गांवों के मौसम का हाल भी जान सकेंगे

Noida Updated Sat, 08 Dec 2012 05:30 AM IST
नोएडा। वर्ष 2013 में जून तक सेक्टर-62 स्थित राष्ट्रीय मध्यम अवधि मौसम पूर्वानुमान केंद्र के अलावा देशभर के तीन अन्य केंद्रों में हाई रेजोल्यूशन कपल मॉडल कार्य करने लगेगा। देश में पहली बार वातावरण के साथ-साथ समुद्र का भी थ्री डायमेंशन डाटा यह सुपर परफॉरमेंस कंप्यूटर एकत्र करेगा। इसका फायदा यह होगा कि छोटे-छोटे दायरे (प्रत्येक 10 किलोमीटर) में मौसम में होने वाले बदलाव का आकलन मौसम विभाग मिनटों में कर सकेगा। देशभर में मौसम विभाग मौजूदा स्थिति से करीब 8 गुना अधिक सटीक पूर्वानुमान कर सकेगा। फिर वह देश के किसी कोने में स्थित गांव या कस्बा क्यों न हो। प्रत्येक 10 से 12 किमी अंतराल में मौसम का हाल मिल सकेगा।
एनसीएमआरडब्ल्यूएफ की निदेशक डॉ. स्वाति बसु ने बताया कि एनसीएमआरडब्ल्यूएफ नोएडा, आईएमडी दिल्ली, इनक्वोइस हैदराबाद और आईएमडी पूणे स्थित केंद्रों में (प्रत्येक 220) कुल 880 टेराफ्लॉप क्षमता के हाई परफॉरमेंस ‘सुपर’ कंप्यूटर कार्य करेंगे। अभी कुल 110 टेराफ्लॉप क्षमता के हाई परफॉरमेंस कंप्यूटर लगे हैं। हाई परफॉरमेंस कंप्यूटर से जो कार्य 1 घंटे में होता था। वहीं कार्य अब 5 से 7 मिनट में हो सकेगा। इससे जल्दी डाटा एकत्र होगा और पूर्वानुमान भी जल्द लोगों तक पहुंच सकता है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देखिए, कैसे 'राम भरोसे' आपकी रखवाली करते हैं यूपी के ये पहरेदार

जिनके भरोसे आप अपना घर छोड़ते हैं। जिनके भरोसे बड़ी-बड़ी कंपनियां होती हैं। जो दिन-रात एटीएम के बाहर लाखों रुपए की सुरक्षा करते हैं। वो खुद कितने सुरक्षित हैं। आइए इस पड़ताल में हमारे साथ और देखिए सेक्युरिटी गार्ड्स की सुरक्षा की इनसाइड स्टोरी।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls