिंह के फार्म हाउस से कुत्ते को उठा ले गया। सोमवार की सुबह डीएफओ एके सिंह, एसडीओ आरपी सिंह के नेतृत्व में वन कर्मियों ने गन्ने के खेत के अंदर तक बाघ और उसके खाए शिकार की खोज की। हरीपुर रेंजर जगन्नाथ प्रसाद ने बताया कि बाघ के पद चिन्ह मौके पर मिले। उधर गांव रुरिया सलेमपुर के समीप दो शावकों के साथ बाघिन दिखने की सूचना पर सामाजिक वानिकी के डिप्टी रेंजर एसके वर्मा आदि पहुंचे लेकिन बाघ के पद चिन्ह नहीं मिले। उधर जराकोठी में खन्नौत नदी किनारे रह रहे किसान जोगेंद्र सिंह फौजी के एक पड्डे पर देर शाम बाघ ने हमला कर दिया। शोर मचाने पर बाघ पड्डे को छोड़ कर जंगल की ओर भाग गया। घायल पड्डे ने कुछ देर में दम तोड़ दिया।
माधोटांडा संवाददाता के अनुसार रविवार की शाम बाघ धरमंगदपुर गुरुद्वारे के निकट आ पहुंचा। वन कर्मियों ने पगमार्क ट्रेस किए, जो युवा बाघ के बताए गए। इधर सोमवार की सुबह सुंदरपुर गांव के निकट भूपराम, शीशपाल आदि को भी बाघ दिखा। वन रक्षक शिवदयाल ने बताया कि बाघ के पद चिन्ह सही से ट्रेस नहीं हो पाए। घुंघचाई संवाददाता के अनुसार गांव लोहन्ना-सोहन्ना के समीप बाघ देखे जाने पर लोगों ने आग जलाकर रात काटी।

रात में दिख रहा बाघ
पूरनपुर। विशेषज्ञों के अनुसार बाघ दिन की बजाय सुबह और शाम बाहर निकलता है। उन्होंने लोगों को इस दौरान चौकन्ना रहने का सुझाव दिया और निगरानी टीमों को गश्त तेज करने के निर्देश हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि बाघ को रात के अंधेरे में ट्रैंकुलाइज करने पर यदि वह कहीं छिप जाए और मिले न तो उसकी मौत भी हो सकती है। उल्लेखनीय है कि वन कर्मी बाघ की निगरानी दिन में कर रही हैं और वह रात में आतंक मचा रहा है।

प्रधानों की बैठक बुलाकर मांगा सहयोग
पूरनपुर। नगर के एक होटल मेें डब्ल्यूटीआई के डॉ. प्रेमचंद पांडेय ने जंगल किनारे के ग्राम प्रधानों और जनप्रतिनिधियों की बैठक बुलाई। डॉ. पांडेय के अलावा सामाजिक वानिकी के डीएफओ अरविंद सिंह, एसडीओ आरपी सिंह ने बाघ को पकड़ने में आ रही समस्याओं के बारे में बताया और लोगों से सहयोग की अपील की। बैठक में बीसलपुर के रेंजर कुंज मोहन वर्मा और सामाजिक वानिकी के डिप्टी रेंजर एसके वर्मा, सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष उमाशंकर यादव, हाजी मझले, प्रधान जटपुरा विपिन सिंह, प्रधान रुदपुर अभयपुर दुर्गा सरन, हुसैनापुर के प्रधान प्रतिनिधि आकाश अगिभनहोत्री, टंडोला प्रधान असलम, ढक्काचांट के प्रधान परमजीत सिंह, आकाश सिंह आदि थे।

आमरण अनशन आज से
पूरनपुर। भारत स्वाभिमान संघर्ष समिति के तहसील अध्यक्ष चैतन्य देव मिश्र के अनुसार वह 11 सितंबर से तहसील परिसर में बाघों को पकड़वाकर जंगल में छुड़वाने, रसोई गैस की कालाबाजारी रोकने, बिजली कटौती बंद कराने आदि की मांग को लेकर आमरण अनशन शुरू करेंगे।

Spotlight

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper