गेहूं खरीद नहीं, कागजों में लक्ष्य पूरा

Pilibhit Updated Sat, 12 May 2012 12:00 PM IST
डीएम दफ्तर पहुंचे बड़ी संख्या में किसान, बताई समस्याएं
क्रय केंद्र के ठेकदार ने छोड़ा ठेका, कमीशन एजेंट के रूप में की खरीद
पीलीभीत। जिले में वारदाना के अभाव और अन्य कारणों से गेहूं की खरीद नहीं हो रही है, लेकिन कागजों में लक्ष्य पूरा दिखाया जा रहा है। परेशान किसानों ने शुक्रवार को डीएम और डिप्टी आरएमओ से मिलकर समस्या से अवगत कराया। मामले को गंभीरता से लेते हुए डीएम ने नायब तहसीलदार बीसलपुर की तैनाती खरीद केंद्र पर कर दी है। इसके बाद भी समस्या न सुधरने पर एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं।
बिलसंडा में एनसीसीएफ के गेहूं क्रय केंद्र पर आसपास के गांवों के स्वर्ण सिंह, जगदीश सिंह, बाज सिंह, जसवंत सिंह, गुरमेज सिंह, दर्शन सिंह सहित काफी किसान बीते पांच दिन से गेहूं लिए खड़े थे। आरोप है कि केंद्र प्रभारी ने बारदाना न होने का बहाना कर गेहूं नहीं तोला। बिलसडां क्षेत्र के ही गांव गौहनिया में लगे आरएफसी के केंद्र पर यह लोग गेहूं लेकर गए तो ठेकेदार पंकज जायसवाल ने अपने सहायक सुनील कुमार को बीमार बताकर गेहूं तोलने से इंकार कर दिया। किसान अपना गेहूं लिए लिए इधर से उधर दौड़ रह हैं लेकिन खरीद नहीं की जा रही है। इसे लेकर शुक्रवार को गुरमेल सिंह, बख्शीश सिंह, बंता सिंह, सुखदेव सिंह, हीरा सिंह, अमरजीत सिंह व दर्शन सिंह ने डीएम राजशेखर और डिप्टी आरएमओ विनोद कुमार त्रिपाठी से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में समस्याओं का उल्लेख करते हुए कहा गया है कि गौहनिया के आरएफसी क्रय केन्द्र के ठेकेदार व सहायक ने बीमारी का बहाना बनाकर ठेका छोड़ दिया और कमीशन एजेंट के रूप में गांव मझगवां में 3500 क्विंटल गेहूं खरीद कागजों में दर्शा दी। इस प्रकरण की शिकायत एसडीएम बीसलपुर से भी की गई।
एसडीएम ने मौके पर जाकर तमाम खामियां पकड़ीं।
ज्ञापन में किसानों को परेशान होने से बचाने का आग्रह किया गया है। इधर, डीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए नायब तहसीलदार बीसलपुर की तैनाती गेहूं क्रय केंद्र पर करने के आदेश दिए हैं। साथ ही यह भी कहा है कि हालात में सुधार न होने पर दोषियों के विरुद्ध एफआईआर कराई जाए।

व्यवस्था बदलने को सौंपा ज्ञापन
पूरनपुर के किसानों ने डीएम को ज्ञापन सौंप कर कहा है कि पीलीभीत मंडी समिति में अन्य तहसील क्षेत्रों के गेहूं खरीद पर रोक लगा दी गई है। इस मंडी में सबसे अधिक गेहूं खरीद केंद्र हैं। अन्य मंडी समितियों में गेहूं बेचने पर किसानों को दिक्कतें हो रही हैं।
ज्ञापन में अन्य तहसील क्षेत्रों के लोगों को भी पीलीभीत मंडी में गेहूं बेचने की व्यवस्था कराने की मांग की गई है। ज्ञापन सौंपने वालों में सुखवीर सिंह, अमरीक सिंह, निर्मल सिंह, जगतार सिंह, पलविंदर सिंह, गुरप्रीत सिंह, लवप्रीत सिंह, गुरदीप सिंह, मनजीत सिंह, दलजीत सिंह, बलवीर सिंह, आत्माराम, चरनजीत, ओम प्रकाश और मोहम्मद नबी थे।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाले में लालू की नई मुसीबत, चाईबासा कोषागार मामले में आज आएगा फैसला

चारा घोटाला मामले में रांची की स्पेशल सीबीआई कोर्ट बुधवार को सुनवाई करेगी। स्पेशल कोर्ट जज एस एस प्रसाद इस मामले में फैसला देंगे।

24 जनवरी 2018

Related Videos

पीलीभीत पुलिस को हाथ लगी बड़ी सफलता, धर दबोचा ये शातिर गैंग

यूपी के पीलीभीत में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पीलीभीत पुलिस ने कई राज्यों में वाहन चोरी को अंजाम दे रहे एक बड़े गैंग का धर दबोचा है। देखिए ये रिपोर्ट।

11 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper