विज्ञापन
विज्ञापन

बाघ और विशेषज्ञों में लुकाछिपी

Pilibhit Updated Tue, 28 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
सड़क पर बैठा रहा बाघ, खेत में छात्रा पर हमला, दुपट्टा फंसा पंजे में
विज्ञापन
विज्ञापन
वनकर्मियों ने खेत मेें की घेराबंदी
आठ घंटे प्रयास बाद भी नहीं मिली लोकेशन


पीलीभीत/पूरनपुर। आतंक का पर्याय बने बाघ और पकड़ने के लिए आए एक्सपर्ट के बीच अब लुकाछिपी का खेल शुरू हो गया है। रविवार की रात बाघ सड़क पर देखा गया, लेकिन एक्सपर्ट नहीं पहुंच सके। सोमवार को गन्ने के खेत में छिपे बाघ ने छात्रा पर हमला किया तो वनकर्मी और ट्रैंकुलाइजिंग एक्सपर्ट मौके पर पहुंचे लेकिन तब बाघ नहीं दिखा। आठ घंटा तक चले अभियान में विशेषज्ञों को बाघ की लोकेशन पता नहीं चल सकी।
रविवार रात हरीपुर मार्ग पर बाघ दिखने की सूचना पर रेंजर जगन्नाथ प्रसाद, टरक्वाइज वाइल्ड लाइफ कंजर्वेशन सोसायटी के अध्यक्ष अख्तर मियां टीम के साथ पहुंचे। बाघ करीब आधा घंटा तक सड़क पर बैठा रहा, लेकिन एक्सपर्ट नहीं पहुंच सके। बारिश शुरू होने पर बाघ खेतोें की ओर चला गया। सोमवार की सुबह अभयपुर नौगवां गांव के गन्ने के खेतों में बाघ ने मथुरा प्रसाद की बेटी और गन्ना कृषक महाविद्यालय की छात्रा विमला देवी पर हमला कर दिया। हालांकि आहट पाकर विमला के दौड़ पड़ने से बाघ के पंजे में सिर्फ उसका दुपट्टा आ सका। इसके बाद बाघ गन्ने के खेत में चला गया। जानकारी मिली तो वनकर्मी टीम के साथ आ गए। हथनियों को भी बुला लिया गया। घंटों तलाश के बाद भी बाघ की लोकेशन पता नहीं चल सकी। शाम चार बजे ट्रैंकुलाइजिंग अभियान कुछ देर के लिए रोक दिया गया। अख्तर मियां ने बताया कि खेतों में बाघ के ताजा पग चिन्ह मिले हैं।

बाघ के हमले से छात्रा बदहवास

बाघ के हमले से विमला बदहवास हो गई। एक घंटे बाद तक उसकी कंपकंपी बंद नहीं हुई। उसने और साथी महिलाओं ने इससे पहले बाघ को गन्ने के एक खेत से दूसरे खेत में जाते देखा था। यह सोचकर कि बाघ चला गया है वे बेहद सतर्कता से घर की ओर चली थीं लेकिन बाघ ने अचानक झपट्टा मारा। पहले से सतर्क होने के कारण उसने महिलाओं के साथ दौड़ लगा दी। अगर पांच सेकेंड का भी अंतर हो जाता तब बाघ उसे मार देता। छात्रा को देखने वालों का उसके घर हुजूम उमड़ पड़ा।

ग्रामीणों का विरोध आया आड़े
पूरनपुर। गन्ने के खेतों में छिपे बाघ को ट्रैंकुलाइज करने की तैयारी तो पूरी थी लेकिन हथिनियों को गन्ने के खेत में ले जाने की अनुमति देने को ग्रामीण तैयार नहीं हुए। इस कारण बाघ की लोकेशन पता नहीं की जा सकी।
सोमवार को बाघ गांव अभयपुर नौगवां के रामनिवास के खेत मेें था। रामनिवास और उसके पड़ोस स्थित उसके भाइयों के गन्ने के खेत में बाघ को ढूंढने को वन कर्मियों ने हाथी खेत में ले जाने की सहमति मांगी। प्रधान दुर्गा सरन को भी बुलाया गया। लेकिन सारे प्रयास नाकाम रहे। सामाजिक वानिकी के रेंजर अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि रामनिवास के विरोध के चलते खेतों के भीतर हथनियों को नहीं ले जाकर केवल मेड़ पर घुमाया गया। इस कारण बाघ की लोकेशन नहीं मिल सकी।



उधर सेहरामऊ उत्तरी थाना क्षेत्र के गांव दुर्जनपुर कलां में शाम करीब छह बजे बाघ देखा गया। बाघ को खदेड़ने को कुछ लोगों ने फायरिंग की। गांव रुदपुर नौगवां के समीप गन्ने के खेत में बाघ को पकड़ने के लिए पिंजरा लगा दिया गया है। इसमें बकरी भी बांधी गई है।

Recommended

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
HP Board 2019

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Bareilly

इलाहाबाद, आगरा सहित कई रूट पर उड़ने को रहें तैयार

इलाहाबाद, आगरा सहित कई रूट पर उड़ने को रहें तैयार

19 अप्रैल 2019

विज्ञापन

फैक्टरी में अमोनिया गैस का रिसाव, दो दर्जन से ज्यादा लोग पहुंच गए अस्पताल

मथुरा में एक आइस फैक्ट्री में अमोनिया गैस का रिसाव हो गया। घटना के बाद लोगों में अफरातफरी मच गई। हादसे में दो दर्जन लोग प्रभावित हुए। जिसके बाद उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया।

20 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election