ग्रामीण पर बाघ का हमला, लहूलुहान किया

Pilibhit Updated Tue, 12 Jun 2012 12:00 PM IST
पीलीभीत/पूरनपुर। बाग में सो रहे विकलांग छोटेलाल पर बाघ ने हमला कर लहूलुहान कर दिया। चीख पुकार और साथी के जागने पर बाघ टहलता हुआ झुकना पुल की ओर चला गया। घटना के बाद लोगों ने वन अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर हाइवे जाम कर दिया। करीब दो घंटे तक यातायात बाधित रहा। बाद में कोतवाली पुलिस के समझाने पर जाम खोला गया।
घटना रात करीब बारह बजे गांव कढ़ेरचौरा के रूपलाल के बाग की है। गांव के समीप इस बाग की 42 वर्षीय विकलांग छोटेलाल और 50 वर्षीय प्रभूदयाल रखवाली कर रहे थे। दोनों रात बाग में ही सो गए। इस दौरान छोटेलाल पर बाघ ने हमला कर दिया। जिससे वह घायल हो गए। बकौल छोटेलाल हमला करने पर उसने बाघ के दोनों पैर पकड़ लिए, लेकिन फिर भी बाघ ने उसके पैर, कंधे समेत कई जगह मुंह और नाखून मारकर लहूलुहान कर दिया। छोटेलाल के शोर-शराबा पर प्रभूदयाल की आंख खुली और बाघ देकर उसके होश उड़ गए, लेकिन हिम्मत जुटाकर उसने बाघ पर लाठी से वार किया। भारी शोर-शराबा पर बाघ ने छोटेलाल को छोड़कर पीछे हटकर चला गया।
प्रभूदयाल ने बताया कि बाघ कहीं फिर हमला न कर दे को लेकर उसने आग जलाई और एक डंडे में कपड़ा लपेटकर उसमें आग लगाकर किसी तरह घायल छोटेलाल को बाग से निकालकर गांव ले गया। गंभीर घायल छोटेलाल को सीएचसी में भर्ती कराया गया। सीएचसी के चिकित्सक अश्वनी और डॉ ठाकुरदास ने छोटेलाल का इलाज किया। चिकित्सकों ने बताया कि छोटेलाल के सिर पर हल्का नाखून लगने से चोट आई है। इधर, बाघ के हमले से क्षेत्र के लोगों में भारी दहशत है। उधर, सामाजिक वानिकी के रेंजर हसीब बेग ने बताया कि बाघ ने ग्रामीण को पंजा मारा है। बाघ के हमले की खबर भोर होते ही जंगल में आग की तरह फैल गई। बाग के समीप तमाम लोग एकत्र हुए। उत्तेजित लोगों ने हाइवे पर जाम लगाकर वन अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया।
आसाम हाइवे पर जाम की जानकारी पर पहुंचे इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह यादव ने प्रदर्शनकारियों को समझा-बुझा कर जाम खुलवा दिया।

बाक्स
छोटेलाल और प्रभूदयाल की दिलेरी से पीछे हटा बाघ
विकलांग छोटेलाल और उसके साथी प्रभूदयाल ने दिलेरी से काम न लिया होता तो बाघ पीछे नहीं हटता। बाघ के हमला दौरान छोटेलाल द्वारा उसका पंजा पकड़ने और प्रभूदयाल के लाठी मारने दोनों की हिम्मत की चर्चा यहां हर एक की जुबां पर है। लोग उनकी बहादुरी की प्रशंसा करते नहीं थक रहे हैं।

दहशत में जी रहे लोग
पूरनपुर। करीब छह माह से बाघ क्षेत्र में आतंक मचाए है। इससे लोगों का जीना दूभर है। किसान खेतों में जाने से कतरा रहे हैं। बच्चे बाघ की दहशत के चलते दिन में भी घरों में दुबके रहते है। शाम होते ही क्षेत्र में सन्नाटा पसर जाता है। लोग जागकर राते काट रहे हैं। बाघ को पकड़ने की कई बार अफसरों को पत्र देकर मांग की गई। प्रदर्शनकारियों का कहना था बाघ पकड़ने के नाम पर मात्र खाना-पूरी की जा रही है। कहना था कि अगर बाघ को पकड़ लिया जाता तब छोटेलाल लहूलुहान नहीं होता।
इंसेट:
राममूर्ति पर किया था बाघ ने हमला
करीब दो माह पहले गांव के राममूर्ति पर भी इसी बाघ ने हमला बोलकर पंजा मारा था। इससे बाघ को गांव से खदेड़ रहे लोगों में भगदड़ मच गई थी।

मुआवजा की करेंगे संस्तुति
सामाजिक वानिकी के रेंजर हसीब बेग ने बताया कि बाग में सो रहे छोटेलाल को बाघ ने पंजा मारा है। बाघ के हमले पर डाक्टरी रिपोर्ट के आधार पर मुआवजा का प्रावधान है। इसको लेकर अपनी रिपोर्ट अफसरों को भेज रहे है।

Spotlight

Most Read

Varanasi

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

22 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper