पानी नहीं, सिर्फ मिला आश्वासन

Pilibhit Updated Mon, 06 Aug 2012 12:00 PM IST
टैक्स देने पर भी सुभाष नगर कालोनी में पेयजल आपूर्ति नहीं
दस साल पहले चंदा कर डलवाई गई थी लाइन
वाहनों से दबकर बर्स्ट हो गई थी पाइप लाइन
कालोनी के अधिकांश लोग हैंडपंप पर ही निर्भर

पीलीभीत। सुभाष नगर कालोनी में लोगों को पेयजल तक नसीब नहीं होता। यह हाल तब है जब टनकपुर रोड स्थित वाटर पंप से महज दो सौ मीटर की दूरी पर पानी की एक बूंद सप्लाई नहीं कर पाती। वजह यह कि पाइप लाइन बर्स्ट है। करीब 250 परिवार हर साल जलकर देते हैं। लेकिन पानी की जगह सिर्फ आश्वासन ही मिलता आ रहा है।
करीब 10 वर्ष पूर्व पाइप लाइन डलवाने की मांग कालोनी वालों ने की थी। कई बार मांग के बाद भी जब पाइप लाइन नहीं पड़ी तो लोगों ने चंदा कर 210 मीटर की मेन लाइन और 180 मीटर की लिंक लाइन डलवा ली। पालिका ने उसे पंप से कनेक्ट कर सप्लाई शुरू करवा दी। यह सप्लाई कुछ ही समय ठीक ठीक चल पाई। सड़क निर्माण का काम शुरू होने पर पाइप लाइन अंडर ग्राउंड कर दी गई। इसके बाद भवन सामग्री से लदे वाहनों से दबकर पाइप लाइन बर्स्ट हो गई। नतीजा यह हुआ कि एक बार फिर पानी की किल्लत शुरू हो गई। 250 परिवार वाली इस कालोनी में कुछ लोगों ने निजी बोरिंग और मोटर के सहारे काम चला रहे है मगर, अधिकांश लोग हैंड पंप पर ही निर्भर हैं। बार बार मांग के बाद भी पाइप लाइन की फिलहाल व्यवस्था नहीं हो पाई है। इससे लोगाें में पालिका प्रशासन के खिलाफ गुस्सा है।

निजी व्यवस्था से मिलता है पानी
हमने कालोनी में 14 वर्ष पूर्व मकान बनवाया था। लोगों ने धन एकत्र कर पाइप लाइन की व्यवस्था कर ली। कुछ समय ही पानी मिल पाया। इसके बाद से पेयजल की निजी व्यवस्था करा रखी है। पालिका जलकर तब भी वसूलती है।
सुनीता सक्सेना

उदासीन रवैय्ये का शिकार है कालोनी

बीस साल पहले बड़ी उम्मीदों के साथ इस कालोनी में घर बनाया था। यह कालोनी पालिका के उदासीन रवैये का शिकार बनती आ रही है। पेयजल जैसी बुनियादी सुविधा तक यहां नहीं है। जमाना कहां पहुंच गया, हम पिछड़े हैं।
सुदेश गुप्ता


टैक्स लेते हैं पानी कौन देगा
पेयजल आपूर्ति सुचारु न होना कालोनी का दुर्भाग्य है। नगर पालिका टैक्स वसूलती है। पेयजल आपूर्ति की जिम्मेदारी कौन पूरी करेगा। कभी इस बारे में नहीं सोचा गया। व्यवस्था में सुधार की पहल होनी चाहिए।
ममता रानी
0000
05 पीबीटीपी 16
नागरिक अधिकार का हनन
करीब सात साल पहले तक पेयजल आपूर्ति व्यवस्था ठीक रही। इसके बाद से पाइप लाइनें सूखी पड़ी हैं। कई जगह तो पाइप लाइन गल गई। पालिका जलकर वसूलती है मगर, दायित्व नहीं निभा रही है। यह नागरिक अधिकार का हनन है।
दीक्षा शुक्ला

पेयजल योजना में कराएंगे काम

मेरी प्राथमिकताओं में शहर की पेयजल आपूर्ति दुरुस्त कराना नंबर एक पर है। जिस इलाके में पाइप लाइन नहीं है या खराब हो चुकी है, वहां नए पंप लगवाकर पर्याप्त आपूर्ति के संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे।
प्रभात जायसवाल
चेयरमैन, नगर पालिका

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper