भीषण अग्निकांड में मासूम बच्ची की मौत

Pilibhit Updated Tue, 15 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
बीसलपुर। गांव डंडिया भगत में सोमवार को हुए भीषण अग्निकांड में एक अबोध बालिका की झुलसकर मौत हो गई, जबकि सात घरों में आग से लाखों की संपत्ति स्वाहा हो गई। प्रभारी तहसीलदार ने मृतक बालिका के पिता को डेढ़ लाख रुपये की सहायता राशि का चेक दिया है।
विज्ञापन

सोमवार को ग्राम डंडिया भगत निवासी राजेंद्र कुमार के घर के चूल्हे से उठी चिंगारी से आज दोपहर आग लग गई। उस समय हवा चल रही थी। परिजन आग पर काबू पाते कि उससे पहले ही आग ने उनके पड़ोसियों मंगली प्रसाद, नत्थू लाल, शांति स्वरूप, चंद्रकली, छदम्मी लाल, चिंताराम और रामपाल के छप्परपोश घरों को भी अपनी चपेट में ले लिया। परिजनों ने ग्रामीणों की मदद से पानी फेंककर आग पर काबू पाने का प्रयास किया, लेकिन सारे प्रयास विफल हो गए। सूचना पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने तत्काल मौके पर पहुंचकर बमुश्किल आग पर काबू पाया। आग में मंगली प्रसाद की एक वर्षीया इकलौती पुत्री की झुलसकर मौत हो गई। नत्थू लाल की भैंस गंभीर रूप से झुलस गई। आग में नकदी, कपड़े, छप्पर, जेवर, अनाज, लकड़ी, भूसा और बिस्तर समेत काफी घरेलू सामान जल गया है। आग से घरों में लगे बिजली के मीटर भी जल गए हैं। सूचना मिलने पर विद्युत कर्मचारियों ने गांव की विद्युत लाइन काट दी थी। इस अग्निकांड में नत्थू लाल, और राजेंद्र प्रसाद के घरों का भी सारा सामान जल गया है। सभी अग्नि पीड़ित खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हो गए। आग से पूरे गांव में हड़कंप मच गया। इस अग्निकांड में लगभग चार लाख की संपत्ति जलने का अनुमान है। इधर गांव मझिगवां निवासी मथुरा प्रसाद और भूपराम के घरों में रविवार की रात चूल्हे की चिंगारी से लगी आग में लगभग बीस हजार रुपए की संपत्ति जल गई थी। गृहस्वामी ने गांव वालों की मदद से पानी फेेंककर आग पर काबू पाया।
बिलसंडा। गांव मझिगवां निवासी मथुरा प्रसाद और भूपराम दोनों सगे भाई हैं और दोनों के मकान एक में ही मिले हैं। रविवार की रात करीब नौ बजे घर में जल रहे दीपक की लौ से किसी तरह छप्पर में आग लग गई और देखते देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया यह तो अच्छा हुआ कि घटना के दौरान गृह स्वामी के अलावा आस पास के लोग भी घरो में मौजूद थेे लिहाजा सभी आग बुझाने के लिए दौड़ पड़े। आग तो किसी तरह बुझा ली लेकिन इस घटना से दोनों के घरों में रखा गृहस्थी का सारा सामान जलकर राख हो गया। आग की विभीषिका में पशुशाला में बंधी एक गाय भी भेंट चढ़ गई। घटना की सूचना तहसील प्रशासन को दी गई जिसके बाद लेखपाल ने मौका मुआयना कर आज ही रिपोर्ट दे दी। उधर प्रधान महेन्द्र कुमार पाल ने प्रयास कर दोनों ग्रामीणों को तहसील प्रशासन से 1900-1900 रूपयों का चेक दिलवा दिया।
बाक्स
पीड़ितों को दी अहेतुक सहायता राशि
अग्निकांड की सूचना पर राजस्व अमले के साथ ग्राम डडिया भगत पहुंचे कार्यवाहक तहसीलदार खालिद अंजुम, नायब तहसीलदार सुदीप कुमार ने अग्निपीड़ितों को सहायता राशि वितरित की। उन्होंने आग की चपेट में आकर कालकवलित हुई बालिका के पिता मंगलीप्रसाद को डेढ़ लाख रुपये की चेक प्रदान की। इसके अलावा अन्य पीड़ितों को ढाई-ढाई हजार रुपये की सहायता राशि के चेक दिए।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us