स्टेनो से अभद्रता पर भड़का गुस्सा

Pilibhit Updated Wed, 25 Jul 2012 12:00 PM IST
कलेक्ट्रेट कर्मियों ने किया प्रदर्शन, एडीएम को दिया ज्ञापन
24 घंटे में कार्रवाई न होने पर दी आंदोलन की चेतावनी

पीलीभीत। एडीएम के स्टेनो के साथ पुलिस कर्मियों की अभद्रता पर मंगलवार को कलेक्ट्रेट कर्मी भड़क गए। हड़ताल की घोषणा के साथ एडीएम को ज्ञापन दिया। कार्रवाई के आश्वासन पर हड़ताल का फैसला वापस ले लिया। मगर चौबीस घंटे में कार्रवाई न होने पर आंदोलन की धमकी दी।
एडीएम शिवाकांत द्विवेदी के स्टेनो शंकरलाल शहर के मोहल्ला खकरा में रहते हैं। आरोप है कि चार पुलिस कर्मी और एक दरोगा सोमवार की रात उनके घर में घुस आए और अभद्रता करने लगे। स्वयं को एडीएम का स्टेनो बताए जाने पर भी गाली गलौज करते हुए पुलिस वाले उन्हें कोतवाली ले गए। पीछे से घरवाले और मोहल्ले के लोगों के कोतवाली पहुंचने पर छोड़ दिया गया।
शंकरलाल ने मंगलवार को सुबह कलेक्ट्रेट पहुंचकर पूरी घटना से साथियों को अवगत कराया। उनके साथ हुई अभद्रता पर मिनिस्टीरियल कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ ने आपात बैठक बुलाई। घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए हड़ताल पर जाने की घोषणा कर दी। संघ के शिष्टमंडल ने एडीएम से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में आरोपी दरोगा व पुलिस कर्मियों को 24 घंटे में निलंबित करने की मांग की गई है। कार्रवाई न होने पर आंदोलन चलाने की चेतावनी दी गई है।
एडीएम के कार्रवाई के आश्वासन पर कर्मचारियों ने हड़ताल समाप्त कर दी। इस मौके पर संघ के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह, मंत्री अश्वनी कुमार राजा, मदनलाल, शोभित सक्सेना, संजीव कुमार सक्सेना, सुधीर कुमार शर्मा, मसूद हसन खां, प्रताप सिंह सहित अनेक कर्मचारी थे।

झगड़ा करने पर लाए गए थे कोतवाली
फोन पर खकरा मोहल्ले में दो भाईयों के बीच झगड़े की सूचना पर मैंने मोबाइल ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों को मौके पर भेजा था, जहां से दो लोगों को कोतवाली लाया गया था। बाद में मोहल्ले के लोग और परिजन आ गए। समझौते के आश्वासन पर दोनों को छोड़ दिया गया। इनमें से एक एडीएम के स्टेनो हैं। हो सकता है कि उन्हें कोतवाली लाया जाना नागवार गुजरा हो। इनका आपसी विवाद हैं। बीती रात भी यही हुआ था।
सुदेश कुमार सिंह, प्रभारी निरीक्षक, कोतवाली।

पूरनपुर में भी हुई निंदा
पूरनपुर। मिनिस्ट्रीयल कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ के मंडलीय मंत्री नवल सक्सेना की अध्यक्षता में हुई में एडीएम के पेशकार संग पुलिस अभद्रता की निंदा की गई। बैठक में दोषी पुलिसकर्मियों को निलंबित करने की मांग की गई। बैठक में नवल सक्सेना, सोहन लाल, राकेश कुमार, कैलाश राठौर, नसीम अहमद, दिनेश कुमार, रामपाल, प्रगति सिंह, दाताराम आदि कर्मचारी थे।

Spotlight

Most Read

Meerut

दो सगी बहनों से साढ़े चार साल तक गैंगरेप, घर लौट आई एक बेटी ने सुनाई आपबीती

दो बहनों का अपहरण कर तीन लोगों ने साढ़े चार वर्ष तक उनके साथ गैंगरेप किया। एक पीड़िता आरोपियों की चंगुल से निकल कर घर लौट आई। उसने परिवार को आपबीती सुनाई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper