गजरौला खास और बिलहरी में दिखा खूंखार बाघ

Pilibhit Updated Fri, 24 Aug 2012 12:00 PM IST
देर शाम बकरी को बनाया निवाला, युवक को दौड़ाया
महिला को निवाला बनाने वाले खेत के इर्द-गिर्द टहल रहा बाघ

पीलीभीत/ पूरनपुर। महिला को निवाला बनाने और छात्र पर हमला करने वाला बाघ एक हो सकता है। इसलिए कि इन दोनों गांवों की दूरी महज डेढ़ किलोमीटर पर है। इन गांवों के लोगों ने रात बाघ की दहाड़ सुनी और सुबह गन्ने के खेतों में घुसते देखा। मौके पर पद चिन्ह भी मिले हैं। माना जा रहा है कि मानव रक्त का स्वाद चखने के कारण यह बाघ अब जंगल लौटने के बाद भी बस्ती की ओर आ रहा है। इससे दहशत है।
मालूम हो कि सामाजिक वानिकी वन प्रभाग पूरनपुर क्षेत्र के गांव गजरौला खास निवासी ढाकनलाल की 48 वर्षीय पत्नी फूलमती की 21 अगस्त को शाम करीब चार बजे गन्ने के खेत मेें अधखाई लाश मिली थी। उस समय भी बाघ खेत में ही छिपा था, जिसने भीड़ पर हमला बोला था। इस घटना की दहशत कम नहीं हो पाई थी कि इस गांव से महज डेढ़ किलोमीटर दूर स्थित गांव बिलहरी में 22 अगस्त को पुष्पेंद्र मिश्र के 12 वर्षीय पुत्र अर्पित मिश्रा पर खेत से चारा काटने के दौरान बाघ ने हमला कर दिया था। रात भर गांववासी बाघ की दहशत में शोरशराबा करते रहे। बिलहरी गांव के लोगों ने रात में बाघ की दहाड़ भी सुनी। बृहस्पतिवार को इन दोनों गांवों समेत आसपास के लोग भी अकेले खेतों में नहीं गए। सुबह गजरौला खास में उसी खेत के पास बाघ देखा गया, जहां उसने महिला का निवाला बनाया था। महिला के पुत्र रामपाल, नन्हे, रामविलास आदि ने देखा। इसकी सूचना वन अधिकारियों को हुई तो वह मौके पर आए, जिन्होंने जंगल के पास तक बाघ के पद चिन्ह देखे। वनाधिकारी जंगल में नहीं घुसे और बाघ के लौट जाने की बात कही। इधर, दोपहर बाद फिर बिलहरी के पूरब बाघ देखे जाने से हड़कंप मच गया। शाम को गजरौला निवासी रामचरन के घर में घुसकर बाघ ने बकरी को निवाला बना लिया। इसी गांव के बलराम का कहना है कि खेत की निराई करते समय बाघ ने उसे दौड़ा लिया। बहरहाल बाघ की दहशत से लोग सहमे हैं।

तो खेतों में न जाएं ग्रामीण : डीएफओ
इस पर सामाजिक वानिकी के डीएफओ एके सिंह का मानना है कि बाघ महिला को निवाला बनाने और बालक को घायल करने वाले स्थान के इर्द-गिर्द घूम रहा है, इसलिए वन विभाग की टीम को लगाकर लोगों को अलर्ट किया जा रहा है। लोगों से बाघ पकड़े जाने तक खेतों में न जाने की भी अपील की जा रही है।
2
पवनकली और गंगाकली पकड़ाएगी बाघ
पीलीभीत। दुधवा टाइगर रिजर्व क्षेत्र की हथिनी पवनकली और गंगाकली बाघ पकड़वाएगी। डीएफओ एके सिंह ने बताया कि एसडीओ आरपी यादव, माला रेंजर खुर्शीद और सामाजिक वानिकी के रेंजर वीरपाल हाथियों को लेने दुधवा रवाना हो गए हैं। पवनकली गुरुवार की देररात तक तथा गंगाकली शुक्रवार की सुबह 11 बजे तक पहुंच जाएगी। ट्रैंकुलाइज टीम को बुलाने को भी संपर्क साधा गया है। उन्होंने टीम के शुक्रवार शाम तक पहुंचने की संभावना जताई है।

चौराहे पर रख दिया पिंजरा

पूरनपुर। बाघ को पकड़ने के लिए पिंजरा हुसैनापुर चौराहे पर रख दिया गया, जिसे दिन भर बच्चे, युवा और बुजुर्ग उत्सुकता से देखते रहे। डीएफओ एके सिंह का दावा है कि पिंजरा लगा दिया गया, लेकिन देर शाम तक वह चौराहे पर ही रखा रहा।

ग्रामीणों ने जताई नाराजगी


पीलीभीत। गजरौला खास में बाघ के आतंक से परेशान लोगों ने गुरुवार को डीएफओ से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। समाजवादी अल्पसंख्यक सभा के जिलाध्यक्ष हाजी रियाजतनूर खां के नेतृत्व में ग्राम प्रधान समेत मृतका के परिजनों ने डीएफओ से बाघ से सुरक्षा न करने पर नाराजगी जताई। डीएफओ ने आश्वस्त किया कि मृतका के परिजन को एक लाख रुपये मुआवजा दिलाया जाएगा। बाघ को पकड़ने के लिए उप प्रभागीय वनाधिकारी आरपी यादव व वीरपाल सिंह को हाथी मंगवाने के लिए दुधवा रवाना कर दिया गया है। ट्रैंकुलाइज टीम के प्रभारी एके सिंह से भी वार्ता हो गई है। शुक्रवार तक हाथी और ट्रैंकुलाइज टीम मौके पर पहुंच जाएगी। उन्होंने कहा कि बाघों को ट्रेंकुलाइज कर बहुत जल्द जंगल में छोड़ा जाएगा। मुलाकात करने वालों में गजरौला के प्रधान मेवाराम, मंजीत सिंह, मृतका के पति ढ़ाकन लाल, अयाज खान, डॉ जैनुल, आजाद खां, नन्हें लाल, इनाम बेग व इशारतनूर खां थे।

पूर्व मंत्री ने परिजनों को दी सांत्वना

पूरनपुर। पूर्व मंत्री डॉ विनोद तिवारी ने क्षेत्र में बाघ के आतंक पर गहरी नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने डीएम से मोबाइल पर वार्ता कर बाघ को पकड़वाने और बाघ का निवाला बनी फूलमती के परिजनों सहायता दिलाने की मांग की। पूर्व मंत्री ने फूलमती के परिजनों को ढाढ़स बंधाया। कहा कि बाघ शीघ्र न पकड़े जाने पर वह मुख्यमंत्री से मिलेंगे।

Spotlight

Most Read

National

पुरुष के वेश में करती थी लूटपाट, गिरफ्तारी के बाद सुलझे नौ मामले

महिला लड़कों के ड्रेस में लूटपाट को अंजाम देती थी। अपने चेहरे को ढंकने के लिए वह मुंह पर कपड़ा बांधती थी और फिर गॉगल्स लगा लेती थी।

20 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper